लाइव टीवी

कोटखाई दुष्कर्म-मर्डर केस: प्रक्रिया के तहत निलंबन वापस लिया: CM जयराम

Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: November 26, 2019, 10:27 AM IST
कोटखाई दुष्कर्म-मर्डर केस: प्रक्रिया के तहत निलंबन वापस लिया: CM जयराम
जयराम ठाकुर, सीएम, हिमाचल प्रदेश.

Shimla-Kotkhai Rape and Murder Case: गौरतलब है कि 4 जुलाई 2017 को शिमला से 60 किमी दूर कोटखाई (Kotkhai) की छात्रा स्कूल (School Girl) से लौटते वक्त लापता हो गई. 6 जुलाई को कोटखाई के दादी जंगल में बिना कपड़ों के उसकी लाश मिली थी. छात्रा की दुष्कर्म (Rape) के बाद हत्या कर दी गई थी.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के शिमला (Shimla) के कोटखाई के बहुचर्चित गुड़िया दुष्कर्म मामले (Kotkhai Gudia Rape And Murder Case) में फोरेसिंग लैब की रिपोर्ट ने जांच में नया मोड़ ला दिया है. अब तक एक व्यक्ति पर ही शक की सूई टिकी थी और उसे गिरफ्तार भी किया गया था, लेकिन फोरेसिंग जांच (Forensic Lab) में यह बात सामने आई है कि गुड़िया के साथ दुष्कर्म (Rape) एक नहीं, बल्कि एक से ज्यादा लोगों ने किया था. बहरहाल, यह मामला एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है.

जल्दबाजी में कुछ भी कहना उचित नहीं- सीएम
पूरे मामले पर सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने कहा कि सीबीआई (CBI) जांच के दौरान इस बात का संतोष था कि आरोपी पकड़ में आ गया है. लेकिन जो नई डवेलपमेंट हुई है उसके बारे में वह अध्ययन करने के बाद ही कुछ कह पाएंगे. जल्दबाजी में कुछ भी कहना उचित नहीं है. मामला गंभीर और संवेदनशील है, इसलिए वे पूरे तथ्य जानने के बाद ही कुछ कहने की स्थिति में होंगे.

पुलिस कर्मियों के निलंबन पर यह बोले सीएम

सीएम ने कहा कि सरकार बनने के बाद सीबीआई जांच में पूरा सहयोग दिया गया. सहयोग के बाद ही अंजाम तक कई चीजें पहुंची हैं. वहीं, इसी मामले से जुड़े सूरज लाकअप हत्याकांड़ मामले में जमानत पर चल रहे तीन पुलिस अधिकारियों को निलंबन सरकार ने वापस लिया है. अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह ने आदेश जारी करते हुए आईपीएस अधिकारी जहूर एच जैदी, पूर्व एसपी डी डब्ल्यू नेगी और तत्कालीन डीएसपी मनोज जोशी के निलंबन को वापस लिया है. सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि तीनों को कोर्ट से जमानत मिली है. ऐसे में एक प्रक्रिया के तहत ही उनकी बहाली गई है. इससे न्याय प्रक्रिया में कोई असर नहीं पड़ेगा। सारा मामला अब कोर्ट में चल रहा है.

ये है पूरा मामला
गौरतलब है कि 4 जुलाई 2017 को शिमला से 60 किमी दूर कोटखाई की छात्रा स्कूल से लौटते वक्त लापता हो गई. 6 जुलाई को कोटखाई के दादी जंगल में बिना कपड़ों के उसकी लाश मिली थी. छात्रा की दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई थी. मामले में छह आरोपी पकड़े गए थे. इनमें राजेंद्र सिंह उर्फ राजू, हलाइला गांव, सुभाष बिस्ट (42) गढ़वाल, सूरज सिंह (29) और लोकजन उर्फ छोटू (19) नेपाल और दीपक (38) पौड़ी गढ़वाल के कोटद्वार शामिल थे. इनमें से सूरज की कोटखाई थाने में 18 जुलाई 2017 की रात को हत्या कर दी गई थी. सीबीआई ने इन दोनों मामलों में अलग-अलग केस दर्ज किया है. नौ पुलिस कर्मियों को भी सूरज हत्याकांड में गिरफ्तार किया गया था.
Loading...

ये भी पढ़ें: कोटखाई दुष्कर्म-मर्डर: IG जैदी, SP नेगी और DSP जोशी सस्पेंशन का रद्द, हुए बहाल

कोटखाई गैंगरेप-मर्डर: फोरेंसिक एक्सपर्ट के बयान के बाद फिर घेरे में CBI जांच

हिमाचल हाईकोर्ट पहुंचा पटवारी भर्ती की लिखित परीक्षा का मामला

PHOTOS: ‘ब्रह्मास्त्र’ के लिए ‘नागिन’ के साथ मनाली पहुंचे रणबीर-आलिया भट्ट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 26, 2019, 10:18 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...