लाइव टीवी

हिमाचल के स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार का इस्तीफा, स्पीकर का नामांकन भरा
Shimla News in Hindi

Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: February 25, 2020, 11:14 AM IST
हिमाचल के स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार का इस्तीफा, स्पीकर का नामांकन भरा
हिमाचल विधानसभा के नए स्पीकर के लिए नामांकन दाखिल करते हुए विपिन सिंह परमार और साथ में हैं सीएम जयराम ठाकुर.

कांगड़ा के सुलह विधानसभा क्षेत्र से विधायक विपिन परमार पूर्व सीएम शांता कुमार के करीबियों में शुमार हैं. तीसरी बार विधायक चुनकर आए हैं और एबीवीपी के संगठन मंत्री भी रहे हैं. 1998 में पहली बार विधायक बने थे.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार (Vipen Singh Parmar) ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. मंगलवार को हिमाचल विधानसभा (Himachal Assembly) के बजट सत्र से पहले स्वास्थ्य मंत्री परमार ने सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) को अपना इस्तीफा सौंपा. इसके बाद उन्होंने हिमाचल विधानसभा के नए स्पीकर पद के लिए अपना नामांकन दाखिल किया. बता दें कि 26 फरवरी को स्पीकर (Speaker) के नाम का ऐलान होगा.

सोमवार देर शाम को हुई थी घोषणा
भाजपा विधायक दल की बैठक के बाद सोमवार देर शाम स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार को विधानसभा का नया स्पीकर बनाने की घोषणा हुई थी. सीएम जयराम ठाकुर ने मीडिया को इस बात की जानकारी दी थी.

विधायक दल की बैठक में चर्चा



सीएम जयराम ठाकुर ने मीडिया से कहा कि भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की ओर से भी उन्हें केंद्रीय नेतृत्व का संदेश मिला. इसके बाद विपिन सिंह परमार के नाम पर भावी स्पीकर के रूप में फैसला लिया गया.

बैठक के बीच में ही सीएम को आया फोन
विधायक दल की बैठक के बीच में ही सीएम जयराम ठाकुर किसी का फोन सुनते हुए कांफ्रेस हाल के साथ वाले कमरे में चले गए. यहां पर काफी समय तक उनकी फोन पर बात हुई और कुछ देर बाद विपिन सिंह परमार भी उसी कमरे में गए. सूचना है कि उस वक्त बीजेपी केंद्रीय नेतृत्व से उनकी बात हो रही थी अब मंगलवार को विपिन सिंह परमार ने विधानसभा अध्यक्ष के लिए नामांकन दाखिल किया है.

फैसले से शांता कुमार नाखुश?
सूत्रों का कहना है कि पूर्व सीएम शांता कुमार परमार को मंत्रीपद से हटाने और उन्हें स्पीकर बनाने के फैसले से नाखुश हैं. बता दें कि परमार कांगड़ा जिले से आते हैं और शांता कुमार के करीबी माने जाते हैं. ऐसे में उन्हें मंत्रीपद से हटाना नागवार गुजरा है.

कौन हैं विपिन सिंह परमार
कांगड़ा जिला के सुलह विधानसभा क्षेत्र से विधायक विपिन सिंह परमार पूर्व सीएम शांता कुमार के करीबियों में शुमार हैं. तीसरी बार विधायक चुनकर आए हैं और एबीवीपी के संगठन मंत्री भी रहे हैं. 1998 में पहली बार विधायक चुनकर आए और उसके बाद 2007 में भी विधायक चुने गए. परमार बीते साल कांगड़ा में लेटर बम और आयुर्वेद विभाग में उपकरण खरीद में घोटाले के चलते चर्चा में रहे हैं.

ये भी पढ़ें: हिमाचल BJP की प्रदेश कार्यकारिणी का गठन, ये है अध्यक्ष डॉ. बिंदल की नई टीम

संजौली हादसा: पुलिसवालों पर कार चालक को बचाने का आरोप, जांच से संतुष्ट नहीं SP

बजट सत्र: CM जयराम की कांग्रेस को चुनौती, सदन में ठोक-बजाकर देंगे जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 25, 2020, 11:14 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर