हिमाचल में 10 हजार पीटीए, पैरा और पैट शिक्षक हुए रेगुलर, लेकिन नहीं मिलेंगे वित्तीय लाभ
Shimla News in Hindi

हिमाचल में 10 हजार पीटीए, पैरा और पैट शिक्षक हुए रेगुलर, लेकिन नहीं मिलेंगे वित्तीय लाभ
हिमाचल में शिक्षकों को रेगुलर किया गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

मामला सुप्रीम कोर्ट में होने के कारण ये शिक्षक रेगुलर नहीं हो पा रहे थे. सुप्रीम कोर्ट से फैसले के बाद हिमाचल कैबिनेट ने रेगुलर करने का निर्णय लिया था, जो अब लागू हो गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 6, 2020, 7:56 AM IST
  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में आखिरकार 10 हजार से ज्यादा पीटीए (PTA), पैरा और पैट (PAT) शिक्षकों को आखिरकार नियमितिकरण का तोहफा मिल ही गया है. प्रदेश सरकार ने कैबिनेट (Cabinet) के फैसले के मुताबिक, रेगुलर (Regular) करने की अधिसूचना जारी कर दी है. हिमाचल में 6799 पीटीए, 3294 पैट और 97 पैरा शिक्षक हैं. हालांकि सरकार ने इन्हें पहले ही रेगुलर शिक्षकों (Regular Teacher) के बराबर पे स्केल दे रखा है.

मामला सुप्रीट कोर्ट में गया था
मामला सुप्रीम कोर्ट में होने के कारण ये शिक्षक रेगुलर नहीं हो पा रहे थे. सुप्रीम कोर्ट से फैसले के बाद हिमाचल कैबिनेट ने रेगुलर करने का निर्णय लिया था, जो अब लागू हो गया है. पैट शिक्षकों को मिल रहा ज्यादा वेतन कम नहीं होगा और इसे आगामी इंक्रीमेंट और डीए में एडजस्ट किया जाएगा. अनुबंध पर तैनात पीटीए और लेफ्ट आउट पीटीए भी रेगुलर हो जाएंगे.

बैक डेट से नहीं मिलेंगे लाभ
सरकार की तरफ से प्रारंभिक एवं उच्च शिक्षा निदेशकों को इस बाबत आदेश जारी किए हैं. हालांकि नियमित होने वाले शिक्षकों को बैक डेट से लाभ नहीं मिल पाएंगे. यह फैसला प्रदेश की खराब वित्तीय स्थिति को देखते हुए लिया गया है. क्योंकि, इससे सरकार को इन्हें एरियर देना पड़ता जिससे प्रदेश पर आर्थिक बोझ पड़ता. गौरतलब है कि हिमाचल में पीटीए, पैट और पैरा शिक्षकों को नियमित होने के लिए लंबा संघर्ष करना पड़ा है. सड़क से लेकर कोर्ट तक लड़ाई लड़नी पड़ी है. सुप्रीम कोर्ट तक यह मामला गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज