होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /Himachal Statehood Day: शिमला में बर्फ के फाहों के बीच इंदिरा गांधी ने की घोषणा, 30 रियासतों के साथ हुआ था गठन

Himachal Statehood Day: शिमला में बर्फ के फाहों के बीच इंदिरा गांधी ने की घोषणा, 30 रियासतों के साथ हुआ था गठन

हिमाचल प्रदेश बुधवार को अपना स्टेटहुड डे मना रहा है.

हिमाचल प्रदेश बुधवार को अपना स्टेटहुड डे मना रहा है.

Himachal Statehood Day:हिमाचल का शाब्दिक अर्थ है बर्फीले पहाड़ों का आंचल. हिमाचल को देवभूमि और वीरभूमि भी कहा जाता है. ...अधिक पढ़ें

शिमला. हिमाचल प्रदेश बुधवार को अपना स्टेटहुड-डे (Himachal Statehood Day) मना रहा है. हिमाचल को अस्तित्व में आए 53 साल का अरसा हो गया है. हमीरपुर में बुधवार को स्टेटबुड डे पर राज्यस्तरीय कार्यक्रम हो रहा है, जिसमें सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू शिरकत करेंगे. वहीं, हिमाचल दिवस को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने भी ट्वीट कर धाई दी है.

दरअसल, 25 जनवरी 1971 को हिमाचल अस्तित्व में आया था. उस राजधानी शिमला में भारी बर्फबारी हो रही थी. सब लोग टकटकी लगाए खड़े थे. सभी लोगों को बेसब्री से इंतजार था. ऐतिहासिक क्षण का.

बर्फ के फाहों के बीच तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा देने का ऐलान किया और लोग खुशी से झूम उठे. इस तरह हिमाचल आजाद भारत का 18वां राज्य बना. शिमला के बाशिंदे बताते हैं कि 25 जनवरी 1971 में शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान पर इंदिरा गांधी ने हिमाचल को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की घोषणा की थी.

1948 में 30 छोटी-बड़ी रियासतों के साथ गठन

15 अप्रैल 1948 को 30 छोटी-बड़ी रियासतों और ठकुराइयों को मिलाकर हिमाचल का गठन किया गया था. कुल 4 जिले बनाए गए. 1951 में इसे सी कैटेगरी स्टेट का दर्जा प्रदान किया गया. 1 जुलाई 1952 को बिलासपुर को 5वें जिले के रूप में शामिल किया गया. साल 1956 में सी कैटेगरी स्टेट का दर्जा समाप्त होते ही हिमाचल को केंद्र शासित राज्य के रूप में पहचान मिली. एक नवंबर 1966 को पंजाब पुनर्गठन के समय पंजाब के कुल्लू, कांगड़ा, हमीरपुर, नालागढ़, कसौली, लाहौल-स्पीति, डलहौजी, ऊना और शिमला के क्षेत्र हिमाचल में शामिल कर हिमाचल अस्तित्व में आया. इसके बाद 25 जनवरी 1971 को हिमाचल को पूर्ण राज्य का दर्जा प्रदान किया गया.


कांगड़ा दो भागों में बांटा और बने दो जिले

एक सितंबर 1972 को कांगड़ा जिला दो भागों में बंटा. ऊना और हमीरपुर के रूप में दो नए जिलों का उदय हुआ. इसी वर्ष महासू जिला से शिमला और सोलन जिला बनाए गए. वर्तमान में करीब 70 लाख आबादी वाले हिमाचल प्रदेश में 12 जिले हैं. राज्य का कुल क्षेत्रफल 55,673 वर्ग किलोमीटर है. क्षेत्रफल के अनुसार हमीरपुर सबसे छोटा और लाहौल-स्पीती सबसे बड़ा जिला है.

राज्य की 90 फीसदी आबादी गांवों में बसती है. हिमाचल सालाना करीब 1450 मिट्रिक टन खाद्यान्न, 5,55,708 मिट्रिक टन फल, और 9 लाख टन सब्जी का उत्पादन करता है. हिमाचल 1 लाख 80 हजार रुपये प्रति व्यक्ति आय के साथ प्रगति के पथ पर अग्रसर है.

हिमाचल दिवस को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर बधाई दी है.

हिम का आंचल में बसी देवभूमि और वीरभूमि

हिमाचल का शाब्दिक अर्थ है बर्फीले पहाड़ों का आंचल. हिमाचल को देवभूमि और वीरभूमि भी कहा जाता है. जब-जब देश पर संकट आया है यहां के जवानों ने अपना सर्वोच्च बलिदान दिया है. पूर्ण राज्य का दर्जा मिलने के बाद हिमाचल ने दिनों-दिन तरक्की की है. लेकिन कुछ चुनौतियां आज भी बरकरार हैं. रोजगार, शिक्षा, सड़क, स्वास्थ्य, नशा मुक्ति और पीने का शुद्ध पानी आज बड़ी चुनौतियां है. जिनसे पार पाकर ही हिमाचल निर्माता वाईएस परमार के सपनों को साकार किया जा सकता है.

Tags: Himachal Government, Himachal news, Himachal pradesh, Indira Gandhi, Shimla News

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें