हिमाचल: बागी नेता दयाल प्यारी ने BJP को कहा ‘जय राम जी’, कांग्रेस का हाथ थामा

दिल्ली में कांग्रेस में शामिल हुई दयाल प्यारी.

दिल्ली में कांग्रेस में शामिल हुई दयाल प्यारी.

Dayal Pyari Joins Congress: सिरमौर जिले के पच्छाद विधानसभा क्षेत्र को लेकर हुए उपचुनाव-2019 में दयाल प्यारी के भाजपा प्रत्याशी होने की प्रबल संभावना थी. लेकिन बाद में भाजपा ने उनके बजाया रीना कश्यप को टिकट दिया था. फिर दयाल प्यारी बागी हो गई थी और उन्होंने आजाद चुनाव लड़ा था.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश भाजपा (BJP) से बागी होकर सिरमौर जिले में पच्छाद से उपचुनाव लड़ने वाली दयाल प्यारी ने कांग्रेस (Congress) का दामन थाम लिया है. नई दिल्ली में पूर्व भाजपा नेत्री नेत्री दयाल प्यारी कांग्रेस में शामिल हुई हैं. इस दौरान हिमाचल प्रदेश कांग्रेस (Himachal Congress) के प्रभारी राजीव शुक्ला और चंडीगढ़ से पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता पवन बंसल ने उन्हें सदस्यता दिलाई है.

कौन है दयाल प्यारी

दयाल प्यारी सिरमौर जिले के पच्छाद की डीलमन पंचायत के कुजी गांव की रहने वाली हैं. वह लगातार तीन बार जिला परिषद की सदस्य रह चुकी हैं. दयाल प्यारी जब हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी, तब सिरमौर जिला परिषद की चेयररपर्सन भी रही थीं.

चुनाव में कट गया था टिकट
सिरमौर जिले के पच्छाद विधानसभा क्षेत्र को लेकर हुए उपचुनाव-2019 में दयाल प्यारी के भाजपा प्रत्याशी होने की प्रबल संभावना थी. लेकिन बाद में भाजपा ने उनके बजाया रीना कश्यप को टिकट दिया था. फिर दयाल प्यारी बागी हो गई थी और उन्होंने आजाद चुनाव लड़ा था. हालांकि, वह चुनाव जीत नहीं पाई थी, लेकिन वोट हासिल करने के मामले में तीसरे नंबर पर रही थी  और 11 हजार से ज्यादा वोट हासिल किए थे. भाजपा ने उन्हें पार्टी से निकाल दिया था.

पहले भी चर्चा में रही थी

लोकसभा चुनाव 2019 से पहले भी दयाल प्यारी चर्चा में रही थी. दरअसल, हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) का सिरमौर में एक कार्यक्रम था. कार्यक्रम के दौरान दयाल प्यारी के अलावा कुछ अन्य भाजपा नेता भी मंच पर मौजूद थे. इस दौरान एक भाजपा नेता ने उनके धक्का मारते हुए दूसरी तरफ धकेल दिया. इस घटना का वीडियो जमकर वायरल हुआ था. इसके बाद दयाल प्यारी ने एससी-एसटी एक्ट के तहत भाजपा नेता के खिलाफ मामला भी दर्ज करवाया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज