Home /News /himachal-pradesh /

हिमाचल: शिमला में कम तीव्रता का भूकंप, 5 किलोमीटर गहराई में था इसका केंद्र

हिमाचल: शिमला में कम तीव्रता का भूकंप, 5 किलोमीटर गहराई में था इसका केंद्र

 उन्होंने कहा कि भूकंप से जानमाल के नुकसान की कोई खबर नहीं है. (सांकेतिक तस्वीर)

उन्होंने कहा कि भूकंप से जानमाल के नुकसान की कोई खबर नहीं है. (सांकेतिक तस्वीर)

जब भूकंप आया उस समय पूरा शहर सो रहा था. ऐसे में लोगों को कम तीव्रता का भूकंप होने के कारण झटके महसूस नहीं हुए. वहीं, अधिकारियों ने बताया कि भूकंप (Earthquake) सुबह चार बजकर लगभग आठ मिनट पर आया था.

    शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की राजधानी शिमला (Shimla) में सोमवार की सुबह कम तीव्रता का भूकंप (Earthquake) महसूस किया गया. भूकंप की तीव्रता 2.1 मापी गई. वहीं, अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि भूकंप सुबह चार बजकर लगभग आठ मिनट पर आया था. यह शिमला जिले में पांच किलोमीटर की गहराई पर केंद्रित था. उन्होंने कहा कि भूकंप से जानमाल के नुकसान की कोई खबर नहीं है.

    बता दें कि इन दिनों हिमाचल प्रदेश में भूकंप आने के मामले बढ़ गए हैं. बीते 27 जुलाई को भी हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश के अलर्ट के बीच भूकंप के झटके लगे थे. चंबा में सुबह छह बजे के करीब धरती डोली थी. हालांकि, सुखद बात यह है कि भूकंप से किसी भी तरह के जानमाल का नुकसान नहीं हुआ था. भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 2.6 मापी गई थी.

    जानमाल का नुकसान नहीं हुआ था
    तब हिमाचल प्रदेश के शिमला के मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, सुबह 5 बजकर 54 मिनट पर भूकंप आया था. इस दौरान कहीं से भी किसी भी तरह के नुकसान की खबर नहीं थी. भूकंप का केंद्र चंबा में जमीन से 10 किमी नीचे था. राहत की बात यह थी कि बिजली, पानी, जानमाल का नुकसान नहीं हुआ था.

    ये जोन चार और पांच में शामिल हैं
    इससे पहले, 15 जुलाई को हिमाचल के शिमला में भूंकप महसूस किया गया था. इसकी तीव्रता 3.6 रही थी. हालांकि, इस दौरान किसी भी तरह के जानमान का नुकसान नहीं हुआ था. भूकंप को लेकर हिमाचल का चंबा, मंडी और शिमला सबसे संवेदनशील माने जाते हैं. ये जोन चार और पांच में शामिल हैं.

    1975 में किन्नौर जिले में भी बड़ा भूकंप हुआ था
    वहीं, मई महीने में प्रदेश के चंबा जिले में गुरुवार को भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए थे. भूकंप के चलते लोग घरों से बाहर निकल आए थे. रिक्टर स्केल पर तीव्रता 3.2 रही. हालांकि भूकंप से किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं थी. चंबा जिले में हिमाचल में सबसे अधिक भूकंप आते हैं. कांग़ड़ा में 1905 में बड़ा भूकंप आया था. यहां दावा किया जाता है कि 20 हजार लोगों की जान गई थी. वहीं, 1975 में किन्नौर जिले में भी बड़ा भूकंप हुआ था.

    (इनपुट- भाषा)

    Tags: Earthquake, Himachal pradesh news, Shimla News

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर