Home /News /himachal-pradesh /

असिस्टेंट प्रोफसर पर आरोप: शिमला के कोटशेरा कॉलज की छात्रा से छेड़छाड़, आरोपी गिरफ्तार, मिली बेल

असिस्टेंट प्रोफसर पर आरोप: शिमला के कोटशेरा कॉलज की छात्रा से छेड़छाड़, आरोपी गिरफ्तार, मिली बेल

 शिमला में छात्रा से यौन उत्पीड़न का मामला.

शिमला में छात्रा से यौन उत्पीड़न का मामला.

College student Eve Teasing Case in Shimla: डीएसपी हेडक्वार्टर कमल वर्मा ने बताया कि कॉलेज छात्रा की शिकायत पर आरोपी के विरुद्ध आईपीसी की धारा 354-ए व 354-डी के तहत एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई अमल में लाई गई है.सोमवार को आरोपी शिक्षक ने जवाब कमेटी के सामने रखा है. वहीं, साथ ही वह थाने में भी पेश हुआ था. जहां से आरोपी को बेल मिल गई है.

अधिक पढ़ें ...

शिमला. हिमाचल प्रदेश के शिमला (Shimla) शहर के कोटशेरा कॉलेज (Kotshera College Shimla) में छात्रा के साथ यौन उत्पीड़न और छेड़छाड़ का मामला सामने आया है. कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर पर छात्रा से छेड़छाड़ का आरोप लगा है. बालूगंज थाने में एफआईआर दर्ज हुई है. आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. वहीं, थाने से ही बेल भी मिल गई है. कॉलेज की सैक्सुअल हरासमेंट कमेटी ने भी आरोपी प्रोफेसर को नोटिस देकर जवाब मांगा है.

पुलिस के पास दर्ज एफआईआर के अनुसार, शिमला के सरकारी डिग्री कॉलेज कोटशेरा की एक छात्रा ने अपने कॉलेज के एक प्रोफेसर पर यौन उत्पीड़न और छेड़छाड़ का गंभीर आरोप लगाया. आरोप है कि कॉलेज में मैथ्स पढ़ाने वाला एक प्रोफेसर पिछले एक सप्ताह से उसका यौन उत्पीड़न कर रहा है. आरोपी वाट्सएप (सोशल मीडिया) के जरिए उसे मैसेज भेजता है. साथ ही आरोपी प्रोफेसर ने मिलने के लिए उसे अपने कमरे में भी बुलाया, लेकिन उसने मिलने से इनकार कर दिया.

छात्रा के मुताबिक, एक दिसंबर को सुबह 11 बजे के करीब आरोपी प्रोफेसर उसे चौड़ा मैदान में मिला, जहां से वह उसे चक्कर स्थित अपने क्वार्टर ले गया और वहां उसके साथ छेड़छाड़ की. डीएसपी हेडक्वार्टर कमल वर्मा ने बताया कि कॉलेज छात्रा की शिकायत पर आरोपी के विरुद्ध आईपीसी की धारा 354-ए व 354-डी के तहत एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई अमल में लाई गई है.

कॉलेज की सैक्सुअल हरासमेंट कमेटी ने भी शिक्षक को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. पीड़िता छात्रा ने कमेटी को भी शिकायत दी थी. सोमवार को आरोपी शिक्षक ने जवाब कमेटी के सामने रखा है. वहीं, साथ ही वह थाने में भी पेश हुआ था. जहां से आरोपी को बेल मिल गई है.

सैक्सुअल हरासमेंट कमेटी का क्या काम
शिकायत जब भी कमेटी के पास जाए, वो दोनों पक्ष की बात सुनकर और जांच कर ये तय करेगी कि शिकायत सही है या नहीं. सही पाए जाने पर नौकरी से सस्पेंड करने, निकालने और शिकायतकर्ता को मुआवजा देने की सजा दी जा सकती है. शिकायतकर्ता चाहे और मामला इतना गंभीर लगे तो पुलिस में शिकायत किए जाने का फैसला भी किया जा सकता है. अगर शिकायत गलत पाई जाए तो संस्थान के नियम-कायदों के मुताबिक शिकायतकर्ता पर भी कार्रवाई हो सकती है. कानून के तहत काम की जगह पर किसी के मना करने के बावजूद उसे छूना, छूने की कोशिश करना, यौन संबंध बनाने की मांग करना, सैक्सुअल भाषा वाली टिप्पणी करना, पोर्नोग्राफी दिखाना या कहे-अनकहे तरीके से बिना सहमति का सैक्सुअल बर्ताव करना यौन उत्पीड़न माना जाता है.

Tags: Brutal rape, Himachal Police, Shimla, Shimla police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर