लाइव टीवी

IGMC जल्द शुरु करेगा ई कोर्ट एविडेंस पोर्टल, लाखों की हो रही बचत

Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 6, 2019, 5:31 PM IST
IGMC जल्द शुरु करेगा ई कोर्ट एविडेंस पोर्टल, लाखों की हो रही बचत
आईजीएमसी

आईजीएमसी में डॉक्टरों को एक ओर जहां वीडियो कांफ्रेंसिंग से कोर्ट के चक्कर से छुटकारा मिल रहा है. वहीं दूसरी ओर डॉक्टरों के टीए और डीए पर होने वाले लाखों रुपयों की बचत भी हो रही है.

  • Share this:
हिमाचल प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल में आईजीएमसी में डॉक्टरों को एक ओर जहां वीडियो कांफ्रेंसिंग से कोर्ट के चक्कर से छुटकारा मिल रहा है. वहीं दूसरी ओर डॉक्टरों के टीए और डीए पर होने वाले लाखों रुपयों की बचत भी हो रही है. अब तक आइजीएमसी में ही पांच सौ के करीब कोर्ट एविडेंस वीडियो कांफ्रेंसिंग से हो चुकी है. वहीं अब जल्द ही आइजीएमसी प्रशासन द्वारा ई कोर्ट एविडेंस वेब पोर्टल तैयार किया जा रहा है. इस वेब पोर्टल पर डॉक्टर कोर्ट के समन से संबंधित रिकॉर्ड को अब आसानी से अपलोड कर सकेंगे. वीडियो कांफ्रेंस में जब इस रिकॉर्ड की जरूरत पड़ेगी तो टेलीमेडिसिन यूनिट इसे मौके पर ही उपलब्ध करवा देगी.

समन का रिकॉर्ड रखने के लिए तैयार किया गया वेब पोर्टल

आईजीएमसी के ई ब्लॉक स्थित टेलीमेडिसिन यूनिट ने समन के रिकॉर्ड रखने को लेकर ई कोर्ट एविडेंस नाम से लिंक तैयार किया है. जल्द ही इस लिंक को आईजीएमसी की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जाएगा. डॉक्टर अब आसानी से समन से संबंधित जानकारी लोड कर सकेंगे. डॉक्टरों को कोर्ट एविडेंस को लेकर होने वाली परेशानियों से अब पूरी तरह छुटकारा मिलने की उम्मीद है.

इससे डॉक्टरों के समय की बचत भी होगी

टेलीमेडिसिन यूनिट में वीडियो कांफ्रेंसिंग (वीसी) के माध्यम से केस से संबंधित जानकारी मौके पर दी जाती थी, लेकिन कोर्ट से आए समन और अन्य रिकॉर्ड रखने को लेकर किसी तरह का इंतजाम नहीं था. आईजीएमसी के एमएस डॉ. जनक राज ने बताया कि हाईकोर्ट के निर्देशों पर यह सुविधा शुरू की जा रही है. इससे जहां डॉक्टरों का समय बचेगा, वहीं रिकॉर्ड भी सुरक्षित रहेगा.

उन्होंने कहा कि वीडियो कांफ्रेंसिंग से एविडेंस की सुविधा से डॉक्टरों का काफी समय बच रहा है. अस्पताल में डॉक्टरों के लिए इस तरह की सुविधा होने से सरकार द्वारा ट्रेवलिंग अलाउंस पर खर्च होने वाले लाखों रुपये का खर्च भी बच रहा है. इसका सीधा फायदा मरीजों को हुआ है. वीडियो कांफ्रेंसिंग के पांच सौ के करीब कोर्ट एविडेंस अब तक किए जा चुके हैं. अब ई कोर्ट एविडेंस वेब पोर्टल भी शुरू किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें: सुंदरनगर को नीदरलैंड बनाने की मुहिम फेल, शहर में चारों ओर फैला कचराBJP के सतपाल सत्ती ने दिया विवादित बयान, चुड़ैल से कर डाली कांग्रेस की तुलना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 6, 2019, 5:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर