लाइव टीवी

बहुचर्चित कसौली गोलीकांड : विभागीय जांच में 12 पुलिसकर्मी दोषी, कार्रवाई
Shimla News in Hindi

Ranbir Singh | News18 Himachal Pradesh
Updated: January 30, 2020, 12:49 PM IST
बहुचर्चित कसौली गोलीकांड : विभागीय जांच में 12 पुलिसकर्मी दोषी, कार्रवाई
कसौली गोलीकांड को लेकर हुई विभागीय जांच में 2 SHO, 1 इंस्पेक्टर, 2 SI, 2 हेड कॉन्सटेबल और 7 कॉन्सटेबल पर गिरी गाज. (File photo)

विभागीय जांच (Departmental enquiry) में धर्मपुर और कसौली थाने के तत्तकालीन SHO, एक इंस्पेक्टर, दो सब इंस्पेक्टर, दो हेड कॉन्सटेबल और 7 कॉन्सटेबल दोषी (Guilty) पाए गए हैं. इन सभी पर विभागीय कार्रवाई अमल में लाई गई है. इन सभी के 5 साल की सेवा अवधि जब्त (Service period forfeited) की गई है. इसके तहत सेवाकाल के 5 साल के प्रमोशन और पेंशन के लाभ नहीं दिए जाएंगे.

  • Share this:
शिमला. बहुचर्चित कसौली गोलीकांड (Kasauli firing) में हुई विभागीय जांच में 12 पुलिसकर्मी दोषी (Twelve policemen found guilty) पाए गए हैं. जानकारी के मुताबिक पुलिस के आला अधिकारी की अध्यक्षता में हुई विभागीय जांच (Departmental enquiry) में दोषी पाए गए पुलिसकर्मियों ने अपनी ड्यूटी सही से नहीं निभाई और कई मौकों पर लापरवाही बरती. बता दें कि 1 मई 2018 को सोलन के कसौली में अवैध निर्माण गिराने पहुंची असिस्टेंट टाउन प्लानर शैल बाला की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. गोलीबारी के दौरान घायल लोक निर्माण विभाग के एक कर्मचारी ने PGI में दम तोड़ दिया था. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर अवैध निर्माण हटाया जा रहा था. अवैध तरीके से बनाई गई होटल की ऊपरी मंजिल को तोड़ा जा रहा था. इस दौरान प्रशासन के अधिकारियों और पुलिस की मौजदूगी के बीच होटल मालिक विजय कुमार ने गोलियां दागी थी और फिर मौके से फरार हो गया था. पुलिस ने दो दिन बाद आरोपी को मथुरा से पकड़ा था.

सभी के 5 साल की सेवा अवधि जब्त

विभागीय जांच (Departmental enquiry) में धर्मपुर और कसौली थाने के तत्तकालीन SHO, एक इंस्पेक्टर, दो सब इंस्पेक्टर, दो हेड कॉन्सटेबल और 7 कॉन्सटेबल दोषी (Guilgy) पाए गए हैं. इन सभी पर विभागीय कार्रवाई अमल में लाई गई है. इन सभी के 5 साल की सेवा अवधि जब्त (Service period forfeited) की गई है. इसके तहत सेवाकाल के 5 साल के प्रमोशन और पेंशन के लाभ नहीं दिए जाएंगे.

सर्विस वेपन के बिना कर रहे थे ड्यूटी

जांच में खुलासा हुआ है कि कसौली थाने और धर्मपुर थाने के एसएचओ सर्विस वेपन के बिना ही मौके पर ड्यूटी दे रहे थे. गोली चलाने के बाद आरोपी QRT की टीम के सामने से फरार हुआ. उसे तुरंत पकड़ने को लेकर त्वरित कार्रवाई नहीं की गई. इतना ही नहीं पुलिस आरोपी को परवाणु बैरियर में भी नहीं पकड़ पाई. बैरियर पर तैनात पुलिसकर्मियों ने लापरवाही बरती जिसके चलते आरोपी हिमाचल से बाहर भागने में कामयाब हो गया. पुलिस सूत्रों ने इसकी पुष्टि की है.

ये भी पढ़ें - लाहौल स्पीति में भारी बर्फबारी, लोगों ने शुरू की सड़क से बर्फ हटाने की मुहिम

ये भी पढ़ें - मनाली में मौसम हुआ सुहावना, बर्फबारी के बाद पर्यटकों को हो रहा जन्नत का एहसास

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 12:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर