कोटखाई गैंगरेप और मर्डर: गवाह का दावा, जहां सूरज की हत्या हुई वहां मौजूद थे IG जैदी

कोटखाई गैंगरेप और मर्डर (Kotkhai Gangrape and Murder) में सीबीआई की विशेष अदालत में गवाही हुई. आईजी जहूर जैदी के ड्राइवर ने बताया कि गैंगरेप के आरोपी सूरज की हत्‍या के वक्‍त वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारी घटनास्‍थल पर मौजूद थे.

News18 Himachal Pradesh
Updated: September 4, 2019, 12:34 PM IST
कोटखाई गैंगरेप और मर्डर: गवाह का दावा, जहां सूरज की हत्या हुई वहां मौजूद थे IG जैदी
कोटखाई गैंगरेप से जुड़े सूरज हत्या के आरोपी पूर्व आईजी जहूर जैदी. (फाइल फोटो)
News18 Himachal Pradesh
Updated: September 4, 2019, 12:34 PM IST
शिमला. हिमाचल प्रदेश के कोटखाई गैंगरेप और मर्डर (Kotkhai Gangrape and Murder Case) केस में अहम बात सामने आई है. इस मामले से जुड़े सूरज हत्याकांड को लेकर मंगलवार को पंचकूला जिला अदालत की सीबीआई (CBI Court) कोर्ट में सुनवाई हुई. इस दौरान कुल छह लोगों ने गवाही दी. सभी गवाहों ने पीड़ित पक्ष की गवाही का समर्थन किया.

जैदी के ड्राइवर का बयान
अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, सुनवाई में मुख्य आरोपी आईजी जहूर एच. जैदी (IG Jahoor H Jaidee) के ड्राइवर सनम गुरु नेगी की भी गवाही हुई. उसने बताया कि 11 जुलाई 2017 को वह जैदी को लेकर कोटखाई के उस स्थान पर गया था, जहां से गुड़िया का शव बरामद हुआ था. अगले दिन वह जैदी को कोटखाई थाने लेकर गया. उसी दिन दोपहर को दोनों कोटखाई में पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस गए. यहां पर मामले के सभी आरोपियों को रखा गया था. इन आरोपियों में सूरज सिंह भी शामिल था. ड्राइवर ने यह भी कहा कि 13 जुलाई तक जैदी वहां मौजूद थे, जहां सूरज की मौत हुई थी.

डॉक्टर की भी हुई गवाही

इसके बाद डॉक्टर अभिषेक अस्थुल की गवाही हुई. उन्होंने कहा कि कोटखाई के पूर्व एसएचओ सूरज की डेड बॉडी लेकर उनके पास पहुंचे थे. एसएचओ ने कहा था कि सूरज और अन्य आरोपियों का झगड़ा हुआ था. हाथापाई में सूरज बेहोश हो गया था. जब डॉक्‍टर ने सूरज की जांच की तो ईसीजी मशीन में सीधी लाइन दिख रही थी. उसके बाद डॉक्टर ने उसे डेड घोषित कर दिया था. इसके अलावा चार अन्य गवाहों ने भी पीड़ित पक्ष की गवाही का समर्थन किया.

यह है मामला
गौरतलह है कि शिमला से 60 किलोमीटर दूर कोटखाई में 4 जुलाई 2017 को एक स्कूली छात्रा लापता हो गई थी. दो दिन बाद जंगल से उसका शव बरामद हुआ था. इस मामले में पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार किया. इनमें एक आरोपी सूरज था, जिसकी कोटखाई थाने में 18 जुलाई 2017 को हत्या कर दी गई. सीबीआई जांच में सामने आया कि सूरज की मौत पुलिस टॉर्चर के कारण हुई थी.
Loading...

Shimla Kotkhai Gangrape and murder
सूरज हत्या के आरोपी आईदी जैदी. (फाइल फोटो)


पूरी पुलिस एसआईटी गिरफ्तार
सूरज हत्याकांड (Shimla Suraj Murder Case) में 29 अगस्त 2017 को सीबीआई टीम ने आईजी जहूर जैदी, शिमला के पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी, ठियोग डीएसपी मनोज जोशी, कोटखाई के पूर्व एसएचओ राजिंदर सिंह, एएसआई दीप चंद, हेड कांस्टेबल सूरत सिंह, मोहन लाल, रफिक अली और कांस्टेबल रंजीत को गिरफ्तार किया था. इनके खिलाफ शिमला की सीबीआई कोर्ट में केस चल रहा था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने केस को चंडीगढ़ ट्रांसफर कर दिया था. वहीं, गुड़िया गैंगरेप और मर्डर मामला शिमला में विचाराधीन है. इस मामले में सीबीआई ने एक आरोपी गिरफ्तार किया है.

ये भी पढ़ें: जयराम ठाकुर हवा वाले CM, उन्हें हेलिकॉप्टर में घूमना पंसद: विक्रमादित्य सिंह

हिमाचल में सौर ऊर्जा प्लांट के लिए 1000 करोड़ के MoU, 1700 को मिलेगा रोजगार

अश्लील वीडियो कहीं और का, बवाल मंडी में, परेशान महिला ने करवाई FIR

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 10:30 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...