हिमाचली शख्स संजीव को सऊदी में मुस्लिम रिति-रिवाज से दफनाया, विधानसभा में उठा मुद्दा

हिमाचल विधानसभा में बजट सत्र चल रहा है. (File Photo)

ऊना सदर से कांग्रेस विधायक सतपाल रायजादा ने सदन में मामला उठाकर परिवार की मदद करने के लिए सरकार से हस्तक्षेप की मांग की है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के हिंदू (Hindu) धर्म के एक व्यक्ति को परिवार की बिना जानकारी मुस्लिम रीति-रिवाज से सऊदी अरब में दफनाने की आशंका का मामला सामने आया है. ये व्यक्ति ऊना जिले का था. शिमला में मंगलवार को हिमाचल विधानसभा के बजट सत्र (Budget Session) के दौरान ऊना से कांग्रेस विधायक सतपाल सिंह रायजादा (Sat Pal Raijaida) ने सदन में उठाया. इस मामले पर सीएम से हस्तक्षेप की मांग की है और विदेश मंत्रालय के समक्ष मुद्दा उठाकर शव (Dead Body) वापस लाने की मांग की है.

क्या बोले सीएम जयराम

सीएम जय राम ठाकुर ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा कि इस संबंध में विदेश मंत्री से बात करेंगे और परिवार की हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया.कांग्रेस विधायक सतपाल रायजादा ने बताया कि संजीव कुमार ऊना शहर के वार्ड नंबर 2 का रहने वाला था. रायजादा ने कहा कि संजीव के परिवार वालों की ओर से जानकारी दी गई कि उनकी बिना मंजूरी के अन्य धर्म बतलाकर दफनाया गया. संजीव कुमार कई वर्षों से सऊदी अरब में खामिस मुसैत नामक जगह पर कंपनी में ड्राइवर की नौकरी कर रहा था. अंतिम बार तीन साल पहले भारत आया था और कुछ ही समय बाद वापस सऊदी अरब चला गया था.

अनुराग से लगाई थी गुहार

परिवार ने बताया कि संजीव 30 सितंबर 2020 को अचानक बीमार हुआ, बीमार होने पर उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती किया गया. तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर बड़े अस्पताल में शिफ्ट किया गया.करीब एक महीने तक वो बिस्तर पर पड़ा रहा और उसके बाद कुछ समय तक वेंटिलेटर पर रहा और 24 जनवरी 2021 को उसका देहांत हो गया. इसकी जानकारी परिवारवालों को उसके साथ काम करने वाले एक साथी ने दी. परिजनों ने बॉडी लाने को लेकर मदद के लिए केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर को 27 जनवरी पत्र लिखा. डीसी ऊना और एम्बेंसी से भी मदद की गुहार लगाई गई, लेकिन कहीं से भी मदद नहीं मिली.

परिवारवालों के मुताबिक, 17 फरवरी को किसी से जानकारी मिली कि अस्पताल में मौत के कुछ दिनों बाद ही बॉडी को रिलीज किया गया था. साथ में जानकारी मिली कि अरबी भाषा में लिखा था कि मरने वाला मुस्लिम धर्म से संबंधित था. अब परिवार गुहार लगा रहा है कि उसके शव को वापस लाया जाए, ताकि उसका अंतिम संस्कार हिंदू धर्म के अनुसार हो सके. सतपाल रायजादा ने सदन में मामला उठाकर परिवार की मदद करने के लिए सरकार से हस्तक्षेप की मांग की है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.