जानिए क्यों, हिमाचल सरकार को हिमकेयर योजना के तहत पंजीकरण करना पड़ा बंद

हिमकेयर योजना के तहत हिमाचल प्रदेश में नि:शुल्क इलाज के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया बंद कर दी गई है. सरकार ने निर्धारित लक्ष्य से ज्यादा पंजीकरण होने के चलते यह फैसला लिया है.

Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 20, 2019, 8:04 PM IST
जानिए क्यों, हिमाचल सरकार को हिमकेयर योजना के तहत पंजीकरण करना पड़ा बंद
विपिन सिंह परमार, स्वास्थ्य मंत्री, हिमाचल सरकार
Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 20, 2019, 8:04 PM IST
हिमकेयर योजना के तहत हिमाचल प्रदेश में नि:शुल्क इलाज के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया बंद कर दी गई है. सरकार ने निर्धारित लक्ष्य से ज्यादा पंजीकरण होने के चलते यह फैसला लिया है. स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने इसकी पुष्टि की है. हालांकि कई स्थानों से अभी भी पंजीकरण जारी रखने की मांग आ रही थी. लेकिन प्रदेश के स्वास्थ्य महकमे ने सवा पांच लाख हिमकेयर कार्ड बनाने का लक्ष्य रखा था जो सवा छह लाख पहुंच गया है. ऐसे में अब कहीं ज्यादा पंजीकरण से योजना को धरातल पर उतारने में दिक्कतें ना पैदा हो जाएं इसलिए पंजीकरण प्रक्रिया रोकने के फरमान स्वास्थ्य विभाग ने जारी कर दिए हैं.

प्रदेश सरकार ने 26 करोड़ रुपये वितरित किए

IGMC-आईजीएमसी
प्रतीकात्मक तस्वीर: स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने कहा कि अब तक हिमकेयर योजना के तहत प्रदेश सरकार ने 26 करोड़ रुपये वितरित किए हैं.


स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने कहा कि अब तक हिमकेयर योजना के तहत प्रदेश सरकार ने 26 करोड़ रुपये वितरित किए हैं. पांच सदस्यों के एक परिवार को पांच लाख तक सालाना मुफ्त इलाज की सुविधा है. हिमाचल में आयुष्मान भारत योजना की तर्ज पर हिमाचल में हिमकेयर योजना चलाई है.

हिमाचल में पहले ही 22 लाख लोग पंजीकृत हैं

हिमाचल में आयुष्मान भारत योजना के तहत पहले ही 22 लाख लोग पंजीकृत हैं. स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार के मुताबिक इस योजना के तहत भी हिमाचल में लोगों ने इलाज करवाना आरंभ कर दिया है, जो लोग आयुष्मान में कवर नहीं हो पाए थे, उन्हें हिमकेयर में कवर किया गया.

यह भी पढ़ें: VIDEO: युवती को अश्लील मैसेज भेजने पर परिजनों ने नाबालिग की धुनाई
Loading...

बरेली से सोलन काम करने आए परिवार का ठेकेदार पर किडनैप का आरोप, तीन बाद पुलिस ने छुड़ाया
First published: July 20, 2019, 7:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...