लोकसभा चुनाव 2019: एक क्लिक में पढ़िये, हिमाचल का पूरा चुनावी ब्यौरा!

हिमाचल प्रदेश की सभी विधानसभा क्षेत्रों से भाजपा को जबरदस्त लीड मिली. सूबे में 68 विधानसभा क्षेत्र हैं. यहां 21 पर कांग्रेस और 44 पर भाजपा का कब्जा है. कांग्रेस विधायक अपने-अपने क्षेत्रों में भी पार्टी को लीड दिलाने में नाकामयाब साबित हुए.

News18 Himachal Pradesh
Updated: May 24, 2019, 5:40 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019: एक क्लिक में पढ़िये, हिमाचल का पूरा चुनावी ब्यौरा!
हिमाचल लोकसभा चुनाव 2019.
News18 Himachal Pradesh
Updated: May 24, 2019, 5:40 PM IST
हिमाचल प्रदेश में लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस चारों खाने चित्त हो गई. कांगड़ा, मंडी, शिमला और हमीरपुर से कांग्रेस को करारी हार मिली. हिमाचल से लोकसभा चुनाव के लिए विभिन्न पार्टियों के 45 उम्मीदवार मैदान में थे. कुल पड़े 38,01, 793 मतों का 70 फीसदी भाजपा के खाते में गया है. कुल 37 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई.

चारों सीटें जीती भाजपा


कांगड़ा से भाजपाके उम्मीदवार किशन कपूर ने कांग्रेस के पवन काजल को 4,77,623 मतों से पराजित किया. किशन कपूर को 7,25,218 और पवन काजल को 2,47,595 मत हासिल हुए. किशन कपूर देश भर में सबसे अधिक 70 फीसदी मत प्रतिश हासिल करने वाले नेता बन गए. शिमला से भाजपा के उम्मीदवार सुरेश कश्यप ने कांग्रेस के धनी राम शांडिल को 3,27,515 मतों से पराजित किया. धनी राम शांडिल दो बार सांसद रह चुके हैं. सुरेश कश्यप को 6,06,183, जबकि धनी राम शांडिल को 2,78,668 मत प्राप्त हुए. मंडी से भाजपा के उम्मीदवार राम स्वरूप शर्मा ने कांग्रेस प्रत्याशी आश्रय शर्मा को 4,05,459 मतों से पराजित किया. राम स्वरूप शर्मा को 6,47,189, जबकि आश्रय शर्मा ने 241730 मत प्राप्त किए. वह दूसरी बार संसद पहुंचे. हमीरपुर से अनुराग ठाकुर को 6,68,812 वोट मिले और उन्होंने रामलाल ठाकुर को हराया. रामलाल को 2.81 लाख वोट मिले. अनुराग ने जीत और रामलाल ने हार का चौका लगाया है.

68 विधानसभा क्षेत्रों में लीड

हिमाचल प्रदेश की सभी विधानसभा क्षेत्रों से भाजपा को जबरदस्त लीड मिली. सूबे में 68 विधानसभा क्षेत्र हैं. यहां 21 पर कांग्रेस और 44 पर भाजपा का कब्जा है. कांग्रेस विधायक अपने-अपने क्षेत्रों में भी पार्टी को लीड दिलाने में नाकामयाब साबित हुए. भाजपा नालागढ़ विधानसभा क्षेत्र से प्रदेश में सबसे अधिक लीड मिली. भाजपा के खाते 39970 वोट भाजपा के सुरेश कश्यप को मिले. इसके अलावा, मंडी के रामस्वरूप के घर और आजाद विधायक प्रकाश राणा के विधानसभा क्षेत्र से भाजपा को 36291 वोटों की लीड मिली. वहीं, सीएम जयराम ठाकुर के हलके सराज से भाजपा को 37147 वोटों की लीड मिली. कांगड़ा के फतेहपुर से 31 हजार 506 और नुरपुर से 35,506 वोटों की लीड भाजपा प्रत्याशी को मिली. वहीं, मंडी के बल्ह, जो कांग्रेस का गढ़ था, वहां से भी 33168 वोट की लीड भाजपा ने पाई है.

