Home /News /himachal-pradesh /

हिमाचल: बर्फबारी के 24 घंटे के बाद भी पटरी पर नहीं लौटी जिंदगी, 612 सड़कें बंद, यातायात प्रभावित

हिमाचल: बर्फबारी के 24 घंटे के बाद भी पटरी पर नहीं लौटी जिंदगी, 612 सड़कें बंद, यातायात प्रभावित

शिमला पुलिस ने वाहन चालकों को सावधानी से गाड़ी चलाने की सलाह दी है.

शिमला पुलिस ने वाहन चालकों को सावधानी से गाड़ी चलाने की सलाह दी है.

Himachal Pradesh News: ताजा हिमपात से शिमला जिला सबसे ज्यादा प्रभावित है. शिमला जिले में 209 सड़कें बंद हैं और 390 ट्रांसफार्मर ठप पड़े हैं. लाहौल-स्पीति में 157 सड़कें, कुल्लू में 69, चंबा में 99, किन्नौर में 20, सिरमौर में 4, सोलन में 3 और मंडी जिले में 51 सड़कें बंद हैं.

अधिक पढ़ें ...

शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में बर्फबारी (Snowfall) के 24 घंटे बाद भी कई इलाकों जिंदगी पटर पर नहीं लौट पाई है. प्रदेश में सैकड़ों मार्ग बंद पड़े हैं. कई इलाके अंधेरे में डूबे हुए हैं और कुछ क्षेत्रों में पीने के पानी की समस्या है. राज्य आपदा प्राधिकरण की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार मंगलवार दोपहर तक प्रदेश में 612 संपर्क मार्ग बंद पड़े हुए थे. 3 नेशनल हाईवे (National Highway) और 1 स्टेट हाईवे बंद है. प्रदेश में 1697 ट्रांसफार्मर ठप हैं और 114 पेयजल योजनाएं प्रभावित हैं. प्रशासनिक अमला सभी सेवाओं को बहाल करने में जुटा हुआ है.

ताजा हिमपात से शिमला जिला सबसे ज्यादा प्रभावित है. शिमला जिले में 209 सड़कें बंद हैं और 390 ट्रांसफार्मर ठप पड़े हैं. लाहौल-स्पीति में 157 सड़कें, कुल्लू में 69, चंबा में 99, किन्नौर में 20, सिरमौर में 4, सोलन में 3 और मंडी जिले में 51 सड़कें बंद हैं. शिमला शहर से लेकर ऊपरी शिमला में कई मार्ग बंद हैं. शिमला जिला प्रशासन का कहना है कि अधिकतर सड़कें मंगलवार शाम तक बहाल कर दी जाएंगी लेकिन सड़कों पर फिसलन होने से वाहन चलाने में परेशानी हो रही है. शिमला पुलिस ने वाहन चालकों को सावधानी से गाड़ी चलाने की सलाह दी है.

सिरमौर जिले में 478 ट्रांसफार्मर ठप पड़े हैं
विद्युत व्यवस्था की बात करें तो चंबा जिले में 273 ट्रांसफार्मर बंद हैं. कुल्लू में 143, किन्नौर में 20, लाहौल-स्पीति में 23, मंडी में 370 और सिरमौर जिले में 478 ट्रांसफार्मर ठप पड़े हैं. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सभी जिला उपायुक्तों को निर्देश दिए हैं कि सबसे पहले जरूरी मार्ग खोले जाएं. उन सड़कों को पहले खोला जाए जहां एंबुलेंस या आपातकालीन सेवाओं की गाड़ियां चलती हैं ताकि मरीजों को अस्पताल ले जाने में परेशानी न हो और आपदा के समय जरूरतमंदों के पास मदद पहुंच सके.

 बिजली व्यवस्था ठप पड़ी है और सम्पर्क मार्ग बंद पड़े
बता दें कि सीएम सोमवार शाम को जिलों के उपायुक्तों के साथ वर्चुअल बैठक कर निर्देश जारी किए थे. वहीं, दूसरी ओर विपक्ष सरकार पर निशाना साध रहा है. कांग्रेस के प्रदेश महासचिव रजनीश किमटा का कहना है कि बर्फबारी के बाद प्रदेश के ऊपरी क्षेत्रों में सड़कों की खस्ता हालत को देख कर भाजपा सरकार की आपदा प्रबंधन की पूरी पोल खुल गई है. उन्होंने कहा कि सीजन की पहली बर्फबारी में ही लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा रहा है. बिजली व्यवस्था ठप पड़ी है और सम्पर्क मार्ग बंद पड़े हैं.

Tags: Himachal pradesh news, Shimla News, Snow fall

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर