Home /News /himachal-pradesh /

himachal was liked by the tourists in 6 months all the records were broken so far nodbk

सैलानियों को भाया हिमाचल, भारी संख्या में पहुंचे टूरिस्ट, 6 महीनों में ही अब तक के सारे रिकार्ड टूटे

दुनिया के कई देशों में कोविड की स्थिती को देखते हुए कम संख्या में विदेशी सैलानी हिमाचल पहुंचे हैं.

दुनिया के कई देशों में कोविड की स्थिती को देखते हुए कम संख्या में विदेशी सैलानी हिमाचल पहुंचे हैं.

Himachal Pradesh Tourism: हिमाचल आने वाले पर्यटकों की संख्या को लेकर अमित कश्यप ने बताया कि प्रदेश में कोविड से पहले हर साल करीब करीब 2 करोड़ सैलानी पहुंचते थे. इनमें 30 से 35 लाख विदेशी टूरिस्ट शामिल होते थे. लेकिन कोरोना के बाद बंदिशों बढ़ने के बाद यहां पर सब कुछ रूक गया.

अधिक पढ़ें ...

शिमला. हिमाचल सैलानियों के लिए देश की पंसदीदा जगहों में से एक बनता जा रहा है. हिमाचल प्रदेश में भारी संख्या में टूरिस्ट पहुंच रहे हैं. इस साल सैलानियों की यहां पहुंचने के पिछले सभी रिकार्ड टूट गए हैं. हिमाचल पर्यटन विभाग के निदेशक और पर्यटन निगम के एमडी अमित कश्यप ने बताया कि इस साल जून माह के अंत तक करीब 90 लाख सैलानी हिमाचल के अलग-अलग स्थानों पर पहुंचे हैं और ये सिलसला अभी जारी है. आईएएस अधिकारी अमित कश्यप का कहना है कि इससे पहले साल के शुरूआती 6 महीनों में इतनी संख्या में टूरिस्ट नहीं पहुंचें हैं. उम्मीद है कि इस साल प्रदेश में रिकार्ड तोड़ टूरिस्ट पहुंचेंगे.

दुनिया के कई देशों में कोविड की स्थिती को देखते हुए कम संख्या में विदेशी सैलानी हिमाचल पहुंचे हैं. इस साल अब तक विदेशी मेहमानों की संख्या 10 हजार के आंकड़े को भी नहीं छू पाई है. धर्मशाला में दलाई लामा के रहने की वजह वहां पर सबसे ज्यादा विदेशी टूरिस्ट आते हैं. वहीं दूसरी ओर शिमला पहुंचे सैलानी काफी खुश नजर आ रहे हैं. जो भी यहां आ रहा है वो यही संदेश दे रहा है कि यहां पर जरूर आएं. पहाड़ों की रानी में इन दिनों मौसम भी काफी खुशगवार है, जिसके चलते सैलानियों की आमद में इजाफा हो रहा है. ट्रैफिक और पार्किंग की समस्या के अलावा साफ-सफाई और कूड़े की समस्या को लेकर सैलानियों में कुछ नाराजगी भी दिखी है.

इनमें 30 से 35 लाख विदेशी टूरिस्ट शामिल होते थे
हिमाचल आने वाले पर्यटकों की संख्या को लेकर अमित कश्यप ने बताया कि प्रदेश में कोविड से पहले हर साल करीब करीब 2 करोड़ सैलानी पहुंचते थे. इनमें 30 से 35 लाख विदेशी टूरिस्ट शामिल होते थे. लेकिन कोरोना के बाद बंदिशों बढ़ने के बाद यहां पर सब कुछ रूक गया. बंदिशें हटने के बाद पहले ‘सरवाइवल फिर रिवाइवल’ के फॉर्मूले पर आगे बढ़ें. जिसके परिणामस्वरूप 2021 में 85 लाख टूरिस्ट हिमाचल पहुंचे.
अटल टनल खुलने के बाद लाहौल-स्पीति में टूरिस्ट की आमद में 600 प्रतिशत का इजाफा हुआ. विभाग के निदेशक ने बताया कि टूरिस्ट की संख्या बढ़ने से पर्यटन निगम की कमाई में साल 2019 में अप्रैल माह की तक की कमाई की तुलना में 15 गुना की बढ़ौतरी हुई है. 2019 में अप्रैल माह तक मात्र 40 लाख की कमाई हुई थी जो इस साल 5 करोड़ 82 लाख रू को पार कर गई है.

सकारात्मक परिणाम आए हैं
अमित कश्यप ने बताया कि विभाग ने कोविड के बाद काफी मेहनत की, प्रदेश में पर्यटन को पांच हिस्सों में बांटा गया. नेचर टूरिज्म, एडवेंचर टूरिज्म, ट्राइवल टूरिज्म और रिलीजियस टूरिज्म पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया गया. इसके अलावा ग्रामीण इलाकों और अनछुए पर्यटन स्थलों की ओर सैलानियों को आकर्षित करने के लिए आधारभूत ढांचे को मजबूत किया गया और ये प्रयास अब भी जारी हैं. इसको लेकर सरकार की नईं योजना नई राहें,नईं मंजिलें के तहत काफी कार्य किया गया है. जिसके सकारात्मक परिणाम आए हैं.

और योजनाएं हैं जिन्हें धरातल पर उतारा जाएगा
इस योजना के तहत पर्यटन विभाग को हर साल सरकार की ओर से हर साल 50 करोड़ रू. की राशि मिलती है. उन्होंने कहा कि पर्यटन निगम के होटलों में अलग-अलग पैकेज के अलावा हिमाचली व्यंजनों के साथ कुछ विशेष व्यंजन की परोसे गए. उससे भी काफी फायदा मिला है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में पर्यटन विकास के लिए आने वाले में कुछ और योजनाएं हैं जिन्हें धरातल पर उतारा जाएगा.

Tags: Himachal news, Shimla News, Shimla Tourism, Tourists

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर