SP मंडी की चिट्ठी पर क्यों चिढ़ गए IGMC शिमला के MS डॉ. जनक? FB पर लिखी लंबी-चौड़ी पोस्ट
Shimla News in Hindi

SP मंडी की चिट्ठी पर क्यों चिढ़ गए IGMC शिमला के MS डॉ. जनक? FB पर लिखी लंबी-चौड़ी पोस्ट
आईजीएमसी शिमला के एमएस जनक राज और एसपी मंडी गुरदेव शर्मा.

कोरोना पॉजिटिव भाजपा प्रवक्ता से मिलने पर उन्होंने स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा कि वह उनके ऑफिस में 15 जुलाई से पहले आए थे. उसके बाद वह नवबहार में कोरोना पॉजिटिव चालक से मिले थे. शायद, वहीं से उन्हें कोरोना हुआ हो. लेकिन नियमों का पालन करते हुए वह फिर भी होम क्वारन्टीन हैं.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के एसपी (SP Mandi) की चिट्ठी पर सूबे के सबसे बड़े अस्पताल और मेडिकल कॉलेज आईजीएमसी (IGMC) के मेडिकल सुपरिंटेडेंट आमने सामने हो गए है. इस संबंध में फेसबुक (Facebook) पर एमएस डॉक्टर जनक राज (Dr. Janak Raj) ने एक लंबा-चौड़ा पोस्ट लिखा है. इसमें कोरोना नियमों की बात और सफाई दी. चिट्ठी में एसपी ने कहा कि एमएस भाजपा नेता के प्राइमरी कॉन्ट्रेक्ट में थे.

यह है पूरा मामला
दरअसल, मंडी से बीजेपी प्रवक्ता को कोरोना हुआ है. वह इस बीच 15 जुलाई को आईजीएमसी अस्पताल के एमएस डॉ. जनक राज और प्रिंसिपल डॉ रजनीश पठानिया से मिले थे. मंडी के एसपी ने इस संबंध में शिमला पुलिस को भाजपा प्रवक्ता की ट्रैवल और क़ॉन्टैक्ट हिस्ट्री के बारे में पत्र लिखा. इस में एमएस के साथ मुलाकात का भी जिक्र था. बस क्या था, इसी बात पर डॉक्टर जनक चिढ़ गए और फेसबुक पर लंबी चौड़ी पोस्ट लिख डाली. हालांकि, एहतियात के तौर पर एमएस समेत सभी डॉक्टर्स होम क्वारन्टीन हो गए हैं. आईजीएमसी के प्रिंसिपल डॉ. रजनीश पठानिया गुरुवार से क्वारंटाइन हैं. हालांकि, डॉ. जनकराज अस्पताल आए थे और बाद में होम क्वारन्टीन हो गए.

एमएस की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव
फेसबुक पर डॉ. जनक ने बताया कि उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है और वो एहतियातन होम क्वारंटाइन में हैं. डॉ. जनकराज का कहना है कि वो रोजाना कई लोगों से मिलते हैं, मगर वह मास्क लगाकर रखते हैं. जरूरी हिदायतों का पालन कर रहे हैं.



भाजपा प्रवक्ता से मुलाकात पर सफाई
कोरोना पॉजिटिव भाजपा प्रवक्ता से मिलने पर उन्होंने स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा कि वह उनके ऑफिस में 15 जुलाई से पहले आए थे. उसके बाद वह नवबहार में कोरोना पॉजिटिव चालक से मिले थे. शायद, वहीं से उन्हें कोरोना हुआ हो. लेकिन नियमों का पालन करते हुए वह फिर भी होम क्वारन्टीन हैं. वहीं मामले को लेकर कुछ सवाल भी हैं. से आए बीजेपी नेता की कोविड की रिपोर्ट 22 जुलाई को ही पॉज़िटिव आ चुकी थी तो ये जानकारी क्यों नहीं दी गई कि वह आईजीएमसी अस्पताल भी गए थे. वहीं, 22 जुलाई को ही एमएस और प्रिंसिपल होम क्वारन्टीन क्यों नहीं हुए? भले ही डॉ जनक की कोविड की रिपोर्ट नेगेटिव आ गई थी, लेकिन गुरुवार को मंडी पुलिस अधीक्षक की रिपोर्ट आने के बाद ही एमएस क्वारन्टीन क्यों हुए? वहीं मंडी पुलिस अधीक्षक के अनुसार एमएस और प्रिंसिपल कोविड पॉजिटि के प्राइमरी कांटेक्ट में थे, जबकि एमएस डॉ. जनक का कहना है कि वो बीजेपी नेता संक्रमित होने से पहले उनसे मिले हैं.

शिमला में गुरुवार को एक केस
शिमला में कुल मामलों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है. कुल मामले बढ़ कर अब 121 हो गए हैं. 68 एक्टिव केस हैं. गुरुवार को शिमला के रामपुर में ज्यूरी में आईटीबीपी का जवान पॉज़िटिव हुआ है. जिला उपायुक्त अमित कश्यप के अनुसार 23 जुलाई को देर रात तक शिमला के आईजीएमसी अस्पताल में करीब 225 सैंपल कोविड टेस्ट के लिए भेजे गए थे, जिसमें जवान की रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है और सभी सैम्पल नेगेटिव हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज