सीएम का ऐलान: नॉन रिसाइक्लेबल पॉलिथीन खरीदेगी हिमाचल सरकार

उन्होंने विजेताओं को प्रशस्ति पत्र, स्मृति चिन्ह के साथ-साथ नगद पुरस्कार प्रदान किए जिसमें प्रथम को 50,000 रुपये तथा द्वितीय को 25,000 रुपये शामिल है.

News18 Himachal Pradesh
Updated: June 5, 2019, 4:46 PM IST
सीएम का ऐलान: नॉन रिसाइक्लेबल पॉलिथीन खरीदेगी हिमाचल सरकार
शिमला में कार्यक्रम के दौरान सीएम जयराम ठाकुर.
News18 Himachal Pradesh
Updated: June 5, 2019, 4:46 PM IST
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने बुधवार को शिमला में विश्व पर्यावरण दिवस पर पर्यावरण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, हिमाचल प्रदेश विज्ञान, प्रौद्योगिकी और पर्यावरण परिषद (एचएमसीओएसटी), हिमाचल प्रदेश राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और शिक्षा विभाग की ओर से आयोजित हिमाचल प्रदेश पर्यावरण उत्कृष्टता पुरस्कार 2018-19 के वितरण समारोह की अध्यक्षता की.

सीएम जयराम ठाकुर ने जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया, जिसमें शहर के 30 स्कूलों के लगभग 600 विद्यार्थियों ने भाग लिया.

तय रेट पर खरीदेगी सरकार
मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि राज्य सरकार निर्धारित मूल्य पर नॉन रिसाइक्लेबल पॉलीथीन को वापिस खरीदेगी. इसके अलावा, उन्होंने पर्यावरण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा निर्मित किए गए नए बैग का भी शुभारम्भ किया.

विश्व पर्यावरण दिवस पर बधाई देने के बाद जय राम ठाकुर ने कहा कि भारत स्वच्छ और सुरक्षित पर्यावरण के बीच ज्ञान प्राप्त करने वाले संतों और ऋषियों का देश है. राज्य में आज पर्यावरण सम्बन्धित कई चुनौतियां हैं और हमें इन पर प्राथमिकता के आधार पर विचार करना चाहिए. ताकि प्रकृति को और नुकसान से बचाया जा सके.

प्रदेशवासियों को सराहा
जय राम ठाकुर ने प्रदेश में लोगों द्वारा प्लास्टिक पर प्रतिबन्ध सुनिश्चित करने के लिए दिए गए सहयोग की सराहना की. उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश अपनी प्राकृतिक सौन्दर्यता के लिए जाना जाता है तथा देश-विदेश से पर्यटक प्रदेश के विभिन्न स्थलों में भ्रमण करने आते हैं, इसलिए हमारा दायित्व है कि हम प्रदेश में उन्हें बेहतर सुविधाएं देने के साथ-साथ स्वच्छ एवं स्वास्थ्यवर्धक पर्यावरण कायम रखने में अपना योगदान दे.
Loading...

इस योजना का आगाज

मुख्यमंत्री ने ‘वाटर प्यूरिफिकेशन इनविगोरेटिव योजना’ का शुभारम्भ किया, जिसके तहत विभिन्न नदियों की धाराओं के दूषित जल के प्रबन्धन के लिए 38 प्रकार के पौधों को चिन्हित किया गया है. प्रथम चरण में यह योजना सूखना नाला (परमाणु), मारकण्डा नदी (काला अम्ब)तथा सिरसा नदी (बद्दी) में और इनके आस-पास आरम्भ की जाएगी.उन्होंने विजेताओं को प्रशस्ति पत्र, स्मृति चिन्ह के साथ-साथ नगद पुरस्कार प्रदान किए जिसमें प्रथम को 50,000 रुपये तथा द्वितीय को 25,000 रुपये शामिल है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 5, 2019, 4:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...