Home /News /himachal-pradesh /

Himachal Apple Season: सेब की पैकिंग के लिए 1 करोड़ कार्टन-ट्रे तैयार, लेबर के लिए पड़ोसी राज्यों से मांगी मदद

Himachal Apple Season: सेब की पैकिंग के लिए 1 करोड़ कार्टन-ट्रे तैयार, लेबर के लिए पड़ोसी राज्यों से मांगी मदद

हिमाचल में सेब सीजन शुरू होने वाला है.

हिमाचल में सेब सीजन शुरू होने वाला है.

सेब सीजन के दौरान लूटपाट की घटनाएं भी अक्सर होती हैं. आढ़तियों और बागवानों की सुरक्षा के लिए पुलिस को भी सतर्क रहने को कहा गया है. गौरतलब है कि हिमाचल की 4 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की सेब आर्थिकी है. ऐसे में कोरोना का संकट सेब उत्पादकों के लिए परेशानी भरा है.

अधिक पढ़ें ...
शिमला. कोरोनाकाल के बीच हिमाचली सेब (Apple) मंडियों में आने वाला है. लेबर की दिक्कतों के बीच सेब तुड़ान की तैयारियां हो रही हैं, लेकिन इस बार कोरोना का भी खतरा है, इसलिए सरकार ने शिमला (Shimla) जिला में 15 से 20 सेटेलाइट मंडियां स्थापित की हैं. दरअसल, यह मंडियां इसलिए स्थापित की गई हैं, ताकी सेब की नीलामी (Auction) के दौरान भीड़ न हो और कोरोना का खतरा कम हो. यह छोटी-छोटी मंडियां जिला प्रशासन की नजर में रहेंगी. बागवान अपना उत्पाद अपने घर के नजदीक ही बेच पाएगा.

लेबर के लिए पड़ोसी राज्यों से भी मांगी मदद
सेब की मार्केटिंग से लेकर तुड़ान और ढुलाई के लिए लेबर की ज्यादा जरूरत रहती है. इस बार नेपाल के साथ तनाव की स्थिति है, जिस वजह से ज्यादातर नेपाली मजदूर वापस नहीं लौटे हैं. हालांकि सरकार का दावा है कि प्रदेश में 60 से 70 प्रतिशत लेबर मौजूद है. पड़ोसी राज्यों से भी संवाद स्थापित किया गया है. साथ ही सभी जिलों के डीसी को भी आपस में समन्वय स्थापित करने के निर्देश दिए गए हैं, ताकि मजदूरों को सेब सीजन में दूसरे जिलों से शिमला, कुल्लू, मंडी और चंबा भेजा जा सके.

सीएम जयराम ठाकुर का केंद्र सरकार से आग्रह
इसके अलावा, सीएम जयराम ठाकुर ने केंद्र सरकार से भी आग्रह किया है कि वह नेपाल सरकार से बात करके मजदूरों को लाने की व्यवस्था करें. सरकार ने कृषि-बागवानी के कामों के लिए आने वाली लेबर को सीधे बागीचों में जाने के निर्देश दिए हैं. वो काम भी करेंगे और वहीं क्वारंटीन भी होंगे.
विभागों की बेबसाइट पर प्रदर्शित होंगे ट्रे और कार्टन के रेट
सेब की पेकिंग के लिए ट्रे और कार्टन सबसे जरूरी है. इस बार एचपीएमसी ने 27 कंपनियों को ट्रे और कार्टन बेचने के लिए एंपेनल किया है, जिनके रेट और जानकारी एचपीएमसी, हार्टीकल्चर डिपार्टमेंट और हॉर्टीकल्चर डवेलपमेंट बोर्ड कर बेबसाइट पर प्रदर्शित किए गए हैं.

क्या बोले अधिकारी
सचिव बागवानी अमिताथ अवस्थी ने बताया कि ट्रे और कार्टन बनाने वाली तमाम कंपनियों के साथ विभाग संपर्क में है. इस बार पिछले साल की तुलना में कम रेट पर ट्रे और कार्टन उपलब्ध होंगे. एक अब 1 करोड़ से ज्यादा बॉक्स-कार्टन तैयार हो चुके हैं.

पंजाब-हरियाणा में सीए स्टोर मालिकों से की बात
कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच अगर सेब की मार्केटिंग में दिक्कत आई तो सेब को सीए स्टोर और कोल्ड स्टोर में रखा जाएगा. हिमाचल सरकार ने पंजाब और हरियाणा में सरकारी और निजी सीए स्टोर संचालकों से भी बात की है। सचिव बागवानी अमिताभ अवस्थी ने कहा कि किसी की फसल को नुकसान पहुंचने नहीं दिया जाएगा.

पुलिस को भी सतर्क किया
सेब सीजन के दौरान लूटपाट की घटनाएं भी अक्सर होती हैं. आढ़तियों और बागवानों की सुरक्षा के लिए पुलिस को भी सतर्क रहने को कहा गया है. गौरतलब है कि हिमाचल की 4 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की सेब आर्थिकी है. ऐसे में कोरोना का संकट सेब उत्पादकों के लिए परेशानी भरा है.

Tags: Apple, Himachal Government, Himachal Model

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर