बंदरों के आतंक से परेशान शिमला, पार्षदों की मांग के बाद मंत्री ने मांगे सुझाव

शिमला शहर में बंदरों का आतंक.
शिमला शहर में बंदरों का आतंक.

Monkey in Shimla: नगर निगम के डिप्टी मेयर शैलेन्द्र चौहान का कहना है कि नगर निगम शिमला बन्दरों और कुत्तों के आतंक पर गम्भीर है और समस्या का हल निकालने के लिए शहरी विकास मंत्री ने बैठक बुलाई है उसके बाद ही अगली कार्रवाई की जाएगी.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला (Shimla) में बंदरों के आतंक लगातार बढ़ता जा रहा है. बंदरों के आतंक से जहां आम शहरवासी खौफ़ के साए में जी रहे हैं. वहीं नगर निगम शिमला के जनप्रतिनिधि भी इनके आतंक से परेशान हैं. बन्दरों के आतंक से शहर में लोगों को जान भी गवानी पड़ी है और एक महिला पीजीआई (PGi) में उपचाराधीन है. बन्दरों (Monkey) का आतंक इस कदर बढ़ रहा है कि पार्षद निगम की मासिक बैठक (Meetings) में सरकार और नगर निगम प्रशासन से समस्या का हल करने की मांग कर रहे हैं.

क्या बोली आरती चौहान
पार्षद राकेश चौहान और आरती चौहान का कहना है कि बंदरों और कुत्तों की समस्या पर नगर निजी गम्भीर नहीं दिखाई दे रहा है, जिसके चलते आये दिनों रिज, मॉल और आसपास के उपनगरों में इनका खौफ़ बढ़ता जा रहा है. इनके आतंक से लोग,महिलाएं और बच्चे और बुजुर्ग अकेले चलने से डरते हैं. उन्होंने कहा कि सरकार और एमसी कोई उचित कदम उठाकर इसकी समस्या का समाधान निकाले. उन्होंने कहा कि इस मामले को शहरी मंत्री के पास भी रखा गया है और जल्द ही इस विषय पर एक बैठक कर उचित निर्णय लेने का आश्वासन दिया है. उन्होंने कहा कि हाल ही में बन्दरों के काटने से एक महिला की मौत हुई है, जबकि एक महिला अस्पताल में अपना उपचार कर रही है, जो बहुत निंदनीय है.

मंत्री ने मांगे सुझाव
शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पार्षदों की इस समस्या को सुना और पार्षदों से समस्या से निजात दिलाने के लिए सुझाव मांगे. उन्होंने कहा कि वे इस मामले पर गम्भीर हैं, जिसके लिए एक कमेटी का गठन किया जाएगा, जिसमें पार्षद अपनी राय दे सकेंगे. उन्होंने कहा कि बन्दरों को मारने पर धार्मिक आस्था भी जुड़ी है, लेकिन इनकी समस्या बढ़ती जा रही है, जिसका हल निकालना जरुरी है. इस सम्बंध में 4 अक्टूबर के बाद बैठक बुलाई जाएगी जिसमें समस्या का समाधान ढूंढा जाएगा.



क्या बोले डिप्टी मेयर
नगर निगम के डिप्टी मेयर शैलेन्द्र चौहान का कहना है कि नगर निगम शिमला बन्दरों और कुत्तों के आतंक पर गम्भीर है और समस्या का हल निकालने के लिए शहरी विकास मंत्री ने बैठक बुलाई है उसके बाद ही अगली कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज