शिमला टाउन हॉल विवाद पर विराम, HC ने सुनाया ऐतिहासिक फैसला

G.S. Tomar | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 6, 2019, 6:02 PM IST
शिमला टाउन हॉल विवाद पर विराम, HC ने सुनाया ऐतिहासिक फैसला
शिमला के माल रोड पर टाउन हाल.

24 जून 2016 को टाउन हॉल (Town Hall Shimla) का जीर्णोद्धार का कार्य शुरू होने पर नगर निगम शिमला (Municipal Corporation Shimla) के मेयर, डिप्टी मेयर से भवन खाली करवाया गया था. नगर निगम शिमला को सीटीओ के पास डीसी ऑफिस भवन में शिफ्ट किया गया था.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला (Shimla) के माल रोड पर साल 1908 में निर्मित ऐतिहासिक धरोहर टाउन हॉल (Town Hall Shimla) पर मालिकाना हक और उपयोग को लेकर 9 माह से चले आ रहे विवाद पर हाईकोर्ट ने विराम लगा दिया है.

शुक्रवार को हाईकोर्ट की खंडपीठ में हुई सुनवाई में नगर निगम की दायर याचिका पर कोर्ट ने आदेश दिया कि टाउन हॉल पर मालिकाना हक नगर निगम शिमला (Municipal Corporation Shimla) का होगा, लेकिन पूरा भवन नगर निगम के पास नहीं रहेगा. मेयर और डिप्टी मेयर का कार्यालय ही टाउन हॉल में होगा, नगर निगम के अन्य कर्मचारी और अधिकारियों के कार्यालय टाउन हॉल में शिफ्ट नहीं होंगे.

यह है फैसला
हाईकोर्ट (Himachal High Court) के मुख्य न्यायाधीश वी. रामा सुब्रमण्यन और जस्टिस अनूप चितकारा की खंडपीठ ने फैसला आदेश में कहा कि टाउन हॉल का उपयोग अन्य पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के मकसद से किया जाए. हिमाचल आने वाले पर्यटकों को प्रदेश की संस्कृति, पर्यटन और अन्य विशेषताओं की जानकारी टाउन हॉल में मिल सके.

शिमला का टाउन हाल.
शिमला का टाउन हाल.


ढाई साल पहले शिफ्ट हुआ था निगम
नगर निगम शिमला ने उच्च न्यायालय से अपना पुराना कार्यालय टाउन हॉल वापस देने की गुहार लगाई थी. ढाई साल पहले 24 जून 2016 को टाउन हॉल के जीर्णोद्धार के चलते नगर निगम से भवन खाली करवाया गया. 29 नवबंर 2018 को टाउन हॉल का मरम्मत कार्य पूरा होने के बाद 9 माह से नगर निगम की स्थानीय सरकार वापस टाउन हॉल में शिफ्ट करने की मांग कर रही थी. लेकिन एचपीटीडीसी ने टाउन हॉल को प्रदेश के पर्यटन को बढ़ावा देने और अन्य गतिविधियों के लिए उपयोग करने की मांग की थी. एचपीटीडीसी की मांग के खिलाफ नगर निगम की स्थानीय सरकार ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया.
Loading...

नगर निगम के अन्य कर्मचारी और अधिकारियों के कार्यालय टाउन हॉल में शिफ्ट नहीं होंगे.
नगर निगम के अन्य कर्मचारी और अधिकारियों के कार्यालय टाउन हॉल में शिफ्ट नहीं होंगे.


डीसी ऑफिस में निगम दफ्तर
24 जून 2016 को टाउन हॉल का जीर्णोद्धार का कार्य शुरू होने पर नगर निगम शिमला के मेयर, डिप्टी मेयर से भवन खाली करवाया गया था. नगर निगम शिमला को सीटीओ के पास डीसी ऑफिस भवन में शिफ्ट किया गया था. टाउन हॉल का ढाई साल चला मरम्मत कार्य 29 नवंबर 2018 को पूरा हो गया था. सीएम जयराम ने टाउन हॉल का उद्घाटन भी कर दिया था, लेकिन टाउन हॉल के उपयोग को लेकर उपजे विवाद के चलते टाउन हॉल खाली था. हाईकोर्ट के फैसले के बाद टाउन हॉल में मेयर, डिप्टी मेयर और पर्यटन को बढ़ावा देने की अन्य गतिविधियां चलाई जाएगी. हाईकोर्ट के महाधिवक्ता अशोक शर्मा ने कहा कि कोर्ट के समक्ष प्रदेश सरकार का पक्ष रखा गया, जिसमें टाउन हॉल को बहुउदेश्शीय मकसद के लिए उपयोग में लाने का दरख्वास्त की गई थी.

ये भी पढ़ें: मंडी पैलेस भवन की दुर्दशा पर मंत्री ने लिया संज्ञान, कार्रवाई का दिया भरोसा

हिमाचल की पहली इन्वेस्टर्ज़ मीट: केंद्र ने दिए 5 करोड़, PM कर सकते हैं शिरकत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 6, 2019, 5:49 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...