‘जल से कृषि को बल’ योजना पर खर्च होंगे 250 करोड़ : महेन्द्र सिंह ठाकुर

सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार ने एक नई योजना ‘जल से कृषि को बल’ आरंभ की है जिसमें अगले पांच वर्षों के दोरान 250 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे. इस योजना के तहत प्रदेशभर में चेक डैम एवं तालाबों का निमा्रण किया जाएगा.


Updated: May 17, 2018, 6:29 PM IST
‘जल से कृषि को बल’ योजना पर खर्च होंगे 250 करोड़ : महेन्द्र सिंह ठाकुर
IPH Minister Mahender Singh Thakur.

Updated: May 17, 2018, 6:29 PM IST
सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा है कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के नेतृत्व में राज्य का कार्यभार संभालते ही प्रदेश सरकार ने किसानों व बागवानों के हितों के दृष्टिगत अंतिम खेत तक पानी पहुंचाने की सोच को मूर्तरूप देने के लिए अनेक सिंचाई योजनाएं बनाई. इन सिंचाई योजनाओं की विस्तृत परियोजना रिपोट तैयार कर इन्हें मंजूरी के लिये केन्द्र सरकार को भेजा गया है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत अगले तीन वित्तीय वर्षों के दौरान राज्य में 17881 हेक्टेयर क्षेत्र में 338 करोड़ लागत की 111 लघु सिंचाई योजनासओं के लिये एक नई इकाई मंजूर की गई है. इसके अलावा बहाव सिंचाई योजना आरंभ की गई है, जिसपर अगले पांच वर्षों में 150 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे.

उन्होंने कहा कि राज्य के सभी भागों के लिये अनेक छोटी-छोटी योजनाएं तैयार कर स्वीकृति के लिए केन्द्र सरकार को भेजी गई हैं.
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर राज्य के लिये विकास की योजनाओं को स्वीकृत करवाने के लिये लगातार प्रधानमंत्री तथा केन्द्रीय मंत्री के संपर्क में हैं और समय-समय पर इन योजनाओं के संबंध में वह केन्द्रीय नेताओं से मिलते हैं.

सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार ने एक नई योजना ‘जल से कृषि को बल’ आरंभ की है जिसमें अगले पांच वर्षों के दोरान 250 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे. इस योजना के तहत प्रदेशभर में चेक डैम एवं तालाबों का निमा्रण किया जाएगा.
News18 Hindi पर Bihar Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Himachal Pradesh News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर