लाइव टीवी

हिमाचल कांग्रेस की कार्यकारिणी भंग: वीरभद्र बोले- 6 साल से मेरी बात की होती रही अनदेखी

G.S. Tomar | News18 Himachal Pradesh
Updated: November 21, 2019, 6:56 PM IST
हिमाचल कांग्रेस की कार्यकारिणी भंग: वीरभद्र बोले- 6 साल से मेरी बात की होती रही अनदेखी
वीरभद्र सिंह, पूर्व सीएम और हिमाचल कांग्रेस नेता.

कांग्रेस के दिग्गज नेता वीरभद्र सिंह (Virbhadra Singh ) ने कहा कि जो बीत गया सो चला गया. अब प्रदेश और देश में कांग्रेस (Congress) पार्टी को मजबूत करने की बड़ी चुनौती है. प्रदेश में अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर (Kuldeep Singh Rathore) के कंधों पर बहुत बड़ी जिम्मेदारी है.

  • Share this:
शिमला. छह बार हिमाचल (Himachal Pradesh) के सीएम रहे और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह (Virbhadra Singh) ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से प्रदेश कांग्रेस कार्यकारिणी (Congress Working Committee) को तत्काल प्रभाव से भंग करने के निर्णय को उचित ठहराया है. उन्होंने कहा है कि यह फैसला सही समय पर लिया है. उन्होंने इस फैसले के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) का आभार व्यक्त किया है.

यह बोले पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह
कांग्रेस आलाकमान के इस फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए वीरभद्र सिंह ने कहा कि वह पहले से ही इस बात पर जोर देते रहे है कि पार्टी में पदाधिकारी वह होना चाहिए, जो आम लोगों के बीच अपना कुछ महत्व भी रखता हो. उन्होंने कहा कि जंबो कार्यकारिणी बनाने से कुछ नहीं होता है. कार्यकारिणी में अपना-पराने नहीं केवल निष्ठावान कार्यकर्ताओं को महत्व दिया जाना चाहिए.

छह से बात कर रहा था, अनदेखी की- वीरभद्र

वीरभद्र सिंह ने कहा कि पिछले 6 साल में वह प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की मजबूती के लिए प्रदेश कार्यकारिणी को सही करने की बात करते रहे. समय रहते उनकी इस बात को अनदेखा किया गया. यही कारण रहा कि प्रदेश में कांग्रेस कमजोर होती चली गई.

अब कांग्रेस पार्टी को मजबूत करना बड़ी चुनौती
वीरभद्र सिंह ने कहा कि जो बीत गया सो चला गया. अब प्रदेश और देश में कांग्रेस पार्टी को मजबूत करने की बड़ी चुनौती है. प्रदेश में अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर के कंधों पर बहुत बड़ी जिम्मेदारी है. पिछले लगभग एक वर्ष से जिस प्रकार वह प्रदेश में कांग्रेस की मजबूती के लिये कार्य कर रहें है, वह तारीफ योग्य है. अब उन्हें नई कार्यकारिणी बनाने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है, उन्हें भी उनकी सलाह रहेगी कि वह निष्ठावान व कर्मठ कार्यकर्ताओं को आगे लाने का पूरा प्रयास करें. अब जमाना नई शक्ति का है, इसलिए नए ऊर्जावान युवाओं को आगे लाने का है. प्रदेश कार्यकारिणी जल्द छोटी और संतुलित बनाई जानी चाहिए, जिससे प्रदेश में कांग्रेस पूरी तरह पुनर्जीवित हो सके.
Loading...

पंचायत चुनाव से शुरूआत
वीरभद्र सिंह ने कहा कि जल्द ही प्रदेश में ग्राम पंचायतों के चुनाव होने वाले है. इन चुनावों में हमें कांग्रेस पार्टी से जुड़े लोगों को आगे लाना होगा. उन्होंने कहा कि हाल ही में कांग्रेस के प्रदेशव्यापी आंदोलन के दौरान, जो जनसमर्थन पार्टी को मिला है, उससे साफ है कि लोग कांग्रेस की राह देख रहे है. गौरतलब है कि 20 नवंबर को कांग्रेस हाईकमान हिमाचल प्रदेश की राज्य कार्यकारिणी समेत तमाम कमेटियां भंग कर दी थी. केवल प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर की ही कुर्सी बच पाई है.

ये भी पढ़ें: कैबिनेट विस्तार की चर्चाओं के बीच PM मोदी से मिले CM जयराम, ये चर्चा हुई

हिमाचल में मौसम: शिमला में बादल छाए, 3 दिन तक बारिश और बर्फबारी की संभावना

बुजुर्ग की संदिग्ध मौत: आनन-फानन में अंतिम संस्कार की तैयारी, पहुंची पुलिस

शिमला: कूड़ा उठाने वाले 3 नाबालिग निकले चोर, 7 लाख के गहने, 42 हजार कैश बरामद

हिमाचल के मंडी इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण को केंद्र सरकार ने दी मंजूरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 3:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...