कमाई से दोगुना खर्च: हिमाचल टूरिज्म के होटलों में रहना-खाना होगा महंगा!

छोटे शहरों में शिमला को सबसे आरामदायक शहर माना गया है.

छोटे शहरों में शिमला को सबसे आरामदायक शहर माना गया है.

Tourism in Himachal: सीएम ने लाहौल-स्पीति के लिए ई-हैली सर्विस का शुभारंभ किया. स्थानीय लोगों की तरह पर्यटक भी अब हेलिकॉप्टर सुविधा का लाभ ले सकेंगे. सीएम ने कहा कि लाहौल- स्पीति अब नया टूरिस्ट हब बनेगा.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम (HPTDC) के होटलों में रहना-खाना महंगा हो सकता है. राजधानी शिमला (Shimla) में सीएम जय राम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस पर विस्तार से चर्चा हुई है. कोरोना से हुए घाटे (Loss) की भरपाई के रूप में भी इसे देखा जा रहा है. सीएम निगम की इकाईयों के शुल्कों की समीक्षा करने के निर्देश दिए है. बीते 10 माह में निगम ने कमाई के मुकाबले दोगुना खर्च किया है. सीएम ने एचपीटीडीसी (HPTDC) को निर्देश दिए हैं कि अपनी सभी इकाइयों को लाभप्रद बनाने के लिए अधिक सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाने के अलावा लीक से हट कर सोचना चाहिए.

दोबारा तय होंगे रेट

एचपीटीडीसी के निदेशकमण्डल की 156वीं बैठक की अध्यक्षता करते हुए सीएम ने कहा कि निगम के होटलों के शुल्कों की समीक्षा की जानी चाहिए और आस-पास में स्थापित होटलों के शुल्कों की तुलना के बाद अपने शुल्क पुनर्निर्धारित करने चाहिए. उन्होंने कहा कि निगम अपने मैन्यू से अनावश्यक व्यंजन निकालकर नए व्यंजनों को शामिल करे, ताकि आसपास के रेस्तरां के साथ प्रतिस्पर्धा करने में सहायता मिल सके. सीएम ने निगम के अधिकारियों को अन्य राज्यों की पर्यटन इकाइयों का भी अध्ययन करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि होटलों की ऑक्यूपेंसी 50 प्रतिशत तक बढ़ाने के प्रयास किए जाने चाहिए. कोविड महामारी के कारण निगम की सभी पर्यटन इकाइयों को काफी घाटा उठाना पड़ा, जिसके चलते निगम ने पहली अप्रैल, 2020 से 28 फरवरी, 2021 तक 35.56 करोड़ रुपये का राजस्व एकत्रित किया है जबकि खर्च 73.76 करोड़ रुपये का रहा.

और क्या बोले सीएम
मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए निगम की प्रमुख परिसंपत्तियों मनाली स्थित होटल कुन्जुम और शिमला स्थित होटल होलीडे होम के जीर्णाद्धार के भी निर्देश दिए. ग्राहकों को निगमों के होटलों तक पहुंचाने के लिए प्रभावी मार्केटिंग की ओर ध्यान देने के निर्देश दिए. ज्यादा पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए आधुनिक मीडिया का अधिक से अधिक उपयोग सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए. उन्होंने मापदंडों और लक्ष्यों को निर्धारित करने की आवश्यकता पर बल दिया, जिससे उन्हें व्यवसायिक तरीके से हासिल किया जा सके और निगम की इकाइयों को आर्थिक रूप से लाभकारी बनाया जा सके. निगम की प्रबंध निदेशक कुमुद सिंह ने बैठक की कार्यवाही का संचालन किया. बैठक में मुख्य सचिव अनिल खाची, अतिरिक्त मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना एवं जेसी शर्मा, सचिव पर्यटन देवेश कुमार और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे.

लाहौल होगा नया हब

मौके पर सीएम ने लाहौल-स्पीति के लिए ई-हैली सर्विस का शुभारंभ किया. स्थानीय लोगों की तरह पर्यटक भी अब  हेलिकॉप्टर सुविधा का लाभ ले सकेंगे. सीएम ने कहा कि लाहौल- स्पीति अब नया टूरिस्ट हब बनेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज