हिमाचल से हैं भारत-इंग्लैंड T-20 मैच से चर्चाओं में आए थर्ड अंपायर रहे वीरेंद्र शर्मा

थर्ड अंपायर वीरेंद्र शर्मा (Virender Sharma) की अंपायरिंग पर सवाल.

Third Umpire Virender Sharma: हमीरपुर के वीरेंद्र शर्मा को घरेलू क्रिकेट में अच्छी अंपायरिंग के लिए बीसीसीआई ने 2018-19 सत्र का बेस्ट अंपायर घोषित किया था. 2016 में मुंबई और यूपी के बीच खेले गए मुकाबले में साथी अंपायर के बीमार पड़ने से उन्होंने दोनोंं छोर से अंपायरिंग की थी.

  • Share this:
शिमला. गुजरात के अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम (Narender Modi Stadium) में खेले गए चौथे टी-टवेंटी (T-20 Match) मुकाबले में बेशक भारत ने इंग्लैंड को आठ रन से हरा दिया, लेकिन इस मैच में अंपायरिंग को लेकर कई सवाल उठे हैं. मैच के दौरान थर्ड अंपायर (Umpire) के दो फैसलों पर जमकर आलोचना हुई है. मैच के हीरो रहे सूर्य कुमार यादव (Surya Kumar Yadav) और वॉशिंगटन सुंदरम के सॉफ्ट सिगनल को लेकर सवाल उठाए गए हैं. थर्ड अंपायर वीरेंद्र शर्मा (Virender Sharma) की अंपायरिंग पर चर्चाएं चली हैं.

दरअसल, मैच में हिमाचल के वीरेंद्र शर्मा बतौर अंपायर तैनात थे. वह हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के पुरली गांव से आते हैं. ग्यारह सितंबर, 1971 को उनका जन्म हुआ है. बीसीसीआई के एलीट पैनल और आईसीसी के पैनल में उन्हें शामिल किया गया है. अंपायरिंग से पहले वह रणजी खिलाड़ी रह चुके हैं. हिमाचल की ओर से उन्होंने 50 रणजी मैच खेले हैं. फर्स्ट क्लास क्रिकेट में दो शतक और आठ अर्धशतक उनके नाम हैं. उन्होंने फर्स्ट क्लास और लिस्ट-ए मैचों में 1899 रन बनाए हैं. बाद में उन्होंने अंपायरिंग में करियर शुरू किया.

कब किया था डेब्यू
वीरेंद्र ने ट्वैंटी- ट्वैंटी मैचों में अपायरिंग में अपना डेब्यू 10 जनवरी 2020 को भारत और श्रीलंका के बीच खेले गए मैच में किया था. इसके एक हफ्ते बाद उन्होंने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए वन-डे मैच में पहली बार अपायरिंग की थी.

वीरेंद्र शर्मा को घरेलू क्रिकेट में अच्छी अंपायरिंग के लिए बीसीसीआई ने 2018-19 सत्र का बेस्ट अंपायर घोषित किया था. (FILE PHOTO)


बेस्ट अंपायर भी रहे
वीरेंद्र शर्मा को घरेलू क्रिकेट में अच्छी अंपायरिंग के लिए बीसीसीआई ने 2018-19 सत्र का बेस्ट अंपायर घोषित किया था.रोचक बात है कि साल 2016 में मुंबई और उत्तर प्रदेश के बीच खेले गए मुकाबले में जब साथी अंपायर मैच के दौरान बीमार पड़ गए थे तो मैच के दूसरे दिन वीरेंद्र ने अकेले ही दोनों छोर से अंपायरिंग की थी.

बीसीसीआई कोषाध्यक्ष अरुण धूमल के साथ वीरेंद्र (FILE PHOTO)


अनुराग ठाकुर को बताया था रोल मॉडल
अपने एक इंटरव्यू में उन्होंने केंद्रीय मंत्री और पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर को वीरेंद्र शर्मा अपना रोल मॉडल बताया था और कहा कि क्रिकेट के क्षेत्र में बहुत से लोगों ने उल्लेखनीय योगदान दिया है, लेकिन अनुराग ठाकुर उन सबमें अग्रणी हैं. उन्होंने न केवल हिमाचल बल्कि देश के क्रिकेट को भी नई ऊंचाई देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.