किसान सभा का आरोप, APMC आढ़तियों से मिलकर लूट रही है बागवानों को

Ranbir Singh | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 26, 2019, 11:04 PM IST
किसान सभा का आरोप, APMC आढ़तियों से मिलकर लूट रही है बागवानों को
किसान सभा का आरोप - सड़कों पर हो रहे कारोबार में किसानों का काफी बड़े पैमाने पर शोषण हो रहा है.

सेब बागवानों के मुद्दों को लेकर किसान सभा और एपीएमसी एक बार फिर से एक दूसरे के आमने सामने हैं. किसान सभा लगातार आरोप लगा रही है कि मंडियों में बागवानों का शोषण किया जा रहा है.

  • Share this:
सेब बागवानों के मुद्दों को लेकर किसान सभा (Kisan Sabha) और एपीएमसी (APMC) एक बार फिर से एक दूसरे के आमने सामने हैं. किसान सभा लगातार आरोप लगा रही है कि मंडियों में बागवानों का शोषण (Exploitation of farmers) किया जा रहा है. साथ ही सड़क पर कारोबार करने वाले आढ़ती सेब बागवानों को लूट रहे हैं. इसके साथ ही कई स्थानों पर 'अंडर-हैंड' बोली भी लगाई जा रही है. किसान सभा का आरोप है कि एपीएमसी और आढ़तियों के बीच मिलीभगत से बागवानों को लूटा जा रहा है और उनकी शिकायतों पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है. सैकड़ों बागवान ऐसे हैं जिनके पैसे अब तक वापस नहीं मिल पाए हैं.



इस बारे में किसान सभा के नेता संजय चौहान ने कहा कि सड़कों पर हो रहे कारोबार में किसानों का बड़े पैमाने पर शोषण हो रहा है. यहां किसानों को लूटा जा रहा है. उन्होंने कहा कि किसानों को तुरंत भुगतान करने के लिए सरकार कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है.

वहीं दूसरी ओर शिमला-किन्नौर एपीएमसी के अध्यक्ष नरेश शर्मा ने किसान सभा के सभी आरोपों को निराधार बताया है. नरेश शर्मा ने कहा कि उनके दफ्तर में जो भी शिकायत आती है उसे उसी दिन सुनी जाती है. फिर 6 दिन के अंदर उसे एसआईटी को रेफर कर दिया जाता है. उनके दफ्तर में आई शिकायतों पर त्वरित कार्रवाई की गई है. उन्होंने कहा कि किसान सभा अखबारों में बने रहने के लिए इस तरह की बयानबाजी कर रही है.

ये भी पढ़ें - हिमाचल के शिमला में बादल फटा, मणिमहेश यात्रा भी रोकी

ये भी पढ़ें - झांकियां देखने के दौरान लापता हुए दोनो बच्चे भरमाड़ में मिले

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 26, 2019, 3:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...