जितिन प्रसाद के पार्टी छोड़ने पर बोले कांग्रेस MLA विक्रमादित्य सिंह- BJP शहज़ादों को गले लगा रही है

पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के बेटे और कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह.

पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के बेटे और कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह.

विक्रमादित्य सिंह हिमाचल प्रदेश के छह बार के सीएम रहे वीरभद्र सिंह के बेटे हैं. वंशवाद पर सवाल उठाने वाले विक्रमादित्य सिंह को खुद राजनीति विरासत में मिली है. उनके पिता ने 2017 के विधानसभा चुनाव में अपनी सीट शिमला (ग्रामीण) से उन्हें उतारा था और वह चुनाव जीते थे.

  • Share this:

शिमला. उत्तर प्रदेश से कांग्रेस के नेता और मनमोहन सरकार में मंत्री रहे जितिन प्रसाद (Jatin Prashad) ने मंगलवार को ‘हाथ’ का साथ छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया. कांग्रेस के नेताओं के भाजपा में शामिल होने से हर कोई हैरान है. इससे पहले मध्य प्रदेश के ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी कांग्रेस को छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया था. कांग्रेस (Congress) विधायक और हिमाचल के पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह (Vikramaditya Singh) ने भाजपा पर निशाना साधा है. विक्रमादित्य सिंह ने दोनों नेताओं के भाजपा में जाने पर सवाल पूछा है.

सोशल मीडिया पर विक्रमादित्य सिंह ने लिखा, 'वैसे तो जन्म का स्थान और मृत्यु का समय हमारे हाथ में नहीं होता. उन्हें ईश्वर ही तय करते हैं. हम हमेशा 'कर्म' को ज़्यादा महत्व देते हैं जो मनुष्य के जीवन को बनाता है या बिगाड़ता है, वह चाहे किसी भी परिवार में क्‍यों ने जन्‍म लिया हो. हैरानी तो इस बात की होती हैं कि भाजपा के कुछ साथी, जो हमें वंशवाद की नसीहत देते थकते नहीं हैं, आज ऐसे ही दो नेताओं का अपने दल में ढोल-धमाके से स्वागत कर रहे हैं और तीसरे का इंतज़ार. ये इसी तथा कथित वंशवाद की पैदाइश हैं.' विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि अब कहां गए आपके संगठन के सिद्धांत? 'पार्टी विद डिफ़रेंस' वाली भाजपा शाहज़ादों को गले लगा रही है? ऐसी दोगली राजनीति क्‍यों?

विक्रमादित्य सिंह को विरासत में मिली है राजनीति

विक्रमादित्य सिंह हिमाचल प्रदेश के छह बार के सीएम रहे वीरभद्र सिंह के बेटे हैं. वंशवाद पर सवाल उठाने वाले विक्रमादित्य सिंह को खुद राजनीति विरासत में मिली है. उनके पिता ने 2017 के विधानसभा चुनाव में अपनी सीट शिमला ग्रामीण से उन्हें उतारा था और वह चुनाव जीते थे. विक्रमादित्य सिंह पहली बार विधायक बने हैं. मौजूदा समय में वह अपनी राय लगातार सोशल मीडिय पर रखते रहते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज