‘मेड इन चाइना’ पर हिमाचल सरकार सख्त, सरकारी खरीद में चीन निर्मित उत्पादों पर लग सकती है रोक
Shimla News in Hindi

‘मेड इन चाइना’ पर हिमाचल सरकार सख्त, सरकारी खरीद में चीन निर्मित उत्पादों पर लग सकती है रोक
देशभर में चीनी सामान के बहिष्कार की मांग तेज हो चुकी है.

इससे पहले कृषिमंत्री मारंकडा ने अपने विभाग को चीन निर्मित कृषि उपकरण (Farming Machinery) और मशीनरी न खरीदने के आदेश दिए थे.

  • Share this:
शिमला. टिकटॉक (Tiktok) समेत 59 चीनी एप्प पर रोक के बाद अब चीनी उत्पादों पर प्रतिबंध लगाने के लिए सरकारें आगे बढ़ने लगी हैं. इसी कड़ी में हिमाचल सीएम जयराम ठाकुर (CM jairam Thakur) ने भी ऐलान कर दिया है कि चीन निर्मित उत्पादों की सरकारी खरीद (Purchase) पर भी विचार किया जाएगा. साथ ही देश भी चीनी उत्पाद को रोकने कद दिशा में आगे बढ़ रहा है. हिमाचल का भी उसमें पूरा सहयोग रहेगा.

क्या बोले सीएम
शिमला में मीडिया कर्मियों के साथ बात करते हुए सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि हम कोशिश करेंगे कि जितना जल्दी हो सके मार्केट में रोक लगाकर इन्हें कम करें. चीनी उत्पाद खरीद पर माहौल बनाने की भी जरूरत है. गौरतलब है कि कृषि मंत्री ने भी इससे पहले अपने विभाग में चीनी उपकरणों और मशीनरी की खरीद पर रोक लगाने के निर्देश दिए हैं. बहरहाल चीन के साथ उपजे तनाव के बीच अब भारत कुछ इस तरह से पलटवार कर रहा है.

चीन निर्मित कृषि उपकरण और मशीनरी न खरीदने के आदेश
इससे पहले कृषिमंत्री मारंकडा ने अपने विभाग को चीन निर्मित कृषि उपकरण (Farming Machinery) और मशीनरी न खरीदने के आदेश दिए थे. कृषि मंत्री की ओर से जारी आदेश के बाद अब कृषि विभाग में कोई भी मेड इन चाइना उपकरण या मशीनरी नहीं खरीदी जाएगी. कृषि विभाग उपकरणों और मशीनरी की खरीद पर किसानों को सब्सिडी भी देता है. ऐसे में नये फरमान के बाद अब केवल स्वदेशी या फिर चीन को छोड़कर किसी दूसरे देश में बने उपकरण भी खरीदे जा सकेंगे. कृषि मंत्री डॉ. रामलाल मारकंडा ने केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत किया था.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज