लाइव टीवी

लॉ यूनिवर्सिटी में 100 घंटे से प्रोटेस्ट: हॉस्टल छोड़ सामान के साथ धरने पर स्टूडेंट्स

Ranbir Singh | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 20, 2019, 5:35 PM IST
लॉ यूनिवर्सिटी में 100 घंटे से प्रोटेस्ट: हॉस्टल छोड़ सामान के साथ धरने पर स्टूडेंट्स
शिमला में लॉ यूनिवर्सिटी में धरने के दौरान स्टूडेंट्स.

Protest in Law University Shimla: यूनिवर्सिटी प्रशासन की ओर से 18 सितंबर को धरने-प्रदर्शन को देखते हुए यूनिवर्सिटी (University) को एक सप्ताह के लिए बंद करने का फरमान सुनाया गया है. फरमान के मुताबिक 25 सितंबर तक विवि बंद रहेगी.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला (Shimla) के घंडल में नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (National Law University Shimla) में हालात लगातार खराब होते जा रहे हैं. प्रशासन और छात्रो के बीच टकराव (Protest) बढ़ता जा रहा है. बुनियादी सुविधाओं की मांग को लेकर छात्रों का प्रदर्शन बीते 100 घंटों से जारी है. प्रशासन के आदेशों पर छात्रों ने हॉस्टल (Hostel) छोड़ दिए हैं. और यूनिवर्सिटी के प्रांगण में सामान लेकर धरने पर बैठ गए हैं. प्रशासन के खिलाफ लगातार नारेबाजी की जा रही है. इस यूनिवर्सिटी में कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक के छात्र पढ़ते हैं.

जानकारी के अनुसार, प्रशासन का फरमान है कि 25 सितंबर तक हॉस्टल बंद रहेंगे. ऐसे में छात्र 5 दिन भीतर घर जाकर कैसे वापस आ सकता है. जिसका घर दूर है और ठिकाना नहीं है तो वो छात्र कहां जाएगा.

वाइस चांसलर का बयान
वाइस चांसलर निष्ठा जसवाल का कहना है कि हड़ताल को खत्म करने के लिए फैसला लिया है. छात्र घर जाएंगे तो फ्रेश होकर आएंगे. दूसरी ओर छात्रों का आरोप है कि आंदोलन के खत्म करने के लिए कई तरह है हथकंडे अपनाए जा रहे हैं.यहां तक कि शौचालय तक में ताले लगाए जाते हैं.

शिमला लॉ यूनिवर्सिटी की वाइस चांसलर निष्ठा जसवाल.
शिमला लॉ यूनिवर्सिटी की वाइस चांसलर निष्ठा जसवाल.


छात्रों के आरोप
छात्रों का कहना है कि एक छात्र से सालाना ढाई लाख रुपये फीस के रूप में लिए जाते हैं और NRI कोटे के छात्र से सालाना 5 लाख रुपये लिए जाते हैं.इतनी भारी भरकम फीस भरने के बाद भी बुनियादी सुविधाएं भी नहीं मिल रही हैं. हॉस्टल के कमरे खस्ताहाल हैं. कई छात्र गंदे और बदबूदार कमरे में रहने को मजबूर हैं. साफ-सफाई की व्यवस्था ठीक नहीं. खाना खराब मिलता है. कई बार खाने में कीड़े मिलते हैं.गली-सड़ी और कीड़े वाली सब्जियां खिलाई जाती हैं.चंद्रशेखर हॉस्टल के बाहर खुले में गला-सड़ा खाना पड़ा होता है. साथ ही गंदे पानी की पाइप भी है, जिससे लगातार बदबू आती रहती है और कई कमरों में वेंटीलेशन की भी दिक्कत है. छात्र कई बार शिकायत करते हैं लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होती है. छात्रों ने पुराने वीडियो और फोटो भी दिखाए.
Loading...

छात्रों का प्रदर्शन बीते 100 घंटों से जारी है.
छात्रों का प्रदर्शन बीते 100 घंटों से जारी है.


18 सितंबर का आदेश
यूनिवर्सिटी प्रशासन की ओर से 18 सितंबर को धरने-प्रदर्शन को देखते हुए यूनिवर्सिटी को एक सप्ताह के लिए बंद करने का फरमान सुनाया गया है. फरमान के मुताबिक 25 सितंबर तक विवि बंद रहेगी. 20 सितंबर तक स्टूडेंट्स को हॉस्टल खालने करने को कहा गया है, ऐसा ना करने पर छात्रों को कार्रवाई करने की चेतावनी दी गई है.

ये भी पढ़ें: हिमाचल के मंडी में सड़क हादसा, 2 लोगों की मौत, दो घायल

HPCA में नए बॉस का चुनाव: BCCI ने पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर को दिया झटका

हिमाचल में मौसम: कई दिन बाद शिमला में बारिश, 7 जिलों को लेकर अलर्ट

अरुणाचल में 19 वर्षीय हिमाचली जवान लापता, परिजन मांग रहे सलामती की दुआ

हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र बोले-आपकी दुआओं-मां भीमाकाली की कृपा से स्वस्थ हूं

कृषि विभाग में उत्कृष्ट सेवाओं के लिए मशहूर मंडी के प्रकाश, जीते कई अवॉर्ड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 20, 2019, 5:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...