लाइव टीवी

शिमला में भूकंप के हल्के झटके, डेढ़ महीने में दूसरी बार हिली धरती
Shimla News in Hindi

News18 Himachal Pradesh
Updated: February 18, 2020, 5:05 PM IST
शिमला में भूकंप के हल्के झटके, डेढ़ महीने में दूसरी बार हिली धरती
शिमला में भूकंप के हल्के झटके.

Earthquake in Shimla: हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में साल 1905 में सदी का सबसे बड़ा भूकंप आया था. अनुमान है इस दौरान 20 हजार से ज्यादा लोगों की जान गई थी और और एक लाख से अधिक घर ढह गए.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के शिमला (Earthquake in Shimla) में मंगलवार को भूकंप (Eartheqauke) के हल्के झटके महसूस किए गए है. रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 2.9 मापी गई है. कम तीव्रता होने से अधिकांश लोगों को भूकंप का एहसास नहीं हुआ. किसी जानमाल के नुकसान की खबर कहीं से नहीं मिली है.

शिमला के मौसम विभाग केंद्र के अनुसार, मंगलवार दोपहर को 12 बजकर 48 मिनट पर भूकंप का झटका लगा है. भूकंप का केंद्र शिमला में जमीन से पांच किमी गहराई पर था.

डेढ़ माह में फिर भूकंप
डेढ़ माह के भीतर शिमला में दूसरी बार भूकंप आया है, इससे पहले विगत माह भी शिमला में भूकंप आया था. गत छह जनवरी को शिमला में 3.6 की तीव्रता के भूकंप के झटके लगे थे.



लगातार आ रहे भूकंप
इससे पहले तीन जनवरी को प्रदेश के जनजातीय जिला लाहोल स्पीति में लगातार भूकंप के झटके लगे थे. हिमाचल में चंबा और शिमला के अलावा मंडी जिला भूंकप के जोन-4 और 5 में आते हैं. यहां अक्सर झटके लगते रहते हैं.

कांगड़ा में 1905 में हुई थी भारी तबाही
हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में साल 1905 में सदी का सबसे बड़ा भूकंप आया था. अनुमान है इस दौरान 20 हजार से ज्यादा लोगों की जान गई थी और और एक लाख से अधिक घर ढह गए. तब से राज्य में तीन मैग्निच्यूड के 300 से अधिक भूकम्प दर्ज किए गए. वर्ष 1975 किन्नौर में आया भूकम्प प्रदेश के लिए एक और बढ़ा झटका था.

ये भी पढ़ें: हिमाचल में सस्ती होगी शराब, रात 2 बजे तक खुले रहेंगे बार और होटल

हिमाचल में पहला इंटेलिजेंस ट्रैफिक सिस्टम इंस्टॉल, 40 से ज्यादा स्पीड तो चालान

PHOTOS: दिल्ली के स्कूलों को टक्कर दे रहा हिमाचल का ये प्राइमरी स्कूल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 18, 2020, 5:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर