लाइव टीवी

हिमाचल प्रदेश: IGMC में हुई पहली बेरियाट्रिक सर्जरी, CM जयराम ठाकुर भी बने गवाह

Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: November 30, 2019, 5:17 PM IST
हिमाचल प्रदेश: IGMC में हुई पहली बेरियाट्रिक सर्जरी, CM जयराम ठाकुर भी बने गवाह
IGMC में पहली बार मोटापा कम करने के लिए सर्जरी की गई

हिमाचल प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल आईजीएमसी (IGMC) में पहली बार मोटापा कम करने के लिए सर्जरी (Surgery) की गई और इस ख़ास मौके के गवाह मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) भी बने.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल में आईजीएमसी के इतिहास में शनिवार को एक नया अध्याय जुड़ गया. आईजीएमसी (IGMC) में पहली बार मोटापा कम करने के लिए सर्जरी (Surgery) की गई और इस ख़ास मौके के गवाह मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) भी बने. आईजीएमसी में पहली बार सोलन के रहने वाले मरीज की लाइव एब्डोमिनल वॉल रीकंस्ट्रक्शन एंड बैरियाट्रिक सर्जरी की गई. इस सर्जरी के साथ ही आईजीएमसी में बैरिएट्रिक सर्जरी पर दो दिवसीय कार्यशाला भी शुरू हुई.

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने किया कार्यशाला का आरंभ

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इस कार्यशाला का शुभारम्भ किया. इस अवसर पर जयराम ठाकुर ने बताया कि हिमाचल प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर किया जा रहा है. प्रदेश में अभी तक जो स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध नहीं है, उनको भी यहां शुरू किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि आईजीएमसी में बैरिएट्रिक सर्जरी की सुविधा नहीं होने से मोटापे की समस्या से ग्रस्त मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ता है. उन्होंने कहा कि ऐसी सर्जरी के लिए मरीजों को बाहरी राज्यों का रुख करना पड़ता है, लेकिन अब इसकी सुविधा आईजीएमसी में उपलब्ध करवाने के प्रयास किए जाएंगे. आईजीएमसी के डॉक्टरों को इसका प्रशिक्षण देकर जल्द ही बैरियाट्रिक सर्जरी को यहां शुरू किया जाएगा.

सर्जरी के लिए टीम में शामिल थे ये डॉक्टर

सर्जरी के लिए आए डॉक्टरों की टीम में मौलाना मेडिकल कॉलेज नई दिल्ली के सर्जन प्रमुख प्रो. पविदर लाल, सर गंगाराम अस्पताल नई दिल्ली मिनिमल एक्सेस सर्जरी के अध्यक्ष डॉ. सुधीर कल्हन, कोलकाता के डॉ. रमन और नई दिल्ली की डॉ. मीनाक्षी के अलावा सर गंगाराम अस्पताल नई दिल्ली में मिनिमल एक्सेस सर्जरी के उपाध्यक्ष डॉ. विवेक बिंदल भी शामिल हैं. डॉ. विवेक बिंदल विधानसभा अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल के बेटे हैं.

सोलन के मरीज की हुई सर्जरी

आईजीएमसी में सर्जरी विभाग के विशेषज्ञ डॉ. डी के वर्मा ने बताया कि प्रदेश में पहली बार मोटापा कम करने के लिए सर्जरी की गई है, जिसका लाइव डेमो किया गया है. उन्होंने बताया कि सोलन के रहने वाले मरीज की सर्जरी सफलतापूर्वक की गई है. डॉ. डी के वर्मा ने बताया कि बेरियाट्रिक सर्जरी और एनी सर्जरी को समझने के लिए दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन भी किया गया है. इस कार्यशाला में रोबोटिक सर्जरी का डेमो भी दिया जा रहा है. उन्होंने बताया कि शनिवार को पांच मरीजों की सर्जरी की गई है, जिसमें एक मोटापे को कम करने के लिए और चार हर्निया संबंधित सर्जरी की गई है.
Loading...

मोटापे में भारत तीसरे नंबर पर

सबसे बड़े अस्पताल आईजीएमसी में हुई पहली बेरियाट्रिक सर्जरी को लेकर वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ जनक राज ने बताया कि विश्व में हमारा देश मोटापे से ग्रसित तीसरे नम्बर पर है. उन्होंने कहा कि अब मोटापे से परेशान लोगों को राज्य से बाहर नहीं जाना पड़ेगा और लोग आईजीएमसी में आकर ही अपनी सर्जरी करा सकेंगे.

यह भी पढ़ें: बहू को बच्चा नहीं होने पर सास, जेठानी और ननद ने मिट्टी का तेल छिड़क आग लगाई

छात्र प्रांजल का सोलर विलेज प्रोजेक्ट जंगली जानवरों से किसानों को बचाएगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 5:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...