हिमाचल सरकार का फैसला:15 साल पुराने स्कूल वाहनों पर लगेगा बैन

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर कुल्लू हादसे के घायलों का हाल जानने कुल्लू अस्पताल पहुंचे. सीएम ने बताया कि हादसे की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं. साथ ही घायलों और मृतक आश्रितों को सरकार की तरफ से पूरी सहायता दी जाएगी.

News18 Himachal Pradesh
Updated: June 21, 2019, 6:27 PM IST
हिमाचल सरकार का फैसला:15 साल पुराने स्कूल वाहनों पर लगेगा बैन
कुल्लू बस हादसा.
News18 Himachal Pradesh
Updated: June 21, 2019, 6:27 PM IST
हिमाचल प्रदेश में 15 साल पुराने स्कूल वाहनों पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाया जाएगा. कुल्लू के बंजार में गुरुवार को हुए निजी बस हादसे के बाद शुक्रवार को शिमला में रोड सेफ्टी को मीटिंग की. रोड सेफ्टी को लेकर हुई हाई लेवल मीटिंग सीएम जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में शिमला में हुई है. मीटिंग में परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर के अलावा, डीजीपी हिमाचल भी मौजूद रहे हैं.

ये फैसले हुए
मीटिंग में फैसला हुआ है कि सूबे में ब्लैक स्पॉट चिन्हित करने के लिये विशेष  अभियान अभियान चलेगा. सड़क निर्माण पूर्ण होने के बाद लोक निर्माण विभाग को ब्लैक स्पॉट की रिपोर्ट देनी होगी. जब तक ब्लैक स्पॉट ठीक नहीं होंगे, तब तक सड़क को सरकार की ओर से पास नहीं किया जाएगा. इस संबंध में रोड सेफ्टी ऑडिटर की रिपोर्ट के बाद ही लोक निर्माण विभाग सड़क को पास करेगा.  इसके अलावा, मीटिंग में तय हुआ है कि ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के नियम भी सख्त किए गए हैं. मीटिंग में सबसे अहम फैसला स्कूल वाहनों को लेकर लिया गया है. 15 साल से पुराने स्कूल वाहनों पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया जाएगा. बीते दो साल में सिरमौर और कांगड़ा के नुरपुर में स्कूल बसें हादसे की शिकार हुई हैं.

सीएम पहुंचे अस्पताल

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर कुल्लू हादसे के घायलों का हाल जानने कुल्लू अस्पताल पहुंचे. सीएम ने बताया कि हादसे की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं. साथ ही घायलों और मृतक आश्रितों को सरकार की तरफ से पूरी सहायता दी जाएगी. साथ ही उन्होंने हादसे पर दुख जताते हुए कहा कि हादसे में मारे गए लोगों के परिवार के साथ वे हमेशा खड़े हैं और उनकी हर संभव मदद करने के लिए उनकी सरकार तत्पर है. भविष्य में ऐसे हादसे न दोहराए जाएं इसका भी पूरा ध्यान रखा जाएगा और इसके लिए कदम उठाए जाएंगे. सीएम ने इस बात से इनकार किया कि जिस जगह पर हादसा हुआ वहां पर सड़क के हाल खराब थे. उन्होंने कहा कि हादसा जहां हुआ, वहां सड़क सही थी. शुरुआती जांच में यह मामला ओवरलोडिंग का लग रहा है. बाकि जांच के बाद ही स्थिति साफ होगी.

ये है मामला
हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में गुरुवार शाम को बस खाई में गिर गई थी. हादसे में 44 लोगों की मौत हो गई थी, वहीं 35 लोग घायल हुए थे. यह बस कुल्लू से गड़ागुसैणी जा रही थी. इसी दौरान बंजार से एक किमी. आगे एक मोड़ के पास बस अनियंत्रित हो गई और नदी में जा गिरी. बताया जा रहा है कि 42 सीटर बस में 80 से ज्यादा लोग सवार थे और कुछ लोग बस की छत पर भी बैठे हुए थे.
Loading...

ये भी पढ़ें: कुल्लू के दर्दनाक बस हादसे से ऐन पहले मोड़ पर गेट खुला और...

कुल्लू बस हादसाः घायलों का जायजा लेने अस्पताल पहुंचे CM

हिमाचल में 5 साल में हुए ये 10 बड़े सड़क हादसे, 300 मौतें

चालान पर पुलिस से उलझे युवक-युवती, खुद को बताया DSP की बेटी

इस बार किन्नर कैलाश यात्रा पर संकट के बादल, ये है वजह
First published: June 21, 2019, 6:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...