Indian Idol-10: मां नहीं चाहती थी कि गायकी को पेशा बनाए हिमाचल का अंकुश, बना रनरअप

अंकुश की इस उप्लब्धि से अंकुश के गांव, घर और परिवार वाले खुश हैं. कहते हैं कि दशहरे पर गाना गाने वाला लड़का आज इंडियन आइडल के जरिये इस मुकाम तक पहुंचा है.

News18 Himachal Pradesh
Updated: December 24, 2018, 12:53 PM IST
Indian Idol-10: मां नहीं चाहती थी कि गायकी को पेशा बनाए हिमाचल का अंकुश, बना रनरअप
अंकुश भारद्वाज हाल ही में अपने गांव आए थे. (फाइल फोटो)
News18 Himachal Pradesh
Updated: December 24, 2018, 12:53 PM IST
हिमाचल के छोटे से गांव का लड़का, जिसने एक सपना देखा कि उसकी आवाज के जादू की दिवानी दुनिया बनेगी. हुआ भी ऐसा ही. इंडियन आइडल-10 के मंच पर हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले के अंकुश भारद्वाज ने अपनी मखमली आवाज का लोहा मनवाया है. हालांकि, वह खिताब जीतने से महज एक कदम दूर रह गया, लेकिन उसने अपनी आवाज से हर किसी को अपना दीवाना बनाया. हिमाचल प्रदेश के शिमला के कोटगढ़ का अंकुश इंडियन आइडल के सीजन 10 में रनरअप रहा.

आंखों की गंभीर बीमारी से जूझ रहा


अंकुश आंखों की बीमारी केरोटोकोनस आई डिसऑडर से भी जूझ रहा है, लेकिन फिर भी उसने हौंसला नहीं छोड़ा और आज वह इस मुकाम पर पहुंचा. कोटगढ़ के लोस्टा गांव का रहने वाले अंकुश बचपन से ही गाना गाने का शौक है, लेकिन किसी बड़े मंच पर अपनी आवाज का जादू दिखाने का मौका नहीं मिला और जब मिला तो उनसे सबको दीवाना बना दिया. पिता सुरेश भारद्वाज ने हमेशा उसका साथ दिया. एक गुरु की तरह उसे सब कुछ सिखाया, लेकिन मां कमलेश को बेटे का गाना गाना गंवारा नहीं था. अंकुश के करियर की चिंता में मां ने हमेशा अंकुश को पढ़ाई की ओर ध्यान देने को कहा. मां सोचती थी कि गाना गाकर अंकुश कभी भी अपना भविष्य नहीं संवार पाएगा.

एमबीए की पढ़ाई की

अंकुश ने अपनी मां के लिए एमबीए फाइनेंस की पढ़ाई भी की, लेकिन गाने का शौक कभी नहीं छोडा. इसलिए अंकुश ने अपनी मां को एक दिन कमरे में बंद कर बाहर ताला लगाया और इंडियन आयडल की ऑडिशन के लिए मुम्बई जा पहुंचा. इस मुकाम पर अपने बेटे को देख का अंकुश की मां को आज अपने बेटे के फैसले पर गर्व होता है. एक छोटे से गांव से निकल कर जहां सुविधाओं को इतना अभाव है, संगीत के बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं है, वहां से बाहर निकल उसने खुद को साबित किया है.

जिद के आगे सब हारे
जब अंकुश पढ़ाई कर रहा था तो करीब चार साल पहले उसे एक दिन आंखों से कम दिखाई देने लगा. डॉक्टरी जांच में पता चला कि उसे केरोटोकोनस नाम की बीमारी है, जिसमें आंखों की रोशनी धीरे धीरे कम हो जाती है. अंकुश के माता पिता को अंकुश की आंखों की चिंता होने लगी, ऐसे में अंकुश के इंडियन आइडल में जाने के फैसले को अंकुश की मां को पसंद न आया.
Loading...

मां को हमेशा यही चिंता था कि अगर अंकुश वहां से बाहर मुम्बई चला गया तो वह अपनी आंखों का इलाज नहीं कर पाएगा. लेकिन अंकुश की जिद के आगे किसी की न चली. इसलिए मां को कमरे में बंद कर वो अपने सपने को पूरा करने निकल पड़ा. आज जब भी अंकुश टीवी पर गाता है तो मां को अपने बेटे के फैसले पर खुशी होती है.

दशहरे के मंच से गाना शुरू किया था
अंकुश की इस उप्लब्धि से अंकुश के गांव, घर और परिवार वाले खुश हैं. कहते हैं कि दशहरे पर गाना गाने वाला लड़का आज इंडियन आइडल के जरिये इस मुकाम तक पहुंचा है. ऐसे में गांव के और युवा भी अंकुश से प्रेरणा ले रहे हैं संगीत में अपना करियर बनाने के बारे में सोच रहे हैं. अंकुश के पिता सुरेश भारद्वाज अपने बेटे को आज इस मुकाम पर पहुंच कर देख काफी खुश हैं. क्योंकि अंकुश ने उनका सपना पूरा किया है.

पिता रेडियो पर गाते थे गाना
सुरेश बताते हैं कि वो भी रेडियो में गाना गाया करते थे लेकिन अपनी आवाज को कभी बडे मंच पर प्रस्तुत न कर पाए इसलिए अपने बेटे गुरु बनकर संगीत की तालीम दी. हाल ही में शिमला आए अंकुश ने न्यूज18 से बातचीत में कहा था कि इंडियन ऑडल के इस मुकाम तक पहुंचने के लिए उन्होंने काफी संघर्ष करना पड़ा. अंकुश ने बताया कि आंखों की बीमारी की कारण उन्हें देखने में परेशानी होती है. यहां तक पहुंचने में उनके पिता का बहुत बड़ा हाथ है.

हिमाचल का ही नितिन टॉप- में रहा

हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले का युवक नितिन इंडियन आइडल-10 में टॉप फाइव में रहा. नितिन भी ग्रैंड फिनाले में पहुंचा था, लेकिन वह भी खिताब नहीं जीत सका.

ये भी पढ़ें : ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगा रहे शख्स की धुनाई, पुलिस ने किया गिरफ्तार

बाइक पर लिखवाया था ‘पाक की दीवानी’, ग्रामीणों ने जमकर की धुनाई, गिरफ्तार

हाईवे-21 पर नाके पर युवती-युवक से चिट्टा और चरस बरामद, गिरफ्तार

पुल से गंबर नदी में गिरा ट्रक, एक ही गांव के तीन लोगों की मौत

VIDEO: रोहतांग दर्रा पार कराने के लिए शुरू हुई हेलीकॉप्टर सेवा

VIDEO: क्रिसमस और न्यू ईयर में सैलानियों के स्वागत के लिए सजी मनाली, तैयारियां पूरी
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार