अपना शहर चुनें

States

हिमाचल में ‘जनमंच कार्यक्रम’ का शेड्यूल जारी, 10 जिलों में होगा समस्याओं का निपटारा

हिमाचल प्रदेश में जनमंच.
हिमाचल प्रदेश में जनमंच.

Janmanch Programme in Himachal: हिमाचल में जनमंच को लेकर अच्छा रिस्पांस मिला है. जनमंच के दौरान लोग समस्याएं लेकर आते हैं और अफसरों को आमने-सामने कर समस्या का निपटारा किया जाता है. हालांकि, जनमंच कार्यक्रम विवादों में भी रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2021, 2:19 PM IST
  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में 22वां जनमंच कार्यक्रम 30 जनवरी को 10 जिलों में शुरु होगा. इस संबंध में प्रदेश सरकार ने गुरुवार को अधिसूचना भी जारी कर दी है. किन्नौर (Kinnaur) और लाहौल-स्पीति में जनमंच नहीं होगा. राज्य के ग्रामीण (Rural Areas) विकास विभाग के सचिव की ओर से जनमंच की अधिसूचना जारी की गई है.

इनकी लगी ड्यूटी
जनमंच में चंबा में विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार, सोलन में शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, हमीरपुर में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सरवीण चौधरी, सिरमौर के पांवटा में जनजातीय विकास मंत्री डॉ. मंत्री राम लाल मारकंडा, शिमला के जुब्बल में कृषि मंत्री वीरेंद्र कंवर, कांगड़ा के देहरा में शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर जनमंच करेंगे. इसके अलावा, कुल्लू के मनाली में स्वास्थ्य मंत्री राजीव सैजल, बिलासपुर के नयनादेवी में ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी, मंडी के बल्ह वन मंत्री राकेश पठानिया और ऊना के चिंतपूर्णी में खाद्य आपूर्ति मंत्री राजेंद्र गर्ग लोगों की समस्याएं सुनेंगे.

जनमंच को लेकर जनता का मत
हिमाचल में जनमंच को लेकर अच्छा रिस्पांस मिला है. जनमंच के दौरान लोग समस्याएं लेकर आते हैं और अफसरों को आमने-सामने कर समस्या का निपटारा किया जाता है. हालांकि, जनमंच कार्यक्रम विवादों में भी रहा है. क्योंकि कई मंत्री और नेता कार्यक्रम के दौरान अफसरों को लताड़ते हुए भी नजर आए हैं. ऐसे में विपक्ष ने इसे ‘झाड़मंच’ की संज्ञा भी दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज