• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • Kinnaur Landslide: नौसेना में लेफ्टिनेंट थे अमोघ, एयरलिफ्ट कर घर पहुंचाया गया शव

Kinnaur Landslide: नौसेना में लेफ्टिनेंट थे अमोघ, एयरलिफ्ट कर घर पहुंचाया गया शव

किन्नौर लैंडस्लाइड में हादसे का शिकार हुए अमोघ बापट नौसेना में थे.

किन्नौर लैंडस्लाइड में हादसे का शिकार हुए अमोघ बापट नौसेना में थे.

Kinnaur Landslides: छतीसगढ़ के सीएम भूपेश वघेल ने दोनों युवाओं के निधन पर शोक जताया और लिखा कि हादसे में प्रदेश के दो युवाओं की मौत हुई है. उन्होंने छतीसगढ़ के अधिकारियों को दोनों के अंतिम संस्कार के निर्देश दिए हैं.

  • Share this:
    शिमला. हिमाचल प्रदेश के जनजातीय जिले किन्नौर में लैंडस्लाइड (Landslides in Kinnaur) का शिकार हुए 9 लोगों में छतीसगढ़ के दो दोस्त भी शामिल थे. इनमें से एक थे इंडियन नेवी में लेफ्टिनेंट अमोघ बापट (27). वह अपने दोस्त सतीश (34) के साथ किन्नौर घूमने आए थे और हादसे में दोनों की जान चली गई. सोमवार सुबह तड़के 8 शवों को दिल्ली (Delhi) भेजा गया है और मंगलवार सुबह चार बजे शव परिजनों के हवाले किए गए हैं.

    राज्य सरकार ने यह जानकारी दी है, अमोघ नौसेना (Indian Navy) में थे, इसलिए उनका शव किन्नौर के कड़छम में सेना के हवाले किया गया था, जहां से उसे एयरलिफ्ट कर छतीसगढ़ भेजा गया है. वहीं, सतीश का श‌व दिल्ली में हिमाचल भवन में मंगलवार सुबह तड़के चार बजे उनके परिजनों को सौंपा गया है.

    अमोघ ने भिलाई इंजीनियरिंग कॉलेज से पढ़ाई की थी और इसके बाद नौसेना के तकनीकी विंग में शामिल हुए थे. उनके कॉलेज के साथी रहे दिल्ली के राजयोगी सूरज राजा ने सोशल मीडिया पर लिखा कि आज मैंने अपने इंजीनियरिंग कॉलेज में साथ रहे दोस्त और नेवी ऑफिसर अमोघ को खो दिया. दिवंगत आत्माओं को ईश्वर शांति प्रदान करे. घायल जल्द स्वस्थ हों. विनम्र श्रद्धांजलि मेरे दोस्त...मिस यू यार.

    दोनों दोस्त साथ आए
    सतीश और अमोघ दोनों दोस्त थे. सतीश यूएस में रहते थे. अवकाश पर अमोघ कोरबा आया था और एक सप्ताह पहले दोनों दोस्त शिमला जाने निकले थे. अमोघ बापट की नेवी में करीब चार साल पहले ज्वाइनिंग हुई थी. उनके पिता प्रशांत बापट छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत कंपनी के हसदेव ताप विद्युत संयंत्र विस्तार परियोजना में अधीक्षण यंत्री हैं. करीब एक पखवाड़े पहले अमोघ छुट्टी पर आया था. मीडिया रिपोर्ट्स कहती हैं कि 18 जुलाई को वह इंदौर में नानी के घर रवाना हुआ. उसके साथ जांजगीर-चांपा जिले में रहने वाले दोस्त सतीश कटकवार (34) के साथ हिमाचल आए.

    छतीसगढ़ के सीएम ने जताया शोक
    छतीसगढ़ के सीएम भूपेश वघेल ने दोनों युवाओं के निधन पर शोक जताया है. उन्होंने छतीसगढ़ के अधिकारियों को दोनों के अंतिम संस्कार के निर्देश दिए हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज