लाइव टीवी

COVID-19: हिमाचल में कोरोना पॉजिटिव की दूसरी रिपोर्ट भी नगेटिव, 29 सैंपल जांचे, सभी नेगेटिव
Shimla News in Hindi

News18 Madhya Pradesh
Updated: March 29, 2020, 10:28 AM IST
COVID-19: हिमाचल में कोरोना पॉजिटिव की दूसरी रिपोर्ट भी नगेटिव, 29 सैंपल जांचे, सभी नेगेटिव
ईरान में अफवाह को सच मानकर 5000 लोगों ने पीया मेथेनॉल

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश के किसी व्यक्ति ने अगर बाहरी राज्य से प्रवेश किया है तो उसकी पहचान कर 14 दिनों तक निगरानी में रखा जाए.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने कोरोना (Corona Virus) महामारी के संक्रमण के कारण प्रदेश में कर्फ्यू के दृष्टिगत स्थिति का जायजा लिया. उन्होंने शनिवार को वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग से सभी जिलों के उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों से बातचीत की. उन्होंने अधिकारियों को यह सुनिश्चित बनाने के निर्देश दिए कि प्रदेशवासियों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो और कर्फ्यू (Curfew) में छूट के दौरान उन्हें पर्याप्त मात्रा में आवश्यक वस्तुएं उपलब्ध करवाई जाएं.

शिमला और कांगड़ा में जांच
मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी तक प्रदेश में विदेश से 2409 लोग आए हैं, जिनमें से 724 लोगों ने 28 दिनों की आवश्यक निगरानी अवधि पूरी कर ली है. उन्होंने कहा कि शनिवार को टांडा में 24 और आईजीएमसी शिमला में कोविड-19 के लिए पांच लोगों की जांच की गई और सभी 29 लोगों की जांच नेगेटिव पाई गई है. प्रदेश में अभी तक कोरोना वायरस के लिए 179 लोगों की जांच की जा चुकी है. उन्होंने कहा कि टांडा मेडिकल कॉलेज में दाखिल कोविड-19 पोजिटिव व्यक्ति की रिपोर्ट भी आज नेगेटिव पाई गई है. दूसरी बार युवक की रिपोर्ट नेगेटिव मिली है.

दूसरे राज्य से प्रवेश वालों की भी हो पहचान



जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश के किसी व्यक्ति ने अगर बाहरी राज्य से प्रवेश किया है तो उसकी पहचान कर 14 दिनों तक निगरानी में रखा जाए. उन्होंने कहा कि फसे हुए लोगों को उनकी मांग के अनुरूप राशन अथवा पका हुआ भोजन उपलब्ध करवाया जाए तथा शिविरों में सामाजिक दूरी का विशेष रूप से ध्यान रखा जाए.



टेलीमेडिसन हब स्थापित होगा
उन्होंने कहा कि लोगों की सुविधा के लिए राज्य राष्ट्रीय हेल्थ मिशन में टेलीमेडिसन हब स्थापित किया जा रहा है, जिसे राज्य के विभिन्न स्थानों में स्वास्थ्य एवं आरोग्य केंद्रों से जोड़ा जाएगा. यह केंद्र प्रतिदिन प्रातः 8 बजे से सांय 8 बजे से दो शिफ्टों में कार्य करेगा और मेडिसिन, पैडियाट्रिक्स और साईकैट्री की परामर्श सेवाएं प्रदान करेगा. उन्होंने कहा कि कोविड-19 वायरस के उपचार के लिए चिन्हित तीनों मेडिकल कॉलेजों में वेटिंलेंटरों की पर्याप्त उपलब्धता है. इसके अतिरिक्त प्रदेश के स्वास्थ्य संस्थानों में पर्याप्त मात्रा में निजी सुरक्षा उपकरण किट भी उपलब्ध है. मुख्य सचिव अनिल खाची ने उपायुक्तों को कोरोना महामारी के कारण हुए नुकसान का डाटा तैयार करने के निर्देश दिए हैं.

फार्मा उद्योगों को फरमान
उन्होंने उपायुक्तों को यह सुनिश्चित बनाने के भी निर्देश दिए कि फार्मा उद्योगों में दवा निर्माण का कार्य प्रभावित न हो और समाज के कमजोर वर्गों को भोजन व आश्रय प्रदान करने के लिए प्रबन्ध किए जाएं. उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को भोजन एवं आश्रय की सुविधा प्रदान करने के लिए स्कूल भवनों का उपयोग किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: कर्फ्यू के बीच तस्कर के घर शराब खरीदने वालों की भीड, तलाशी में मिले 25.83 लाख

मंडी में पड़ोसियों को आने लगी बदबू, घर जाकर देखा तो मिली लाश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 29, 2020, 10:27 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading