लोकसभा चुनाव 2019 में हिमाचल कांग्रेस की करारी हार पर रिपोर्ट तलब

गौरतलब है कि 2014 में लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस को चारों सीटें हिमाचल में गंवानी पड़ी थी. इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ है, लेकिन अहम बात यह है कि इस बार भाजपा की जीत का मार्जन साढ़े तीन लाख से अधिक वोट रहा है.

News18 Himachal Pradesh
Updated: May 27, 2019, 5:17 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019 में हिमाचल कांग्रेस की करारी हार पर रिपोर्ट तलब
सांकेतिक तस्वीर.
News18 Himachal Pradesh
Updated: May 27, 2019, 5:17 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019 में हिमाचल में भाजपा को मिली अप्रत्याशित जीत ने कांग्रेस पार्टी को एक बार नए सिरे से आत्ममंथन करने को मजबूर कर दिया है. प्रदेश में कांग्रेस पार्टी का दूसरी बार चारों सीटों पर सूपड़ा साफ हो गया है.

प्रदेश कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने हार को लेकर चारों प्रत्याशियों से रिपोर्ट तलब की है. कुलदीप राठौर ने पूछा कि कांग्रेस प्रत्याशियों को हार के कारण की क्या वजह लगती है.



वहीं, शिमला ग्रामीण से कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने भी माना कि पीएम मोदी अप्रत्याशित जीत मिली है. शायद भाजपा को भी इस जीत का इल्म तक नहीं था.

पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह ने पार्टी हाईकमान को सुझाव दिया कि अब वक्त आ चुका है, जब सभी एक साथ बैठकर आत्ममंथन करना होगा कि आखिर कमी कहां रही है? किन कारणों से पार्टी को ऐसी हार का मुंह देखना पड़ा.

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि पीएम मोदी का राष्ट्रवाद और सर्जिकल स्ट्राइक चुनाव में अहम मुददे रहे. लेकिन कांग्रेस की चुनाव तैयारियों में कहीं न कहीं खामी रही है, जिस कारण यह हार मिली.

गौरतलब है कि 2014 में लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस को चारों सीटें हिमाचल में गंवानी पड़ी थी. इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ है, लेकिन अहम बात यह है कि इस बार भाजपा की जीत का मार्जन साढ़े तीन लाख से अधिक वोट रहा है.

ये भी पढ़ें: BREAKING: 300 मी. नीचे खाई में गिरी पिकअप, दो युवकों की मौत
Loading...

हिमाचल के मनाली में युवती की हत्या, चेहरा पत्थरों से कुचला

रात को चार बहनें कमरे में सोई थी, सुबह एक फंदे पर लटकी मिली

सड़क पर फेसबुक की लड़ाई, पूर्व कांग्रेस CPS-BJP वर्कर भिड़े

पूर्व CM वीरभद्र ने बताया कांग्रेस की हार का ये कारण

पिता ने दो मासूम बच्चियों को झील में फेंका, युवक बना फरिश्ता
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...