शिमला में खुले में चाय और खाने का सामान देखने को तरसेंगे लोग, जानें वजह

शिमला में खुले में बिकने वाले खाद्य पदार्थ पर शिमला नगर निगम ने रोक लगा दी है. रिज व माल रोड पर चाय और खाने की वस्तुएं अब नहीं बिकेंगी.

Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 21, 2019, 10:48 PM IST
शिमला में खुले में चाय और खाने का सामान देखने को तरसेंगे लोग, जानें वजह
शिमला में खुले में बिकने वाले खाद्य पदार्थ पर शिमला नगर निगम ने रोक लगा दी है. रिज व माल रोड पर चाय और खाने की वस्तुएं अब नहीं बिकेंगी.
Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 21, 2019, 10:48 PM IST
हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में खुले में बिकने वाले खाद्य पदार्थ को लेकर शिमला नगर निगम सख्त हो गया है. रिज, मॉल रोड और शहर के विभिन्न जगहों पर खुले में बिकने वाले खाद्य पदार्थ और खिलौने बेचने पर नगर निगम प्रशासन ने रोक लगा दी है. अक्सर रिज व माल रोड पर  कुछ लोग चाय, खाने की वस्तुएं व बच्चों के गुब्बारे और खिलौने बेचते दिखाई देते हैं. निगम प्रशासन ने इन दोनों जगहों पर इसकी बिक्री पर रोक लगा दी है. इस संबध में संयुक्त आयुक्त अनिल शर्मा की ओर से स्वास्थ्य शाखा को आदेश दिए गए हैं कि वह रिज व माल रोड पर सरेआम चाय व खाद्य पदार्थ बेचने वालों पर नकेल कसे. साथ ही चाय के लिए प्रयोग में लाए जाने वाले पानी की गुणवता की जांच की जाए ताकि शहर की आम जनता सहित सैलानियों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ न हो.

रिज व माल रोड पर बरती जाएगी सख्ती 

निगम प्रशासन का कहना है कि रिज व माल रोड पर चलते-फिरते कारोबार के कारण जगह- जगह गंदगी फैल रही है. प्रशासन ने स्पष्ट किया है यदि इन दोनों जगहों पर चाय सहित अन्य खाद्य वस्तुओं की ब्रिकी करते हुए पकड़ा गया तो निमयों के तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी. अनिल शर्मा ने कहा कि शहर में अनधिकृत रूप से रेहड़ी व फड़ी वालों को पुलिस के सहायता से खदेड़ा जा रहा है. इसके लिए निगम ने सुबह नौ बजे से रात नौ बजे तक टीमें तैनात की हैं जो पुलिस की निगरानी में अनधिकृत रूप से बैठने वाले तहबाजारियों पर कार्रवाई की जाएगी. यदि कोई तहबाजारी बार- बार निगम के आदेशों की अवहेलना करता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 21, 2019, 10:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...