Switzerland to Shimla: 18 देशों की पैदल यात्रा कर शिमला पहुंचे बेन बाबा, योग की जगा रहे अलख

33 वर्षीय बेन बाबा पेशे से वेब डिजाइनर रह चुके हैं. लेकिन अब स्विट्जरलैंड की लग्जरी जिंदगी छोड़कर अध्यात्म और योग में रम गए हैं.

33 वर्षीय बेन बाबा पेशे से वेब डिजाइनर रह चुके हैं. लेकिन अब स्विट्जरलैंड की लग्जरी जिंदगी छोड़कर अध्यात्म और योग में रम गए हैं.

Himachal Pradesh News: बेन ने बताया कि वह पैदल 18 देशों की यात्रा करने के बाद भारत पहुंचे. इस दौरान उन्होंने चीन समेत यूरोप के कई देशों की यात्राएं की हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 11:36 AM IST
  • Share this:
शिमला. लंबे-लंबे बाल, तन पर भगवा वस्त्र और कमर के साथ लटकी चटाई और लोटा. उम्र 33 साल. कुछ ऐसे ही दिखते हैं बेन बाबा. बेन बाबा स्विट्जरलैंड (Switzerland) से भारत पहुंचे हैं. हरिद्वार कुंभ में दो हफ्ते का रहने के बाद बेन बाबा अब शिमला (Shimla) पहुंचे हैं. भारतीय संस्कृति, सनातन धर्म और योग से प्रभावित बेन बाबा पांच साल में करीब 6500 किलोमीटर पैदल सफर कर हरिद्वार कुंभ स्नान करने के बाद शिमला पहुंचे हैं. 33 वर्षीय बेन बाबा पेशे से वेब डिजाइनर रह चुके हैं, लेकिन अब स्विट्जरलैंड की लग्जरी जिंदगी छोड़कर अध्यात्म और योग में रम गए हैं. हिमाचल के धर्मशाला के मैकलौडगंज में उन्होंने अपना स्थायी ठिकाना बनाया है.

Youtube Video


बेन बाबा का कहना है कि यूरोप में पैसा है, लग्जरी जिंदगी है, लेकिन खुशी नहीं है. खुशी तो योग और ध्यान से मिलती है. बेन फक्कड़ हैं. उनके पास न तो पैसा है और न ही ठौर ठिकाना. पैदल सफर में जहां थकान लगी, वहीं रात बिता लेते हैं. मंदिर, गुरुद्वारा, आश्रम और स्कूल में रात बिताते हैं. कई बार जंगल और फुटपाथ पर ही खुले आसमान के नीचे रात बिताते हैं. पैदल सफर में रास्ते में खाने के लिए, जिसने जो दिया उसे खाकर पेट भरते हैं. चौंकाने वाली बात है कि वह फर्राटेदार हिंदी भी बोलते हैं. कहते हैं किताब पढ़कर हिंदी सीखी है.

शिमला में माल रोड पर बेन बाबा.

18 देशों की यात्रा

बेन ने बताया कि वह पैदल 18 देशों की यात्रा करने के बाद भारत पहुंचे हैं. इस दौरान उन्होंने अर्मीनिया, चीन और यूरोप के कई देशों से यात्रा की. वह पासपोर्ट के जरिये इन देशों से भारत पहुंचे हैं. बेन ने बताया कि उनके पास कुछ नहीं है. वह योग और मेडिटेशन करते हैं. इससे मन को शांति मिलती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज