हिमाचल के लाहौल घाटी में भारी बर्फबारी से जन-जीवन अस्त-व्यस्त, तापमान में आई गिरावट

बर्फवारी से हर तरफ बर्फ ही बर्फ नजर आ रहा है. सड़कों वाहनों का चलना काफी जोखिम भरा हो गया है. सड़क मार्ग फिसलन भरा होने के कारण वाहन चालक गाड़ी चलाने के लिए मशक्कत कर रहे हैं

बर्फवारी से हर तरफ बर्फ ही बर्फ नजर आ रहा है. सड़कों वाहनों का चलना काफी जोखिम भरा हो गया है. सड़क मार्ग फिसलन भरा होने के कारण वाहन चालक गाड़ी चलाने के लिए मशक्कत कर रहे हैं

जिला प्रशासन ने रोहतांग टनल (Rohtang Tunnel) को पयर्टकों के लाहौल आने पर अस्थाई तौर पर रोक लगा दी है. बताया जा रहा है कि ताजा हिमपात (Snowfall) से हिमस्खलन और चट्टान गिरने का खतरा कई गुणा बढ़ गया है. ऐसे में किसी प्रकार का जान व माल का नुकसान न हो प्रशासन ने एहतियातन कदम उठाया है

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2021, 4:39 PM IST
  • Share this:
लाहौल स्पीती. हिमाचल प्रदेश के लाहौल घाटी (Lahaul Valley) में पिछले दो दिन से रूक-रूक कर बर्फबारी (Snowfall) हो रही है. रात को हिमपात की रफ्तार थमने के बाद मंगलवार सुबह एक बार फिर मौसम ने करवट बदली और बर्फबारी शुरू हो गई जो अभी भी जारी है. इस हिमपात से घाटी के किसान और बागवानी करने वाले खुश नजर आ रहे हैं. लंबे समय से चले आ रहे सूखे से यह बर्फवारी कहीं न कहीं उन्हें राहत देने का काम कर रही है.

दरअसल सर्दियों के दौरान लाहौल घाटी में कम बर्फवारी हुई है जिसके चलते यहां के किसानों और बागवानों के चेहरे पा मायूसी छाई हुई थी. हालांकि खेती-बाड़ी की सीजन शुरू होने के साथ ही हिमपात होने को किसान काफी शुभ मान रहे हैं. वहीं बर्फवारी से हर तरफ बर्फ ही बर्फ नजर आ रहा है. सड़कों वाहनों का चलना काफी जोखिम भरा हो गया है. सड़क मार्ग फिसलन भरा होने के कारण वाहन चालक गाड़ी चलाने के लिए मशक्कत कर रहे हैं.

जिला प्रशासन ने रोहतांग टनल को पयर्टकों के लाहौल आने पर अस्थाई तौर पर रोक लगा दी है. बताया जा रहा है कि ताजा हिमपात से हिमस्खलन और चट्टान गिरने का खतरा कई गुणा बढ़ गया है. ऐसे में किसी प्रकार का जान व माल का नुकसान न हो प्रशासन ने एहतियातन कदम उठाया है.

वहीं ताजा बर्फबारी के बाद घाटी के बसों के कई रूटों को भी अस्थाई तौर पर बंद कर दिया गया है. बस अड्डा प्रबंधन की मानें तो मौसम के अनूकुल होते ही घाटी के तमाम रूटों पर वाहनों की आवाजाही बहाल कर दी जायेगी. (प्रेम लाल की रिपोर्ट)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज