Home /News /himachal-pradesh /

जुब्बल-कोटखाई उपचुनाव: एक तरफ सेंटिमेंट्स दूसरी तरफ सरकार की विफलता के मुद्दे

जुब्बल-कोटखाई उपचुनाव: एक तरफ सेंटिमेंट्स दूसरी तरफ सरकार की विफलता के मुद्दे

नरेंद्र बरागटा के बेटे चेतन बरागटा और कांग्रेस से पूर्व सीपीएस रोहित ठाकुर के बीच ही मुकाबला होगा.

नरेंद्र बरागटा के बेटे चेतन बरागटा और कांग्रेस से पूर्व सीपीएस रोहित ठाकुर के बीच ही मुकाबला होगा.

Jubbal Kotkhai by elections: साल 1977 और 1982 के चुनावों में कांग्रेस के राम लाल ठाकुर, 1985 के चुनावों में कांग्रेस से वीरभद्र सिंह, 1990 में जनता दल से राम लाल ठाकुर, 1993 और 1998 में फिर से राम लाल कांग्रेस पार्टी से विधायक रहे, 2003 में रोहित ठाकुर, 2007 नरेंद्र बरागटा, 2012 में फिर से रोहित ठाकुर और 2017 में नरेंद्र बरगटा यहां से विधायक रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

शिमला. हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले में जुब्बल-कोटखाई विधानसभा क्षेत्र के मतदाता को प्रदेश में सबसे समझदार वोटर माना जाता है. यहां से चुना हुआ विधायक सत्ता में ही रहता है, विपक्ष में नहीं. इस विधानसभा क्षेत्र में उप चुनाव के लिए भाजपा और कांग्रेस में टिकट की जंग चल रही है. फिलहाल, ये तय माना जा रहा है इस बार भी सियासी जंग पूर्व मुख्यमंत्री राम लाल ठाकुर और भाजपा के दिवंगत विधायक नरेंद्र बरगटा के परिवार के बीच ही होगी, लेकिन मुकाबला कांटे का होगा, ये भी तय माना जा रहा है. नरेंद्र बरागटा के निधन से ये सीट खाली हुई है.

अब तक माना जा रहा है कि नरेंद्र बरागटा के बेटे चेतन बरागटा और कांग्रेस से पूर्व सीपीएस रोहित ठाकुर के बीच ही मुकाबला होगा. भाजपा से इस क्षेत्र की दिग्गज नेत्री नीलम सरैक फिलहाल टिकट की जंग में बनी हुई है, लेकिन उनको टिकट मिलने की संभावना कम ही नजर आ रही है. बहरहाल, ये देखने में आया है कि चेतन बरागटा और रोहित ठाकुर ने काफी समय पहले से ही यहां चुनावी अभियान शुरू कर दिया था. नरेंद्र बरागटा के निधन के कुछ समय बाद से ही दोनों के जनसंपर्क अभियान और बैठकों की तस्वीरें आनी शुरू हो गईं थी,जोकि अब भी जारी है. मुख्यमंत्री भी यहां का दौरा कर चुके हैं.

क्या रहेंगे मुद्दे
विपक्ष सेब के दामों में गिरावट, सड़कों की खस्ता हालत, महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दों को लेकर जनता के बीच जाएगा, तो वहीं सत्ता पक्ष को उम्मीद है कि सहानुभूति के साथ साथ में किए गए कार्यों के आधार पर जनता का समर्थन मिलेगा. जुब्बल-कोटखाई में कुल 70 हजार 939 वोटर हैं. इसमें सामान्य मतदाता औक सेवा अहर्ता पुरूष वोटरों की संख्या 35 हजार 326 और महिला वोटरों की संख्या 35 हजार 613 है. वोटिंग के लिए 128 मतदान केंद्र बनाए गए हैं जिनमें सहायक मतदान केंद्र 8 हैं. शहरी मतदान केंद्र 3 है और ग्रामीण मतदान केंद्रों की संख्या 125 है. इसमें भी 8 ग्रामीण सहायक मतदान केंद्र हैं.

दो मुख्यमंत्री दिए
इस क्षेत्र से रहे विधायकों की बात करें तो साल 1977 और 1982 के चुनावों में कांग्रेस के राम लाल ठाकुर, 1985 के चुनावों में कांग्रेस से वीरभद्र सिंह, 1990 में जनता दल से राम लाल ठाकुर, 1993 और 1998 में फिर से राम लाल कांग्रेस पार्टी से विधायक रहे, 2003 में रोहित ठाकुर, 2007 नरेंद्र बरागटा, 2012 में फिर से रोहित ठाकुर और 2017 में नरेंद्र बरगटा यहां से विधायक रहे हैं. इस सेब बाहुल इलाके ने दो मुख्यमंत्री दिए हैं. यहां से चुनकर वीरभद्र सिंह और राम लाल ठाकुर मुख्यमंत्री बने हैं.

Tags: BJP, Himachal Congress, Himachal election, Himachal Politics

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर