HP Board 12th Exams: हिमाचल में 12वीं के छात्र होंगे प्रमोट, रद्द होगी परीक्षा!

हिमाचल में 12वीं के एग्जाम नहीं हुए हैं.

हिमाचल में 12वीं के एग्जाम नहीं हुए हैं.

HP Board Exams: हिमाचल प्रदेश में 12वीं में करीब 1.10 लाख छात्र हैं, जिनकी परीक्षाओं को लेकर फैसला होना अभी बाकी है. स्कूल शिक्षा बोर्ड ने परीक्षाओं को लेकर तैयारियां भी पूरी कर दी थीं.

  • Share this:

शिमला. हिमाचल प्रदेश में भी सीबीएसई (CBSE) की तर्ज पर 12वीं कक्षा की बोर्ड की परीक्षाओं को रद्द होना लगभग तय है. सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने भी इसके संकेत दिए हैं. बुधवार को राजधानी शिमला में पत्रकारों के साथ बातचीत में कहा कि जल्द फैसला लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि इस मामले पर सीबीएसई की तर्ज पर ही कार्य चल रहा है. सीएम ने कहा कि हिमाचल फिलहाल बोर्ड की परीक्षाएं करवाने की स्थिति में नहीं है, इस मुद्दे पर शिक्षा विभाग से फीडबैक लिया गया है. शिक्षा सचिव से भी बातचीत की गई है. सीएम ने कहा कि इस पर अंतिम फैसला कैबिनेट की बैठक में लिया जाएगा.

हिमाचल में 12वीं में करीब 1.10 लाख छात्र हैं, जिनकी परीक्षाओं को लेकर फैसला होना अभी बाकी है. स्कूल शिक्षा बोर्ड ने परीक्षाओं को लेकर तैयारियां भी पूरी कर दी थीं, लेकिन कोरोना के चलते परीक्षाओं को स्थगित किया गया है. स्कूल शिक्षा बोर्ड ने प्रदेशभर में इन परीक्षाओं के लिए 1750 परीक्षा केंद्र भी बनाए थे. अब ये तय माना जा रहा है कि छात्रों को सीबीएसई की तर्ज पर छात्रों को प्रमोट किया जाएगा. 5 जून को होने वाली कैबिनेट की बैठक में औपचारिक घोषणा की जाएगी. बैठक में शैक्षिणक संस्थानों को खोलने को लेकर भी चर्चा होगी. हालांकि, इसकी उम्मीद कम ही है कि संस्थान खोले जाएंगे. कॉलेज की परीक्षाओं को लेकर भी चर्चा की जाएगी. प्रदेश में फिलहाल ऑनलाइन पढ़ाई को जारी रखने के आदेश हैं. यह भी बताते चलें कि छात्रों को प्रमोट करने को लेकर शिक्षा विभाग ने जिलों के अधिकारियों के साथ भी चर्चा की है.

क्या बोले शिक्षा मंत्री

शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर (Govind Singh Thakur) ने कुल्लू में कहा कि पीएम मोदी से मीटिंग हुई है और उन्होंने कहा कि इस महामारी के दौर में बच्चों के जीवन की सुरक्षा जरूरी है और पढ़ाई भी जरूरी है. इसके लिए इस बार सीबीएसई की परीक्षाओं को रद्द करने का निर्णय लिया गया है और छात्रों को प्रमोट करने का निर्णय लिया गया है. उन्होंने कहा कि 5 जून को कैबिनेट मीटिंग में 12वीं के छात्रों की परीक्षाओं को लेकर फाइनल निर्णय लिया जाएगा. प्रदेश में परीक्षाओं को लेकर बच्चों की सेहत और उनके जीवन की सुरक्षा के मध्यनजर निर्णय लिया जाएगा. छात्रों की पढ़ाई जरूरी है लेकिन इस महामारी से बचाव को लेकर भबिष्य की चिंता करना बहुत जरूरी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज