Home /News /himachal-pradesh /

हिमाचल: विधानसभा चुनावों से पहले जयराम सरकार ने कर्मचारियों के लिए खोला खजाना, खर्च होंगे 6000 करोड़, जानें 10 खास बातें

हिमाचल: विधानसभा चुनावों से पहले जयराम सरकार ने कर्मचारियों के लिए खोला खजाना, खर्च होंगे 6000 करोड़, जानें 10 खास बातें

हिमाचल प्रदेश में अगले साले विधानसभा चुनाव होने हैं.

हिमाचल प्रदेश में अगले साले विधानसभा चुनाव होने हैं.

Himachal News: हिमाचल प्रदेश की जयराम सरकार ने अगले साल विधानसभा चुनावों को देखते अपने कर्मचारियों के लिए खजाना खोल दिया है. इससे राज्‍य पर करीब 6000 करोड़ का भार पड़ेगा. वहीं, राज्‍य की राजधानी शिमला में शनिवार को हुई जेसीसी (JCC Meeting in Shimla) की बैठक में दो सौ से अधिक कर्मचारी और नेता जुटे. इसके अलावा करीब 50 अधिकारी भी शामिल हुए थे.

अधिक पढ़ें ...

    शिमला. हिमाचल प्रदेश में अगले साले विधानसभा चुनाव होने हैं. इससे पहले जयराम सरकार ने कर्मचारियों के लिए खजाना खोल दिया है. हिमाचल सरकार (Himachal Government) ने शनिवार को 1 जनवरी 2016 से अपने कर्मचारियों के लिए छठे वेतन आयोग (6th Pay Commission) के अनुसार नए वेतनमान की घोषणा की है. जबकि कर्मचारियों को जनवरी 2022 का फरवरी में संशोधित वेतनमान मिलेगा. इससे राज्‍य पर करीब 6000 करोड़ का भार पड़ेगा. हालांकि हिमाचल की अर्थव्यवस्था पटरी पर नहीं चल रही है और सरकार करीब 62 हजार करोड़ रुपये से अधिक के कर्ज में डूबी है.

    बहरहाल, सीएम जयराम ठाकुर ने कर्मचारियों और पेंशनरों के हिस्से का बजट बढ़ाकर वोट बैंक साधने की दिलेरी दिखाई है. जबकि कांग्रेस का कहना है कि भाजपा ने मंडी लोकसभा सीट और तीन विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में हार के बाद यह कदम उठाया है. वहीं, राज्‍य सरकार ने आउटसोर्स कर्मचारियों के लिए भी कमेटी बनाई गई है. अनुबंध काल तीन से दो वर्ष करने की घोषणा की है. इसके अलावा एनपीएस कर्मचारियों को 15 मई 2003 से इनवेलिड व फेमिली पेंशन देने की घोषणा की है. इसके लिए 250 करोड़ का बजट खर्च होगा.

    सीएम जयराम ठाकुर ने कही ये बात
    इसके अलावा सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में मुश्किल हालात में कर्मचारियों की जो मदद की जा सकती है, वह कर रहे हैं. प्रतिशोध और बदले की भावना से हमने कभी भी काम नहीं किया और सत्ता में आते ही यह कहा था कि हम बदले की भावना से काम नहीं करेंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि इन नए वेतनमानों और संशोधित पेंशन से राज्य के खजाने पर सालाना 6000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा.

    जेसीसी की बैठक में दो सौ से अधिक कर्मचारी नेता जुटे. इसके अलावा करीब 50 अधिकारी भी शामिल हुए थे.
    छठे वेतन आयोग के जारी होने के बाद कर्मचारियों और पेंशनर्स के लिए लगभग 50 फीसदी बजट खर्च होगा. इससे पहले राज्य में कुल बजट का 42 प्रतिशत हिस्सा ही खर्च होता था. राज्य के कुल बजट में कर्मचारियों व पेंशनर्स की हिस्सेदारी में 8 प्रतिशत इजाफा होगा.
    जेसीसी के फैसले का हिमाचल के करीब पौने तीन लाख कर्मचारियों का फायदा मिलेगा.
    एनपीएस कर्मचारियों को अन्य पेंशन लाभ में निवेश की छूट दी है और विभाग में 27 हजार पदों को भरने की अनुमति दी है.
    1 जनवरी 2016 से नए वेतनमान देंगे, जोकि वर्ष 2022 के फरवरी से देय होगा. प्रदेश के पेंशनरों को भी 6 हजार अतिरिक्त मिलेगा. जबकि सुपरिंटेंडेट ग्रेड-वन के लिए सरकार विचार करेगी.
    सरकार ने अनुबंध कर्मचारियों की नियमितीकरण की अवधि तीन से घटाकर दो साल की.
    दैनिक वेतन भोगी को रेगुलर करने के लिए एक साल कम किया. मेडिकल बिलों के भुगतान के लिए 10 करोड़ बजट जारी होगा.
    पंजाब सरकार अपने कर्मचारियों को छठे वेतन आयोग की सिफारिशें लागू कर चुकी है. हिमाचल वेतनमान के मामले में पंजाब से जुड़ा है. हिमाचल का अपना अलग वेतन आयोग नहीं है. केंद्र अपने कर्मचारियों को 1 जनवरी 2016 से सातवां वेतनमान दे चुका है.
    कर्मचारियों की अन्य मांगों पर विचार करने के लिए एक कमेटी बनेगी और अन्य मसलों पर भी सरकार गंभीरता से विचार करेगी.
    करुणामूलक आधार पर नौकरी के मसलों को सुलझाने के लिए पहले ही मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित की है. उसकी रिपोर्ट अगली कैबिनेट में जाएगी.
    जनजातीय कर्मचारियों को लाभ देने पर विचार करेंगे. जनजातीय क्षेत्रों में दिहाड़ीदारों को जनजातीय भत्ते देने पर भी विचार करेंगे.
    स्टेनो टाइपिस्ट को 10 से सात साल में रेगुलर करने को आरएंडपी रूल में संशोधन करेंगे.
    राज्य सरकार के कर्मचारियों को केंद्र सरकार के 5 मई, 2009 के कार्यालय ज्ञापन के अनुसार, सीएम ठाकुर ने 15 मई 2003 से प्रभावी नई पेंशन प्रणाली के कार्यान्वयन की भी घोषणा की. इससे राज्य के खजाने पर लगभग 250 करोड़ का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा.
    जेसीसी मीटिंग में आउटसोर्स कर्मचारियों को लेकर कोई घोषणा नहीं की है.

    Tags: 7th pay commission, CM Jairam Thakur, Himachal Government, Himachal news, Himachal pradesh news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर