Home /News /himachal-pradesh /

himachal police paper leak main accused shivbahar leaked many papers in punjab hpvk

हिमाचल पुलिस पेपर लीकः आरोपी शिव बहादुर ने पंजाब में लीक किए कई पेपर, DGP कुंडू ने 5 राज्यों से मांगा सहयोग

लिखित परीक्षा से पहले पेपर लीक मामले के किंगपिन अब भी अन्य राज्यों में छिपे हुए हैं.

लिखित परीक्षा से पहले पेपर लीक मामले के किंगपिन अब भी अन्य राज्यों में छिपे हुए हैं.

Himachal Police Paper Leak: मामले में अब तक कुल 93 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें से 26 आरोपी न्यायिक हिरासत में और 21 पुलिस रिमांड पर हैं. कांगड़ा से 57, मंडी से 3, सोलन से 19 आरोपी, ऊना से 1, कुल्लू से 1, बिलासपुर से तीन, हमीरपुर से 4, चंबा से तीन आरोपियों की गिरफ्तारी हई है. आरोपियों में 63 लोग पुलिस भर्ती के उम्मीदवार हैं. तीन आरोपी इन आवदकों के पिता हैं.

अधिक पढ़ें ...

शिमला. हिमाचल प्रदेश पुलिस की भर्ती का पेपर लीक मामले में पुलिस की खूब किरकिरी हुई है. आलम यह है कि पेपर लीक को लेकर हिमाचल प्रदेश के डीजीपी संजय कुंडू ने उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, बिहार के पुलिस महानिदेशकों, दिल्ली के पुलिस कमिश्नर से बात की और उनसे जांच में सहयोग मांगा है.
दरअसल, लिखित परीक्षा से पहले पेपर लीक मामले के किंगपिन अब भी अन्य राज्यों में छिपे हुए हैं. राज्य पुलिस का दावा है कि पुलिस जल्द ही इनकी गिरफ्तारी करेगी. हालांकि, सरकार ने मामले की सीबीआई जांच सिफारिश की है. लेकिन अब तक सीबीआई ने मामला टेक ओवर नहीं किया है.

हिमाचल पुलिस के अनुसार, कई परीक्षाओं के पेपर लीक होने एक संगठित अपराध बन गया है और किंगपिन इस अपराध में लैपटॉप, कंप्यूटर, मोबाइल, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और अन्य तकनीकों का उपयोग करते हैं. कोचिंग कक्षाओं और एजेंट के नेटवर्क के माध्यम से संभावित उम्मीदवारों की पहचान कर पैसे के हिसाब से प्रश्नपत्र लीक कर लेते हैं. हर हफ्ते पता लगाने और गिरफ्तारी से बचने के लिए अपने फोन और सिम बदलते हैं.

शिवबहादुर ने किए कई पेपर लीक

वाराणसी से गिरफ्तार सरगनाओं में से एक शिव बहादुर सिंह पेपर लीक के कई मामलों में संलिप्त रहा है. जेबीटी से लेकर टीजीटी समेत कई प्रतियोगी परीक्षाओं के पेपर लीक करने को लेकर कई राज्यों में कई मामले दर्ज हैं. पंजाब में आरोपी के खिलाफ सबसे अधिक मामले दर्ज हैं. अर्की से गिरफ्तार दो एजेंटों के तार राजस्थान से पाए गए हैं. शिव बहादुर सिंह वर्ष 2017 में पंजाब में जेबीटी शिक्षक और टीजीटी भर्ती की परीक्षा का पेपर लीक करवाया. इस मामले में पंजाब एसआईटी और उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स ने उसे गिरफ्तार किया था. पंजाब में सीनियर असिस्टेंट, सहायक अभियंता (एसडीओ), नगर निगम भर्ती और इंस्पेक्टर ग्रेड वन भर्ती के पेपर लीक कराने में उसकी संलिप्तता पाई गई.  पंजाब शहरी विकास प्राधिकरण में जेई भर्ती का पेपर लीक, सिंचाई विभाग में एसडीओ भर्ती का पेपर लीक  कराने में भी इसका हाथ था. रेलवे की ग्रुप डी भर्तियों का पेपर लीक करने के मामले में उसे उत्तर प्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार किया था. मेडिकल एंट्रेंस परीक्षा के पेपर लीक करने के मामले में हैदराबाद पुलिस ने भी उसे गिरफ्तार किया था.

अब तक कुल 93 आरोपी गिरफ्तार
मामले में अब तक कुल 93 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें से 26 आरोपी न्यायिक हिरासत में और 21 पुलिस रिमांड पर हैं. कांगड़ा से 57, मंडी से 3, सोलन से 19 आरोपी, ऊना से 1, कुल्लू से 1, बिलासपुर से तीन, हमीरपुर से 4, चंबा से तीन आरोपियों की गिरफ्तारी हई है. आरोपियों में 63 लोग पुलिस भर्ती के उम्मीदवार हैं. तीन आरोपी इन आवदकों के पिता हैं. इसके अलावा, 15 एजेंट और दलाल दबाचे गए हैं. 10 अन्य एजेंट और दलाल दूसरे राज्यों से पुलिस ने गिरफ्तार किए गए हैं.

Tags: Himachal Police, Himachal pradesh, Paper Leak, Shimla News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर