मलयालम फिल्म यूनिट के पास नहीं थी स्पीति में शूटिंग की परमिशन!

News18 Himachal Pradesh
Updated: August 21, 2019, 5:38 PM IST
मलयालम फिल्म यूनिट के पास नहीं थी स्पीति में शूटिंग की परमिशन!
मलयालम अभिनेत्री और हिमाचल के कृषि मंत्री राम लाल मार्कंडा.

अब कृषि मंत्री रामलाल मारकंडा ने कहा कि है कि शूटिंग के लिए फिल्म यूनिट की ओर से परमिशन नहीं ली गई थी.

  • Share this:
हिमाचल प्रदेश में 17 और 18 अगस्त को हुई भारी बारिश के बाद मलयालम फिल्म इंडस्ट्री की जानी मानी एक्ट्रेस मंजू वॉरियर्स और उनकी शूटिंग टीम लाहौल के स्पीति में फंस गई थी. अब उन्हें वहां से निकाल लिया गया था.

हिमाचल के कृषि मंत्री रामलाल मारकंडा भी स्पीति के काजा में फंस गए थे. उन्हें मंगलवार को सरकारी हेलिकॉप्टर से रेस्क्यू किया गया. अब कृषि मंत्री रामलाल मारकंडा ने कहा कि है कि शूटिंग के लिए फिल्म यूनिट की ओर से परमिशन नहीं ली गई थी. मार्कंड़ा ने बताया कि मलयालम फिल्म की शूटिंग करने के लिए आई टीम भी बुधवार को लौट गई है.



इतने लोग फंसे थे स्पीति में
Loading...

जनजातीय जिला लाहौल स्पीति में बेमौसमी बर्फबारी के कारण छतड़ू में 127 पर्यटकों सहित मलयालम फिल्म यूनिट तीन दिन से फंसी थी, जिन्हें रेस्क्यू कर लिया गया है. मलयालम अभिनेत्री मंजू वारियर सहित 30 क्रू-मेंबर्स को मिलाकर कुल 127 पर्यटकों को मनाली की ओर भेज दिया गया है. प्रशासन की ओर से दवाइयां और डॉक्टरों की टीम भी मौके पर भेजी गई थी. इससे पहले, फिल्म टीम ने रेस्क्यू टीम के साथ जाने से इंकार कर दिया था.

मॉनसून सीजन में 63 मौतें
सीएम जयराम ठाकुर ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि प्रदेश में अब तक बरसात के कारण 627 करोड़ का नुकसान हुआ है. 63 लोगों की जानें गई हैं. सबसे ज्यादा नुकसान 17 से 19 अगस्त के बीच हुआ है. प्रदेश में विभिन्न स्थानों पर फंसे 1600 लोगों को अब तक रेस्क्यू किया जा चुका है.

ये भी पढ़ें: स्पीति से फिल्म अभिनेत्री समेत 127 टूरिस्ट किए गए रेस्क्यू

ये भी पढ़ें: भारी बारिश के चलते फंसे मिनिस्टर, एयरलिफ्ट कर बचाया गया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 5:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...