• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • Monsoon in Himachal: हिमाचल में 481 जानें और 1161 करोड़ रुपये लीलकर रुखसत हुआ मानसून

Monsoon in Himachal: हिमाचल में 481 जानें और 1161 करोड़ रुपये लीलकर रुखसत हुआ मानसून

हिमाचल प्रदेश में बारिश. शिमला में रिज मैदान का नजारा. (file photo)

हिमाचल प्रदेश में बारिश. शिमला में रिज मैदान का नजारा. (file photo)

Monsoon in Himachal: मानसून सीजन में कुल्लू जिले में 707 फीसदी बारिश दर्ज गई, जो सामान्य से 40 फीसदी अधिक है. मंडी में सामान्य से 11 फीसदी अधिक, शिमला में सामान्य से नौ फीसदी अधिक और बिलासपुर में सामान्य से एक फीसदी अधिक बारिश दर्ज हुई है.

  • Share this:

    शिमला. हिमाचल प्रदेश में मानसून की विदाई हो गई है. 3 माह 25 दिन तक मानसून सूबे में रहा. इस सीजन में मानसून ने समय से पहले 13 जून को सूबे में एंंट्री मारी थी और साथ ही 14 दिन देरी से विदा हुआ है. हालांकि मानसून सीजन में 100 फीसदी बारिश नहीं हुई है. हर साल राज्य में मानसून की विदाई की 25 सितम्बर के आसपास हो जाती थी, लेकिन इस बार देरी से मानसून विदा हुआ है. मौसम विज्ञान के शिमला केंद्र ने शुक्रवार को पूरे प्रदेश से मानसून की विदाई की आधिकारिक घोषणा की है. हिमाचल में इस सीजन में सामान्य से 10 फीसदी कम बारिश यानी 90 फीसदी बारिश हुई है.

    इस दौरान राज्य में 692 एमएम बारिश दर्ज की गई, जबकि सामान्य बारिश 763 एमएम रहती है. प्रदेश के चार जिलों कुल्लू, मंडी, शिमला और बिलासपुर में सामान्य से अधिक बरसात हुई. वहीं, आठ जिलों में मानसून सामान्य से कम बरसा है. जून में सामान्य से 16 फीसदी कम बारिश दर्ज हुई. हालांकि, बाद में जुलाई माह में मानसूनने रफ्तार पकड़ी और सामान्य से छह फीसदी अधिक बारिश रिकॉर्ड हुई. अगस्त माह में मानसून की बेरुखी देखने को मिली और सामान्य से 44 फीसदी कम पानी बरसा.

    कितने लोगों की जान गई और कितना हुआ नुकसान?

    उधर, सितम्बर माह में मानसून ने पानी की कमी पूरी कर दी और सामान्य से 34 फीसदी ज्यादा पानी बरसा. हैरानी की बात है कि 12 जुलाई को कांगड़ा के शाहपुर में एक दिन में 264 एमएम बारिश दर्ज की गई. राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक, मानसून सीजन में 1161 करोड़ रुपये की संपति को नुकसान पहुंचा है. वहीं, 481 लोगों की मौत हुई. इनमें सड़क हादसे भी शामिल हैं. 13 लोग लापता हैं.

    क्या रहा जिलों का हाल
    मानसून सीजन में कुल्लू जिले में 707 फीसदी बारिश दर्ज गई, जो सामान्य से 40 फीसदी अधिक है. मंडी में सामान्य से 11 फीसदी अधिक, शिमला में सामान्य से नौ फीसदी अधिक, बिलासपुर में सामान्य से एक फीसदी अधिक बारिश दर्ज हुई है. चंबा जिला में सामान्य से 44 फीसदी (588 मिमी) कम बारिश हुई. इसी तरह हमीरपुर में सामान्य से तीन फीसदी कम (993 एमएम), कांगड़ा में सामान्य से आठ फीसदी कम, किन्नौर में सामान्य से छह फीसदी कम, लाहौल-स्पीति में सामान्य से 69 फीसदी कम, सिरमौर में सामान्य से 14 फीसदी कम, सोलन में सामान्य से 11 फीसदी कम और ऊना में सामान्य से 14 फीसदी कम पानी बरसा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज