जानिये कौन हैं कलराज मिश्र, जो आज लेंगे हिमाचल के गवर्नर की शपथ

कलराज मिश्र 2014 बनी मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री थे. 78 वर्षीय कलराज मिश्र बीजेपी के बड़े नेता माने जाते हैं. मोदी सरकार की पहली पारी में उन्हें सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार सौंपा गया था. वे यूपी के देवरिया लोकसभा सीट से चुनाव जीते थे.

G.S. Tomar | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 22, 2019, 9:27 AM IST
जानिये कौन हैं कलराज मिश्र, जो आज लेंगे हिमाचल के गवर्नर की शपथ
हिमाचल के नवनियुक्त गवर्नर कलराज मिश्र का शिमला पहुंचे पर स्वागत करते सीएम जयराम ठाकुर.
G.S. Tomar
G.S. Tomar | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 22, 2019, 9:27 AM IST
हिमाचल के नवनियुक्त राज्यपाल कलराज मिश्र शिमला पहुंच गए हैं. वह सोमवार शाम को सूबे के राज्यपाल के तौर पर शपथ लेंगे. इससे पहले, रविवार को राजभवन शिमला पहुंचने पर नवनियुक्त राज्यपाल कलराज मिश्र का शानदार स्वागत किया गया. इस दौरान सीएम जयराम ठाकुर, शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्धाज, मेयर कुसुम सदरेट सहित कई गणमान्य लोग मौजूद रहे।

राजभवन पहुंचने पर नवनियुक्त राज्यापल का गार्ड ऑफ ओनर दिया गया. उसके बाद सीएम जयराम और शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्धाज के साथ कुछ देर की मंत्रणा के बाद राजभवन में प्रवेश किया.

ये बोले मिश्र
राजभवन पहुंचते ही कलराज मिश्र ने अपने इरादे साफ करते हुए कहा कि संवैधानिक प्रमुख होने के नाते जिम्मेदारियों का निर्वाहन सुनिश्चित किया जाएगा. प्रदेश को विकास में आगे बढ़ाने पर काम किया जाएग. सदन ठीक से चलें और पक्ष-विपक्ष का समुचित विश्वास बनाए रखने के लिए पूरी जिम्मेदारी से काम किया जाएगा. 22 जुलाई को 4.15 बजे नए राज्यपाल को राजभवन में हाईकोर्ट के सीजे वीरामा सुब्रमण्यन शपथ दिलाएंगे, जिसकी तैयारी मुक्कमल की जा चुकी है.

कौन हैं कलराज मिश्र
कलराज मिश्र 2014 बनी मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री थे. 78 वर्षीय कलराज मिश्र बीजेपी के बड़े नेता माने जाते हैं. मोदी सरकार की पहली पारी में उन्हें सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार सौंपा गया था. वे यूपी के देवरिया लोकसभा सीट से चुनाव जीते थे. उन्होंने इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा था. साल 2010 में वह हिमाचल के प्रभारी भी थे.

कलराज मिश्र का राजनीतिक करियर 
Loading...

कलराज मिश्र का काफी लंबा राजनीतिक करियर है. 1977 में वह जनता पार्टी के चुनाव संयोजक बने. 1978 में वह राज्यसभा चुने गए. 1980 में भाजपा की स्थापना के बाद वे भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए गए और कलराज मिश्र राम मंदिर आंदोलन से जुड़े रहे हैं. वे 1191, 1993, 1995 और 2000 में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रहे हैं. बीजेपी में उनका कद बढ़ता गया. 2003 में वे यूपी, और 2004 में राजस्थान और दिल्ली के प्रभारी बने. 2010 में बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष घोषित किए गए. 2012 के विधानसभा चुनाव में विधायक चुने गए. 2014 में देवरिया लोकसभा सीट से सांसद बने. वहीं, 2019 लोकसभा चुनाव में उनके पास पड़ोसी राज्य हरियाणा का प्रभार था.

ये भी पढ़ें: हिमाचल से विदाई: जाते समय भावुक हुए राज्यपाल आचार्य देवव्रत

कल्याण को चैंपियन बनने के लिए फैक्ट्री में करनी पड़ी मजदूरी

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 22, 2019, 9:20 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...