Home /News /himachal-pradesh /

हिमाचल: लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर शिमला में प्रदर्शन, यूथ कांग्रेस ने मारे गए किसानों को दी श्रद्धांजलि

हिमाचल: लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर शिमला में प्रदर्शन, यूथ कांग्रेस ने मारे गए किसानों को दी श्रद्धांजलि

उन्होंने कहा है कि करीब 1 साल से किसान तीन कृषि कानूनों को वापस करने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं.

उन्होंने कहा है कि करीब 1 साल से किसान तीन कृषि कानूनों को वापस करने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं.

अमरप्रीत लाली (Amarpreet Lali) ने लखीमपुर खीरी हिंसा की कड़ी निंदा की और दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग की. उन्होंने कहा कि जिस तरह से रविवार को किसानों को गाड़ियों के नीचे कुचला गया वह शर्मसार करने वाली घटना है.

शिमला. उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा (Lakhimpur Violence) के विरोध की आग अब हिमाचल प्रदेश में पहुंच गई है, जिसको लेकर पूरे प्रदेश में बवाल मच गया है. किसान संगठन और माकपा नेताओं ने सोमवार को शिमला के रिज मैदान और मॉल रोड पर धारा- 144 उल्लंघन कर धरना- प्रदर्शन (Protest) किया. वहीं, देर शाम भारतीय यूथ कांग्रेस (Youth Congress) ने भी हिंसा में मारे गए किसानों को महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष श्रद्धांजलि दी. यूथ कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव अमरप्रीत लाली के नेतृत्व में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता रिज मैदान पहुंचे, जहां उन्होंने कैंडल मार्च किया. उसके बाद यूथ कांग्रेस ने 2 मिनट का मौन रखकर हिंसा में मारे गए किसानों को श्रद्धांजलि दी.

इस मौके पर अमरप्रीत लाली ने लखीमपुर हिंसा की कड़ी निंदा की और दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग की. उन्होंने कहा कि जिस तरह से रविवार को किसानों को गाड़ियों के नीचे कुचला गया वह शर्मसार करने वाली घटना है. उन्होंने केंद्र सरकार और पीएम मोदी को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि पीएम मोदी के पास न तो किसानों की बातों को सुनने का समय है और न ही तीन कृषि कानून को वापस करने का वक्त. उन्होंने कहा कि जिस तरह से हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने किसानों को उकसाया है उसको देखते हुए उन पर भी मामला दर्ज होना चाहिए.

सत्ता से बाहर करने का आ गया है समय
अमरप्रीत लाली ने लखीमपुर की घटना पर कड़ी निंदा करते हुए कहा कि बीती रात कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और एक संसद को भी वहां पर जाने से रोका गया और उन्हें हिरासत में ले लिया, जिसकी कांग्रेस कड़ी निंदा करती है. उन्होंने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार और मोदी के तानाशाही रवैया के चलते किसानों के साथ अंग्रेजों जैसा बर्ताव किया जा रहा है. पहले जहां अंग्रेज भारतीयों को कुचलने का प्रयास करते थे उसी तरह मोदी सरकार भी अब किसानों की आवाज को दबाने का प्रयास कर रही है. जिसका नतीजा बीते कल हुई घटना है.

यूथ कांग्रेस देश भर में प्रदर्शन करेगा
उन्होंने कहा है कि करीब 1 साल से किसान तीन कृषि कानूनों को वापस करने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं. लेकिन केंद्र की सरकार के पास न तो उनकी बातों को सुनने का समय है और न ही तीन कृषि कानून को वापस करने का टाइम. अब वक्त आ गया है कि अंग्रेजों की तरह केंद्र की सरकार को भी सत्ता से बाहर भेज देना चाहिए जिसके लिए यूथ कांग्रेस देश भर में प्रदर्शन करेगा.

Tags: Congress, Himachal pradesh news, Kisan Andolan, Shimla News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर