हिमाचल में बीते 5 साल में हुए 10 बड़े सड़क हादसे, जिनमें गई 300 जानें

हिमाचल में औसतन हर 96 मिनट बाद एक सड़क हादसा होता है और हर साढ़े 3 घंटे बाद एक व्यक्ति की मौत हो जाती है. पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार, साल 2019 में मई तक 419 लोगों की मौत हादसों में हो चुकी है.

News18 Himachal Pradesh
Updated: June 21, 2019, 2:02 PM IST
हिमाचल में बीते 5 साल में हुए 10 बड़े सड़क हादसे, जिनमें गई 300 जानें
9 अप्रैल 2018 को कांगड़ा के नुरपुर स्कूल बस हादसा. (फाइल फोटो)
News18 Himachal Pradesh
Updated: June 21, 2019, 2:02 PM IST
हिमाचल प्रदेश में सड़क हादसे कोई नई बात नहीं है. हर साल बड़े हादसे होते हैं और लोगों की जान जाती है. ताजा हादसा कुल्लू के बंजार में हुआ है, जहां 44 लोगों की मौत हो गई है. इससे पहले भी प्रदेश में बड़े बस हादसे हो चुके हैं.

ये बड़े हादसे हुए

  • 11 अगस्त 2017 को चंबा-धुलाड़ा मार्ग पर एक बस हादसे का शिकार होती है. इस हादसे में 52 मौत लोगों की मौत हो जाती है.

    8 मई 2013 को मंडी के झीड़ी में बस हादसे में 40 लोगों को जान गंवानी पड़ी.
    इसी तरह 27 सिंतबर 2013 को सिरमौर जिले के के रेणुका में ददाहू-टिक्कर मार्ग पर बस हादसा में 21 लोग मौत के आगोश में समा जाते हैं.
    21 अगस्त 2014 में किन्नौर के रूतरंग में हुए बस हादसे में 23 लोगों की जान चली गई थी.
    Loading...

    23 जुलाई 2015 में कुल्लू की पार्वती नदी में टूरिस्टों से भरी एक बस पार्वती नदी में गिरती है. इसमें 31 लोगों मौत होती है.
    20 मई 2016 में मंडी के बिंद्रावणी में व्यास नदी में बस गिरती है और 17 लोगों की मौत होती है.
    20 अप्रैल 2017 में शिमला के गुम्मा में बस खाई में गिरती है और 45 लोगों को मौत का शिकार होना पड़ता है.
    13 अगस्त 2017 को मंडी के कोटरोपी में भूस्खलन में एचआरटीसी की बस आती है और हादसे में 48 जानें चली जाती हैं.
    9 अप्रैल 2018 में कांगड़ा के नुरपुर स्कूल बस हादसे को कोई कैसे भूल सकता है. इसमें 24 मासूमों समेत 28 लोगों की मौत हो गई थी.
    20 जून 2019 को कुल्लू के बंजार में हादसे में 44 लोगों की मौत हुई है और 35 लोग घायल हैं.


ये हैं चौंकाने वाले आंकड़ें
न्यूज18 की ओर से जुटाई गई जानकारी के अनुसार, हिमाचल में औसतन हर 96 मिनट बाद एक सड़क हादसा होता है और हर साढ़े 3 घंटे बाद एक व्यक्ति की मौत हो जाती है. पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार,  साल 2019 में मई तक 419 लोगों की मौत हादसों में हो चुकी है. 2018 में साल हिमाचल में 3119 सड़क हादसे हुए. इनमें 168 लोगों की मौत हुई और 5444 लोग घायल हुए हैं.

हिमाचल में बीते दस साल में हुए बस हादसे.


हर साल एक हजार से अधिक मौतें[/caption]
साल 2017 में बिलासपुर में 194, चंबा में 119, हमीरपुर में 120, कांगड़ा में 523, किन्नौर में 34, कुल्लू में 168, लाहुल-स्पीति में 25, मंडी में 423, शिमला में 480, सिरमौर में 306, सोलन में 252, ऊना में 291, बद्दी में 178 लोगों की मौत हुई थी. सूबे में कुल 3114 हादसे हुए थे और हादसों में 1203 मौतें और 5452 लोग घायल हुए थे. साल 2016 में 3168 सड़क हादसे सामने आए, जिनमें 1271 लोगों को जान गंवानी पड़ी और 5 हजार 764 लोग घायल हुए हैं.

ये भी पढ़ें: कुल्लू बस हादसा: मृतकों का आंकड़ा पहुंचा 44, 35 घायल

-10 डिग्री में 13050 फीट ऊंचे रोहतांग पर ITBP जवानों का योग

Kullu Bus Accident: 44 सीटर बस में सवार थे 79 यात्री

कुल्लू बस हादसा: PM मोदी और राहुल गांधी ने जताया दुख

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 21, 2019, 1:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...