सभी भाजपा उम्मीदवार रिकॉर्ड मतों से जीत
भाजपा के चारों उम्मीदरवार रिकॉर्ड मतों से जीते. सबसे अधिक 4.77 लाख मतों से कांगड़ा से भाजपा प्रत्याशी किशन कपूर ने जीत हासिल की. इसके अलावा, हमीरपुर से अनुराग ठाकुर ने रामलाल को 3,99,572 वोटों से हराया. मंडी से रामस्वरूप ने आश्रय शर्मा को 4,05,459 वोटों से मात दी. शिमला से सुरेश कश्यप ने धनी राम शांडिल को 3,27,515 वोटों से हराया.
Loading...

2014 में भी सूपड़ा हुआ था साफ
साल 2014 में भी हिमाचल से कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया था. कांग्रेस 4-0 से हारी थी, जबकि प्रदेश में कांग्रेस की ही सरकार थी.अब फिर से भाजपा ने चारों सीटें जीती हैं. 2014 में भाजपा को 53 फीसदी वोट मिले थे, जबकि इस बार 70 फीसदी लोगों ने भाजपा के पक्ष में मतदान किया है.

दादा पोते का अनोखा रिकॉर्ड
मंडी संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी आश्रय ने हारकर नया रिकॉर्ड बनाया है. 1996 लोकसभा चुनाव में आश्रय के दादा पंडित सुखराम ने अदन सिंह को 1,53223 वोटों से हराया था. सुखराम ठाकुर को 1996 में 3,28,186 मत मिले थे, वहीं अदन सिंह को 1,74,963 मत पड़े थे. वहीं, इस बार भाजपा के रामस्वरूप शर्मा ढाई लाख से अधिक मतों से आश्रय शर्मा को मात दे रहे हैं. मंडी सीट पर कुल 17 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे. हालांकि, मुख्य मुकाबला कांग्रेस और भाजपा में ही था. रामस्वरूप शर्मा यहां से दूसरी बार चुनाव जीतकर संसद पहुंचे हैं.

रिकॉर्डतोड़ मतदान हुआ
चुनाव आयोग के अनुसार, इससे पहले, साल 2014 में हिमाचल में 64.45 फीसदी, 2009 में 58.43, 2004 में 59.71 फासदी मतदान हुआ था. पोलिंग बूथों पर मतदाताओं की लंबी कतारें लगी हैं. साल 1977 में 59.56%, 1980 में 58.70%, 1984-85 में 61.45%, 1989 में 63.94%, 1991 में 57.40%, 1996 में 57.58%, 1998 में 65.32%, 1999 56.78%, 2004 में 59.71%, 2009 में 58.43%, 2014 में 64.45% और 2019 में 73 % वोटिंग हुई है. हिमाचल प्रदेश में 53 लाख 30 हजार 154 वोटर्स थे, जिनमें 38 लाख ने वोट डाले थे, जिसमें आधी आबादी महिलाओं की रही.

ये भी पढ़ें- हिमाचल कांग्रेस में मचा घमासान, MLA रायजादा बोले...

हिमाचल लोकसभा चुनाव-19: एक क्लिक में पढ़िये पूरा ब्यौरा!

इस मामले में मोदी-शाह से आगे निकले बीजेपी प्रत्‍याशी

OMG! ऑपरेशन में पेट से निकाले 8 स्पून, 2 ब्रश, पेचकस, 1 चाकू

हिमाचल के कांगड़ा में खाई में गिरी निजी बस, 6 स्टूडेंट घायल

चंबा भूस्खलन: JCB समेत दबा था, 11 दिन बाद मिला रवि का शव
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...