लाइव टीवी

स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर नगर निगम शिमला ने कसी कमर, लोगों को किया जा रहा जागरूक

Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 10, 2019, 7:34 PM IST
स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर नगर निगम शिमला ने कसी कमर, लोगों को किया जा रहा जागरूक
4 जनवरी से शुरू होने वाले स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए निगम प्रशासन ने की मिटिंग

केंद्र सरकार के स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर नगर निगम शिमला(shimal) ने कमर कस ली है. 4 जनवरी 2020 से होने वाले केंद्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण (Central Sanitation Survey) के लिए निगम वार्ड स्तर पर सफाई व्यस्था (Cleaning system) को दुरुस्त करेगा.

  • Share this:
शिमला. केंद्र सरकार के स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर नगर निगम शिमला(shimal) ने कमर कस ली है.  4 जनवरी 2020 से होने वाले केंद्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण (Central Sanitation Survey) के लिए निगम वार्ड स्तर पर सफाई व्यस्था (Cleaning system) को दुरुस्त करेगा. सर्वेक्षण में इस बार टॉप टेन शहरों में शामिल होने के लिए प्रशासन जी तोड़ मेहतन करने में जुट गया है, इसके लिए रोड मैप (Road map) तैयार कर लिया गया है. निगम प्रशासन ने सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए वार्ड स्तर पर पार्षदों को नोडल अधिकारी (nodal officer) नियुक्त किया है, जो वार्डों में नालों और शौचालयों से लेकर सफाई व्यस्था पर नजर रखेंगे.

4 जनवरी से शुरू होने वाले स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए चलेगा अभियान

मंगलवार को नगर निगम शिमला ने स्वच्छता सर्वेक्षण में अव्वल आने के लिए वाटर प्लस योजना (Water plus plan) को शुरू किया है. इस योजना के तहत स्वच्छता सर्वेक्षण में स्टार रेटिंग (star rating) के तहत मिलने वाले एक हजार अंक के लिए योग्य होगा. इस योजना के तहत शहर के घरों से निकलने वाले किचन वेस्ट और आउट लेट पानी को सीवरेज लाइन (Sewerage line) से जोड़ा जाएगा, जिसके बाद स्टार रेटिंग में मिलने वाले एक हजार अंक से निगम को अंक मिलेंगे.

आउटलेट और किचन वेस्ट वाटर को सीवरेज लाइन से जोड़ेगा नगर निगम

गौरतलब है कि शिमला शहर में हजारों मकान ऐसे हैं, जिनका किचन वेस्ट पानी और आउटलेट पानी खुले में ही बह रहा है. स्वच्छता सर्वेक्षण में अव्वल आने के लिए नगर निगम शिमला के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है. मेयर कुसुम सदरेट ने बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण में अव्वल आने के लिए निगम शहर में सगाई अभियान चला रहा है. वार्ड स्तर पर सफाई व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए वार्ड पार्षदों को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है, जो वार्डों में शौचालयों और नालों और नालियों कि सफाई पर नजर रखेंगे. इसके आलावा स्वच्छता सर्वेक्षण में अव्व्वल आने के लिए सोर्स सेग्रीगेशन के तहत गिला और सूखे कूड़े को अलग अलग लिया जा रहा है. शहर को डंपर फ्री करने के लिए निगम जल्द ही 28 डंपरो को हटाएगा.

वार्ड में सफाई व्यवस्था को दुरुस्त बनाये रखने के लिए पार्षद रखेंगे नजर
वार्ड में सफाई व्यवस्था को दुरुस्त बनाये रखने के लिए पार्षद रखेंगे नजर


गंदगी फैलाने वाले व्यक्ति के खिलाफ लगाया जाएगा जुर्मानामेयर कुसुम सदरेट ने बताया कि शहर को साफ रखने के लिए जो व्यक्ति गंदगी फैलाने वाले व्यक्ति कि फोटो और नाम निगम को बताएगा निगम उसे सम्मानित करेगा. साथ ही गंदगी फैलाने वाले व्यक्ति के खिलाफ जुर्माना और चालान काटा जाएगा.

यह भी पढ़ें- 10 दिन से लापता शुभम: पिता बोले-‘मेरे बेटे को वापस लाओ’, पुलिस ने दी पॉलीग्राफ टेस्ट की अर्जी

यह भी पढ़ें- हिमाचल विस का शीतकालीन सत्र: प्याज की माला पहनकर सदन में कांग्रेस का प्रदर्शन, फिर किया वॉकआउट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 7:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर