धोनी विवाद पर बोले सीएम जयराम, माही स्टेट गेस्ट हैं, सरकार नहीं दे रही रहने का खर्च

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सुखविन्द्र सिंह सुक्खू ने कहा कि दूसरे खेलों से संबंधित खिलाड़ियों को प्रदेश सरकार न तो इनाम देती है और न ही सम्मान. लेकिन क्रिकेट से संबंधित महेंद्र सिंह धोनी को आखिर किस नियम के तहत स्टेट गेस्ट का दर्जा दिया गया?

News18 Himachal Pradesh
Updated: August 30, 2018, 9:49 AM IST
धोनी विवाद पर बोले सीएम जयराम, माही स्टेट गेस्ट हैं, सरकार नहीं दे रही रहने का खर्च
सीएम जयराम ठाकुर
News18 Himachal Pradesh
Updated: August 30, 2018, 9:49 AM IST
हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बुधवार को विधानसभा में कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ ‘राजकीय अतिथि’ की तरह बर्ताव किया जा रहा है लेकिन उनकी सरकार सुरक्षा के अलावा उन पर कोई राशि खर्च नहीं कर रही है.

विधानसभा में देहरा के विधायक होशियार सिंह ने इस मुद्दे पर चर्चा शुरू की. चर्चा का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ठाकुर ने कहा, ‘धोनी 27 से 31 अगस्त के बीच पांच दिनों के लिए शिमला में हैं और राज्य सरकार ने उन्हें पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराई है.’

बता दें, एक ऐड की शूटिंग के लिए भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अपनी पत्नी साक्षी के साथ 27 अगस्त को शिमला पहुंचे थे. वह शिमला में 31 अगस्त तक रहेंगे.

सीएम ने कहा कि धोनी एक विज्ञापन की शूटिंग के सिलसिले में शिमला में हैं. सीएम जयराम ने कहा, "मैं यह स्पष्ट कर दूं कि यहां धोनी के ठहरने पर कोई राशि नहीं खर्च की गई है. राज्य सरकार द्वारा उन्हें सिर्फ सुरक्षा मुहैया करायी गई है और उनके जैसे मशहूर व्यक्ति के लिए यह आवश्यक है."

जब शिमला में धोनी ने दौड़ाई बाइक..


इसके पहले विपक्ष ने आरोप लगाया था कि धोनी की यात्रा के लिए सरकारी खर्च किया गया है. कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सुखविन्द्र सिंह सुक्खू ने कहा कि दूसरे खेलों से संबंधित खिलाड़ियों को प्रदेश सरकार न तो इनाम देती है और न ही सम्मान. लेकिन क्रिकेट से संबंधित महेंद्र सिंह धोनी को आखिर किस नियम के तहत स्टेट गेस्ट का दर्जा दिया गया?
Loading...
कांग्रेस के आरोपों पर खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने पलटवार करते हुए गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस नहीं चाहती है कि ऐसी प्रतिभाएं हिमाचल में आए. ऐसे मामले में राजनीति नहीं होनी चाहिए. हिमाचल की छवि बाहर अच्छी जानी चाहिए. कांग्रेस अपने समय को याद करे, जब हिमाचल की बेटी कंगना और प्रीति जिंटा को पहले ब्रैंड एंबेसडर बनाने की बात की, लेकिन बाद में उन्हें नहीं बनाया.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर